झारखंड विधानसभा का तीन दिवसीय विशेष सत्र समाप्त, तबरेज मामले पर खूब हुआ हंगामा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची : झारखंड विधानसभा की कार्यवाही बुधवार को राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान हंगामे के कारण स्थगित करनी पड़ी. कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी ने तबरेज अंसारी की हत्या के मामले में आरएसएस-भाजपा का हाथ होने का आरोप लगाया, जिसके बाद हंगामे के चलते कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी.

रांची विधानसभा में राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू के मंगलवार को दिये अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान चर्चा प्रारंभ होते ही कांग्रेस के इरफान अंसारी ने जून, 2018 में झारखंड में तबरेज अंसारी की भीड़ द्वारा की गयी हत्या में भाजपा और आरएसएस के लोगों का हाथ होने का आरोप लगाया.

झारखंड विधानसभा का तीन दिवसीय विशेष सत्र समाप्त, तबरेज मामले पर खूब हुआ हंगामा

इन आरोपों के तुरंत बाद भाजपा के सभी विधायकों ने इस बयान का कड़ा विरोध किया. इरफान अंसारी से बयान वापस लेने और माफी की मांग की. लेकिन, इरफान अंसारी अपने बयान पर अड़े रहे और विधानसभा अध्यक्ष रवींद्र नाथ महतो ने माफी मांगने की बात इरफान अंसारी के विवेक पर छोड़ दी.

इसके बाद पूर्व मंत्री सीपी सिंह के नेतृत्व में भाजपा के सभी विधायक अध्यक्ष के आसन के सामने आ गये और उन्होंने ‘इरफान अंसारी माफी मांगो’ के नारे लगाने शुरू कर दिये. सदन में हंगामे के चलते विधानसभा अध्यक्ष महतो ने कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित कर दी.

सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर भी हंगामा जारी रहा और इरफान अंसारी ने अपने बयान पर कायम रहने की बात कही, जिसके कारण भाजपा के विधायकों ने सदन में फिर हंगामा किया. इस बीच, विपक्ष को बोलने का मौका दिये बिना विधानसभा अध्यक्ष ने राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब देने के लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को अवसर दिया और उनके संक्षिप्त उत्तर के बाद हंगामे के बीच ही विधानसभा में धन्यवाद प्रस्ताव ध्वनिमत से पारित कर दिया गया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें