1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ias pooja singhal arrested for money laundering ed gets 5 day remand prt

IAS पूजा सिंघल गिरफ्तार: होटवार जेल में कटी Pooja Singhal की रात, केंद्र ने मांगी पूरी रिपोर्ट

इडी ने 12 दिन की रिमांड मांगी, पर कोर्ट ने पांच दिन की रिमांड दी. इसके बाद पूजा सिंघल को केंद्रीय कारा होटवार भेज दिया गया. इस बीच मनरेगा घोटाले में इडी की कार्रवाई के मद्देनजर केंद्र ने मामले में पूरी रिपोर्ट मांगी है. इडी ने कोलकाता में भी बिल्डर के ठिकानों पर छापा मारा है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
IAS पूजा सिंघल गिरफ्तार
IAS पूजा सिंघल गिरफ्तार
राज कौशिक

Jharkhand IAS पूजा सिंघल News: इडी ने आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल को मनी लाउंड्रिंग के आरोप में बुधवार की देर शाम में गिरफ्तार कर लिया. इडी द्वारा गिरफ्तार की जानेवाली वह झारखंड की पहली आइएएस अधिकारी हैं. गिरफ्तारी की वजह उनके द्वारा आइसीआइसीआइ के खाते में जमा नकद करीब एक करोड़ रुपये की राशि का हिसाब देने में असमर्थ होना है. गिरफ्तारी के बाद उन्हें इडी के विशेष जज पीके शर्मा के समक्ष पेश किया गया.

इडी ने 12 दिन की रिमांड मांगी, पर कोर्ट ने पांच दिन की रिमांड दी. इसके बाद पूजा सिंघल को केंद्रीय कारा होटवार भेज दिया गया. इस बीच मनरेगा घोटाले में इडी की कार्रवाई के मद्देनजर केंद्र ने मामले में पूरी रिपोर्ट मांगी है. सीए सुमन कुमार से पूछताछ के दौरान मिली सूचना पर इडी ने कोलकाता में भी बिल्डर के ठिकानों पर छापा मारा.

बैंक खातों की जांच में होता गया खुलासा

खूंटी में हुए मनरेगा घोटाले की जांच के दौरान इडी ने विभिन्न बैंकों से पूजा सिंघल के बैंक खातों और उसमें जमा राशि का ब्योरा मांगा था. बैंकों से मिली जानकारी के विश्लेषण के बाद इडी ने यह पाया कि उनके आइसीआइसीआइ बैंक के खाते में एक करोड़ रुपये नकद जमा हुए थे. इस जमा राशि में उन्होंने 80.48 लाख की लागत पर 13 बीमा पॉलिसी खरीदी थी.

इसके बाद सीए सुमन कुमार व उससे संबंधित खातों में पैसा ट्रांसफर किया. उन्होंने 26 मई 2015 को सुमन कुमार के खाते में 3.96 लाख रुपये ट्रांसफर किये. सुमन और उसके पिता की साझेदारीवाली कंपनी संतोष क्रशर मेटल के खाते में 6.39 लाख और राधेश्याम एक्सप्लोसिव प्राइवेट लिमिटेड के खाते में 6.22 लाख रुपये ट्रांसफर किये. इडी ने 10 मई को पूछताछ के दौरान उनसे उनके बैंक खातों में जमा नकद राशि से संबंधित सवाल पूछे थे.

साथ ही उनके खातों में नकद राशि जमा करनेवालों का ब्योरा मांगा था. 10 मई को पूजा सिंघल ने तत्काल इसका ब्योरा देने में असमर्थता जतायी थी. उन्हें इसी मुद्दे पर अपना पक्ष पेश करने के लिए 11 मई का समय दिया गया था. 11 मई को करीब 10.30 बजे वह इडी कार्यालय में हाजिर हुईं. उनसे लंबी पूछताछ की गयी. हालांकि वह बैंक खाते में जमा नकद राशि का ब्योरा देने में असमर्थ रहीं. फिर इडी ने उन्हें करीब 5.30 बजे उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

कब क्या हुआ : एक नजर में

2008-09 और 2009-10 में खूंटी में हुआ मनरेगा घोटाला

पूजा सिंघल 16 फरवरी 2009 से 19 जुलाई 2010 तक खूंटी में डीसी थीं

पूजा ने इंजीनियर को

मनरेगा के लिए 18.06

करोड़ अग्रिम दिये

बिना काम पैसों की निकासी के बाद 2011 में खूंटी और अड़की थाने में इंजीनियर राम विनोद सिन्हा और आरके जैन के खिलाफ प्राथमिकी

जुलाई 2011 में संबंधित मामला निगरानी में दर्ज किया गया

18.5.2012 को इडी ने मनरेगा घोटाले में प्राथमिकी दर्ज की

28.11.2018 को इंजीनियर ने मनरेगा में 20% कमीशन देने की बात स्वीकार की

छह मई 2022 को इडी ने पूजा सहित अन्य लोगों के ठिकानों पर छापा मारा

इसी मामले में सीए सुमन कुमार को सात मई को गिरफ्तार किया गया

आठ मई को अभिषेक झा से पूछताछ

10 मई को पूजा सिंघल से इडी ने पूछताछ की

11 मई को पूजा सिंघल को गिरफ्तार कर लिया गया

आइसीआइसीआइ बैंक में जमा एक करोड़ का हिसाब नहीं दे पायीं

खूंटी में मनरेगा घोटाले में इडी की कार्रवाई पर केंद्र ने रिपोर्ट मांगी

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें