सीट बंटवारे को लेकर नहीं बन रही सहमति, पांच सीट पर झामुमो अड़ा, दिल्ली में बन सकती है बात !

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

रांची/नयी दिल्ली : झारखंड यूपीए की राजनीति दिल्ली शिफ्ट कर गयी है़ महागठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर अब तक सहमति नहीं बन पायी है़ झामुमो गठबंधन में पांच सीटों पर दावेदारी कर रहा है़ झामुमो चाईबासा सीट पर अड़ा है़ झामुमो का तर्क है कि कोल्हान में झामुमो की मजबूत स्थिति है़ इसके साथ ही गठबंधन में लेफ्ट को शामिल करने की झामुमो पैरवी कर रहा है़

इधर कांग्रेस ने झाविमो अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी को दिल्ली बुलाया है़ शनिवार को झामुमो नेता हेमंत सोरेन और झाविमो नेता बाबूलाल मरांडी की राहुल गांधी से मुलाकात हो सकती है़ झामुमो नेता हेमंत सोरेन गुरुवार से ही दिल्ली में जमे है़ं श्री सोरेन की कांग्रेस के नेताओं के साथ शुक्रवार को दो राउंड की बातचीत हुई़
कांग्रेस और झामुमो ने एक-एक सीट पर चर्चा की
पहले राउंड में सह-प्रभारी उमंग सिंघार के साथ श्री सोरेन बैठे़ इसके बाद कांग्रेस मुख्यालय में प्रभारी आरपीएन सिंह, सह-प्रभारी उमंग सिंघार, प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार और विधायक दल के नेता आलमगीर आलम के साथ बैठक हुई़ कांग्रेस और झामुमो नेताओं ने एक-एक सीट पर चर्चा की़ गठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर रास्ता निकालने का प्रयास किया गया़
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कांग्रेस कोल्हान में जमशेदपुर सीट देने पर लगभग सहमत है़ पर झामुमो की ओर से चाईबासा सीट पर भी दावेदारी की जा रही है़ हेमंत हजारीबाग सीट पर भी लेफ्ट को एडजस्ट करना चाहते है़ं, लेकिन कांग्रेस की ओर से असमर्थता जतायी गयी है़
उमंग ने बाबूलाल-प्रदीप से की बात
इधर कांग्रेस के सह-प्रभारी उमंग सिंघार ने झाविमो नेता बाबूलाल मरांडी और प्रदीप यादव से बातचीत की है़ सह-प्रभारी ने मरांडी से दिल्ली आने का आग्रह किया है़ सह-प्रभारी ने कहा कि दिल्ली में घटक दल बैठक कर सहमति बना ले़ं इसके बाद आधिकारिक घोषणा की जाये़ यूपीए के घटक दल इसके बाद साझा चुनावी मुहिम चलायेंगे़
प्रभारी के साथ बैठे अजय-अालमगीर
झामुमो नेता हेमंत सोरेन के साथ कांग्रेस नेताओं की बैठक हुई़ इसके बाद कांग्रेस के नेताओं ने आपस में बैठक की़ इसमें संभावित सीटों पर चर्चा हुई़ कांग्रेस के आला नेता प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार को चुनाव लड़ाने के पक्ष में है़ं दिल्ली के कांग्रेस नेताओं की दलील है कि सांगठनिक दृष्टिकोण से प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव लड़ना जरूरी है़
डी राजा से मिले हेमंत
झामुमो नेता हेमंत सोरेन भाकपा के वरिष्ठ नेता डी राजा से मुलाकात की. झामुमो चाहता है कि महागठबंधन में वामदलों को भी शामिल किया जाये. वामपंथी दलों ने हजारीबाग और धनबाद सीट पर मांग की है, लेकिन कांग्रेस पहले ही स्पष्ट कर चुकी है कि अब महागठबंधन में वामदलों को शामिल नहीं किया जा सकता है. ऐसे में हेमंत सोरेन की डी राजा से हुई मुलाकात को कांग्रेस पर दबाव बनाने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है.
वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार ने भाकपा को गठबंधन में शामिल करने के सवाल पर कहा कि वामपंथी दल अच्छे हैं, मेहनती हैं, जुझारू हैं, लेकिन अब महागठबंधन आकार ले चुका है और ऐसे में उन्हें शामिल करना मुश्किल है.
आज हेमंत-बाबूलाल कर सकते हैं राहुल से मुलाकात
दिल्ली में कांग्रेस नेताओं के साथ बैठे हेमंत, एक-एक सीट पर हुई बात
कांग्रेस ने बाबूलाल मरांडी को दिल्ली बुलाया
कौन सीट किसको जा सकती है
कांग्रेस : रांची, लोहरदगा, हजारीबाग, पलामू, धनबाद, चाईबासा, खूंटी
झामुमो : दुमका, राजमहल, जमशेदपुर, गिरिडीह
झाविमो : गोड्डा, कोडरमा
राजद : चतरा
झामुमो को चाहिए चाईबासा सीट भी, लेफ्ट की भी कर रहा है पैरवी
झाविमो को गोड्डा देने पर कांग्रेस सहमत
इधर यह भी सूचना है कि कांग्रेस गोड्डा सीट झाविमो को देने पर सहमत है़ शनिवार को फिर से बैठक होगी़ इसमें सहमति बनाने का प्रयास किया जायेगा़ मिली सूचना के अनुसार कांग्रेस की ओर से यूपीए में सात, चार, दो और एक के पुराने फॉर्मूले पर आगे बढ़ने की बात कही जा रही है़ प्रदेश के नेताओं की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात के बाद सीट बंटवारे की अाधिकारिक घोषणा कर दी जायेगी़
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें