27.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

NEET UG Paper Leak News : अभिषेक को नीट-यूजी पास कराने के लिए पिता ने 30 लाख में किया था सौदा

कांके ब्लॉक (अरसंडे) निवासी अवधेश कुमार ने अपने बेटे अभिषेक को नीट-यूजी-2023 पास कराने के लिए 30 लाख रुपये में सौदा किया था. हालांकि, सफलता नहीं मिली थी. इसलिए 2023 में भुगतान के लिए किया गया समझौता नीट-यूजी-2024 में लागू रहा.

शकील अख्तर (रांची). कांके ब्लॉक (अरसंडे) निवासी अवधेश कुमार ने अपने बेटे अभिषेक को नीट-यूजी-2023 पास कराने के लिए 30 लाख रुपये में सौदा किया था. हालांकि, सफलता नहीं मिली थी. इसलिए 2023 में भुगतान के लिए किया गया समझौता नीट-यूजी-2024 में लागू रहा. हालांकि, पेपर लीक मामले में पिता-पुत्र दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है. नीट-यूजी-2024 पेपर लीक मामले की जांच में पता चला कि अवधेश कुमार मूल रूप से बिहार के भोजपुर जिला के विशुनपुर थाना क्षेत्र के मोआफ गांव के रहनेवाला है. फिलहाल, वह रांची जिले के कांके ब्लॉक के अरसंडे में रहता है. उसके बड़े बेटे अभिषेक ने इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करने के बाद कोटा से कोचिंग की. वह नीट-यूजी-2022 में शामिल हुआ था, लेकिन सफल नहीं हो पाया. इसके बाद उसके पिता ने सिकंदर यदवेंदु से बात की, जो नीट-यूजी परीक्षा पास कराने का काम करता था.

यदवेंदु के आश्वासन पर नीट-यूजी- 2023 में बैठा था अभिषेक

ठेकेदार और जमीन कारोबारी होने के नाते अवधेश कुमार 15-20 साल से यदवेंदु को जानता है. वह पहले यदवेंदु द्वारा ठेके पर लिया गया काम देखता था. यदवेंदु ने बताया था कि नीट-यूजी परीक्षा पास कराने के लिए 40 लाख रुपये देने पड़ते हैं, लेकिन पुराना संबंध होने की वजह से वह अभिषेक को 30 लाख रुपये में ही नीट-यूजी-2023 पास करा देगा. इस आश्वासन पर अवधेश कुमार ने यदवेंदु को स्टेट बैंक के अपने खाते से दो ब्लैंक चेक दिये थे. इसके बाद अभिषेक नीट-यूजी-2023 में शामिल हुआ. हालांकि, उसे दूसरी बार भी सफलता नहीं मिली. इसके बाद यदवेंदु ने 2023 में किये गये करार और रेट पर ही 2024 में नीट-यूजी पास कराने की बात कही. इसलिए 2024 में परीक्षा से पहले उसे दूसरा चेक नहीं दिया गया.

पांच मई को पटना में परीक्षा के बाद गिरफ्तार हो गये पिता-पुत्र

यदवेंदु से बात होने के बाद अवधेश कुमार अपने बेटे को लेकर कार से तीन मई को पटना पहुंचा. वहां पिता-पुत्र एक होटल में ठहरे. चार मई की रात को यदवेंदु अपनी कार से अभिषेक को ‘लर्न एंड प्ले स्कूल’ के ब्वॉयज हॉस्टल में ले गया. पांच मई की सुबह करीब 9:00 बजे ब्वॉयज हॉस्टल में नीट-यूजी-2024 का पेपर और उसका उत्तर उसे दिया गया. पांच मई को दोपहर 2:00 बजे से परीक्षा थी. अभिषेक का सेंटर केडी कॉन्वेंट स्कूल में था. वह परीक्षा में शामिल हुआ, लेकिन परीक्षा के बाद पुलिस ने उसे परीक्षा केंद्र पर ही रोक लिया था. उसके पिता को भी वहीं बुलाया गया. इसके बाद पुलिस दोनों को थाने ले गयी और गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ के दौरान अभिषेक ने यह स्वीकार किया कि ब्वॉयज होस्टल में उसे दिया गया प्रश्न पत्र और परीक्षा केंद्र पर मिला प्रश्न पत्र एक-दूसरे से मेल खाता था. वर्ष 2023 में आयोजित नीट परीक्षा के दौरान यदवेंदु के माध्यम से ही रांची का एक लड़का सफल हुआ था.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें