1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. jamshedpur
  5. a patient from bengal caught in the grip of japanese fever treatment going on at tmh smj

Jharkhand news: जापानी बुखार की चपेट में आया बंगाल का एक मरीज, जमशेदपुर के TMH में चल रहा इलाज

जमशेदपुर में बंगाल के पुरुलिया से आये एक मरीज में जापानी बुखार की पुष्टि हुई है. इस मरीज का इलाज TMH में चल रहा है. जिला सर्विलेंस विभाग ने इसकी पुष्टि की है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: जमशेदपुर के TMH में जापानी बुखार से पीड़ित एक मरीज का चल रहा इलाज.
Jharkhand news: जमशेदपुर के TMH में जापानी बुखार से पीड़ित एक मरीज का चल रहा इलाज.
प्रभात खबर.

Jharkhand News: कोरोना वायरस संक्रमण के साथ अब पूर्वी सिंहभूम जिले में स्वाइन फ्लू और जापानी बुखार के मरीज भी मिल रहे हैं. शनिवार को जापानी बुखार के एक मरीज की पुष्टि हुई है. इस मरीज का इलाज टाटा मैन हॉस्पिटल (TMH) में चल रहा है. मरीज बंगाल के पुरुलिया का रहन वाला बताया गया है. TMH में इलाज कराने पहुंचे मरीज में जापानी बुखार के लक्षण मिलने पर जिला सर्विलेंस विभाग को इसकी जानकारी दी गयी. सर्विलेंस की टीम ने जांच का नमूना लेकर एमजीएम मेडिकल कॉलेज भेजा, जहां जापानी बुखार की पुष्टि हुई.

सतर्क रहने की जरूरत

जिला सर्विलेंस पदाधिकारी डाॅ साहिर पाल ने कहा कि हमलोगों को कोराना के साथ अन्य बीमारी को भी लेकर सतर्क रहने की जरूरत है. कोरोना के साथ इन बीमारियों के मरीजों की संख्या बढ़ती है, तो परेशानी हो सकती है. इसमें अधिकतर बीमारी का लक्षण एक जैसे होता है.

क्या है जापानी बुखार

जेपेनीज इंसेफेलाइटिस जिसे जापानी बुखार भी कहते हैं. यह एक वायरल संक्रमण है, जो मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी को अधिक प्रभावित करता है. इसमें मरीज को तेज बुखार आता है. साथ ही सर्दी, खांसी, सिर दर्द, बदन दर्द सहित अन्य किसी भी प्रकार की समस्या हो, तो डॉक्टर को तुरंत दिखायें. इस बुखार को ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक देखा जाता है. जापानी बुखार एक व्यक्ति से दूसरे में प्रसारित नहीं होता है.

2006 में जापानी बुखार का टीकाकरण अभियान शुरू

देश में इसका पहला मामला 1955 में आया था. वहीं, 2006 में इसका टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था. इससे बचने के लिए सबसे जरूरी है कि आप मच्छर के काटने से बचें. इसके लिए कीट निवारक क्रीम का उपयोग करें. वहीं, शरीर को पूरी तरह से ढकने की कोशिश करें.

पूर्वी सिंहभूम में कोरोना के 3768 एक्टिव केस

दूसरी ओर, कोरोना संक्रमण की रोकथाम के उद्देश्य से जिले में चलाये जा रहे अभियान के तहत शनिवार को पूर्वी सिंहभूम जिले में 9266 लोगों की कोरोना जांच हुई, जिसमें 276 लोग कोरोना संक्रमित मिले. वहीं, कोरोना संक्रमण से एक दिन में 4 लोगों की मौत भी हुई. वर्तमान में जिले में काेरोना एक्टिव केस की संख्या 3768 है.

Posted By: Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें