26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Lok Sabha Elections: झारखंड में 1500 लोगों ने किया वोट बहिष्कार, प्रशासन में मचा हड़कंप

Lok Sabha Elections: झारखंड में हजारीबाग लोकसभा क्षेत्र के 1500 मतदाताओं ने मतदान करने से इंकार कर दिया है. जिला व प्रखंड प्रशासन में हड़कंप मचा है. लोग जंगल में चले गए हैं.

Lok Sabha Elections: हजारीबाग लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाताओं ने वोट का बहिष्कार किया. समाचार लिखे जाने तक किसी भी व्यक्ति ने अब तक यहां मतदान नहीं किया है. 1500 लोगों के वोट नहीं देने की खबर मिलते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया है.

Lok Sabha Elections: हजारीबाग के कुसुंभा मतदान केंद्र पर नहीं पहुंचा कोई वोटर

हजारीबाग सदर विधानसभा के कुसुंभा गांव के लोगों ने मतदान का बहिष्कार किया है. बूथ नंबर 183 और 184 पर अभी तक एक भी मतदाता वोट करने नहीं पहुंचा. यहां के मतदाताओं का कहना है कि उनकी नाराजगी पर कोई ध्यान नहीं दे रहा. इसलिए वे वोट का बहिष्कार कर रहे हैं.

सैकड़ों वाहनों की वजह से बनी रहती है दुर्घटना की आशंका

ग्रामीणों ने कहा है कि हजारीबाग जिले के बड़कागांव से एनटीपीसी का जो कोयला आता है, वह कोयला हजारीबाग के कटकमदाग रेलवे साइडिंग में भेजा जाता है. सैकड़ों वाहन इस गांव से गुजरते हैं. इसकी वजह से हर दिन दुर्घटना की आशंका बनी रहती है. गांव के लोगों की मांग है कि कुसुंभा गांव के पास फ्लाईओवर का निर्माण किया जाए.

ग्रामीण बोले- 4 साल से फरियाद लगाकर थक गए, किसी ने नहीं सुना

ग्रामीणों ने कहा कि केंद्र सरकार के मंत्री और सांसद, राज्य सरकार के मंत्री, विधायक, जिला प्रशासन तक से लगातार 4 साल से फरियाद कर रहे हैं. अब तक उनकी मांगें नहीं मानी गईं. इसलिए आज गांव से कोई भी मतदाता मतदान करने के लिए केंद्र नहीं गया. बूथ नंबर 183, 184 उत्क्रमित मध्य विद्यालय कुसुंभा गांव में मतदान केंद्र बना है, जहां लगभग 1500 मतदाता हैं. इनमें से किसी ने वोट नहीं किया.

जिला प्रशासन और प्रखंड के पदाधिकारियों में मचा हड़कंप

जिला प्रशासन और प्रखंड के प्रशासन अधिकारियों में हड़कंप मच गया है. सभी अधिकारी गांव वालों को मनाने में लगे हैं, लेकिन ग्रामीण अपने घर से निकलने के लिए तैयार नहीं है. सुबह 10:30 बजे तक किसी ने वोट नहीं किया था.

अंडरपास की जगह ओवरब्रिज की मांग कर रहे ग्रामीण

ग्रामीण बता रहे हैं कि कुसुंभा से हजारीबाग-चतरा मार्ग पर आने-जाने के लिए ग्रामीणों को रेलवे क्रॉसिंग से आना-जाना पड़ता है. वर्तमान में क्रॉसिंग के पास अंडरपास पुल है. इससे ग्रामीण अपने गांव या शहर आते-जाते हैं. इसी रेलवे पटरी के बगल में 6 लाइन की पटरी और बिछने जा रही है. इसका काम चल रहा है. संबंधित विभाग अभी अंडरपास बनाने के लिए नीचे खुदाई कर रहा है. इसी जगह ग्रामीण अंडरपास की बजाय ओवरब्रिज की मांग कर रहे हैं.

ग्रामीण बोले- कोयले की वजह से बर्बाद हो गई हमारी खेती

ग्रामीणों ने कहा है कि 6 लाइन होने के कारण अंडरपास एक गुफा की तरह बन जाएगा, जो बाद में अपराध का अड्डा बन जायेगा. इससे भविष्य में ग्रामीणों को नुकसान होगा. कोयले की वजह से गांव की खेती बर्बाद हो गई है. यहां के लोग आजीविका के लिए खेती पर ही आश्रित थे, लेकिन खेती लगभग खत्म हो गई है. कोयले के डस्ट की वजह से ग्रामीणों का स्वास्थ्य प्रभावित हो रहा है.

वोट बहिष्कार करने वाले अधिकतर ग्रामीण गांव छोड़ जंगल में गए

सभी ग्रामीण अपना घर छोड़कर जंगल की ओर चले गए हैं. ग्रामीणों ने सामूहिक तौर पर मतदान का बहिष्कार किया है. लोगों ने एकमत बना लिया है कि आज कोई भी बूथ पर नहीं जाएगा.

इसे भी पढ़ें

Jharkhand Lok Sabha Election LIVE: कोडरमा, हजारीबाग, चतरा और गांडेय में वोटिंग जारी, मतदाताओं में उत्साह

गांडेय विधानसभा उपचुनाव : बूथ-बूथ घूमीं कल्पना सोरेन, चुनावी मुद्दों और जीत पर कही ये बात

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें