24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

रामनवमी 2024: हजारीबाग के महुदी गांव में विवादित मार्ग से जुलूस निकालने का प्रयास, प्रशासन के साथ झड़प, चार गाड़ियां क्षतिग्रस्त

रामनवमी 2024: हजारीबाग जिले के बड़कागांव प्रखंड के महुदी गांव में विवादित मार्ग से जुलूस निकालने का प्रयास किया गया. इस दौरान रोके जाने पर प्रशासन के साथ उनकी झड़प हो गयी. इसमें चार गाड़ियां क्षतिग्रस्त हो गयी हैं.

बड़कागांव (हजारीबाग): झारखंड के हजारीबाग जिले के बड़कागांव प्रखंड के महुदी गांव में मंगलवार को रामनवमी का अष्टमी जुलूस विवादित मार्ग से निकालने का प्रयास किया गया. पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर जुलूस मार्ग में जाने से रोक दिया. इस पर जुलूस में शामिल लोग उग्र होकर हंगामा करने के बाद पत्थराव करने लगे. पत्थराव से एसडीपीओ, बीडीओ व सीओ समेत चार गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गयी. सीओ बालेश्वर राम के चालक विजय कुमार को चोट लगी है. वहां रखे पुआल में उग्र लोगों ने आग लगा दी. अग्निशामक वाहन ने आग पर काबू पा लिया. स्थिति को नियंत्रण करने के लिए पुलिस को हल्का बल का प्रयोग करना पड़ा. डीसी नैंसी सहाय, एसपी अरविंद कुमार सिंह भी घटना स्थल पहुंचे. स्थिति नियंत्रण में है.

वीडियो वायरल से बढ़ा विवाद
एसडीपीओ कुलदीप कुमार ने जुलूस निकाले जाने की पुष्टि नहीं की है. हालांकि सोशल मीडिया पर लोग झंडा लेकर महुदी मार्ग से गुजरते विवादित जुलूस मार्ग से वापस आने का वीडियो वायरल किया गया. वीडियो वायरल होने के बाद बड़कागांव प्रशासन हरकत में आ गया. महुदी गांव को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया. हजारीबाग एसडीओ शैलेश कुमार, बड़कागांव एसडीपीओ कुलदीप कुमार, अंचलाधिकारी बालेश्वर राम, प्रखंड विकास पदाधिकारी जितेंद्र कुमार मंडल, इंस्पेक्टर अनिल कुमार सिंह, थाना प्रभारी मुकेश कुमार सिंह सहित डीएसपी रैंक के कई पुलिस पदाधिकारी, प्रखंड के सभी आला अधिकारी, संबंधित कर्मचारी और बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गयी है.

ALSO READ: ड्रोन से रामनवमी जुलूस मार्ग का सर्वे, छतों से हटवा रहे कबाड़ के सामान

क्या कहते हैं एसडीपीओ
एसडीपीओ कुलदीपक कुमार ने दूरभाष पर बताया कि जुलूस नहीं निकला है. बल्कि पूजा करने के बहाने कुछ लोग विवादित मार्ग से गुजरने का प्रयास किया. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को हल्का बल का प्रयोग करना पड़ा. पत्थरबाजी हुई. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है. सुरक्षा की दृष्टिकोण से हर जगह पुलिस तैनात है. दोनों ओर से बैरिकेडिंग कर दी गयी.

क्या है मामला
वर्ष 1985 से बड़कागांव महुदी जुलूस मार्ग को जिला प्रशासन के आदेश के बाद बंद कर दिया गया है. सोनपुरा गांव में मेला लगता है. प्रशासन द्वारा महुदी विवादित मार्ग में बैरिकेडिंग कर दी जाती है.

ALSO READ: बड़कागांव में 1936 में शुरू हुई थी रामनवमी पर्व

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें