1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. lohardaga
  5. lohardaga coronavirus news lohardaga is moving fast towards becoming a corona free district less than 40 active cases are left srn

कोरोना मुक्त जिला बनने की ओर तेजी से बढ़ रहा है लोहरदगा, 40 से भी कम बचे हैं एक्टिव केस

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
कोरोना मुक्त जिला बनने की ओर तेजी से बढ़ रहा है लोहरदगा
कोरोना मुक्त जिला बनने की ओर तेजी से बढ़ रहा है लोहरदगा
Symbol;ic Pic

लोहरदगा : लोहरदगा जिला को कोरोना मुक्त जिला बनाने की दिशा में लगातार प्रयास किया जा रहा है. लोहरदगा जिला में वर्तमान समय में कोरोना का संक्रमण तेजी से कम हो रहा है. अभी जिले में कुल एक्टिव केस 36 हैं. जिले में सरकारी आंकड़ों के अनुसार कोरोना से 86 लोगों की मौत हुई है. आम लोग पूरी सावधानी बरत रहे हैं.

टीकाकरण को लेकर भी लोगों मे जागरूकता आयी है. खास कर युवाओं मे ज्यादा उत्साह देखा जा रहा है. समाज के प्रबुद्ध वर्ग के लोगों ने भी लोगों को वैक्सीन लेने के लिए प्रेरित किया है. कोरोना से बचाव का एक मात्र उपाय है टीकाकरण और यही कारण है कि लोग टीकाकरण के लिए आगे आ रहे हैं. लेकिन ग्रामीण इलाकों मे लोगों मे अभी भी टीकाकरण को लेकर उत्साहित नहीं हैं.

डीसी दिलीप कुमार टोप्पो लगातार ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर ग्रामीणों को जागरूक करने का काम कर रहे हैं. पूरे जिले में कोविड ब्रेक अभियान चलाया जा रहा है. मास्क का उपयोग एवं सामाजिक दूरी का पालन किया जा रहा है. कोविड गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है. अब लोहरदगा में प्रत्येक सप्ताहांत (शुक्रवार, शनिवार एवं रविवार) को कोविड-19 टीकाकरण गहन अभियान चलाया जायेगा.

इस अभियान के क्रम में 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी योग्य लाभार्थियों को विशेष सप्ताहांत टीकाकरण किया जायेगा. लोहरदगा जिला को इस अभियान में सप्ताहांत के प्रत्येक दिन (शुक्रवार, शनिवार एवं रविवार) 7230 योग्य लाभार्थियों का टीकाकरण किये जाने का लक्ष्य प्राप्त है. इस अभियान का लक्ष्य समूह 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी योग्य व्यक्ति होंगे. डीसी दिलीप कुमार टोप्पो ने बताया कि लक्ष्य समूह 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के सभी योग्य लाभार्थियों को पूर्व चिह्नित करते हुए उनके नजदीकी कोविड-19 टीकाकरण केंद्र तक लाने के लिए व्यापक प्रयास किया जाये.

इस अभियान में टीकाकरण के क्रम में अधिक से अधिक लाभुकों का आधार तथा फेस आथेंटिफिकेशन के माध्यम से सत्यापन किया जाये. प्रत्येक प्रखंडवार व पंचायतवार टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित करें. योग्य लाभुकों को चिह्नित तथा मोबीलाइज करने के लिए स्वयं सहायता समूह के सदस्यों का सक्रिय सहयोग प्राप्त किया जाये. पूर्व के टीकाकरण अभियान के अनुभवों के आधार पर और बेहतर प्रदर्शन करने का प्रयास किया जाये.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें