1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. those who brought more numbers remained seated those with less marks were appointed

अधिक नंबर लाने वाले बैठे रहे, कम अंक वाले हो गये नियुक्त!

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date

गुमला : गुमला सदर अस्पताल के टीबी विभाग में हुई नियुक्ति में गड़बड़झाला हुआ है. यहां कम अंक प्राप्त करने वाले उम्मीदवार की नियुक्ति हो गयी, जबकि अधिक नंबर वाले उम्मीदवार की नियुक्ति नहीं की गयी. परीक्षा लेने के छह साल बाद रिजल्ट जारी कर टीबी विभाग में नियुक्ति हुई है, परंतु इस नियुक्ति में विभाग का कारनामा सामने आया है. इस संबंध में उम्मीदवार कुंजलाल साहू ने सिविल सर्जन गुमला को आवेदन सौंपा है, जिसमें श्री साहू ने पूरे मामले की जांच कराने की मांग की है.

श्री साहू ने कहा है कि सदर अस्पताल गुमला द्वारा 2014 में नियुक्ति के लिए विज्ञापन निकाला गया था. इसके बाद 24 सितंबर 2014 को सीनियर ट्रीटमेंट सुपरवाइजर टीबी यूनिट के लिए आवेदन किया था. इस विभाग की परीक्षा निजी एजेंसी द्वारा ली गयी थी. परीक्षा में भाग लेने के बाद कुंजलाल ने 50.09 प्रतिशत अंक प्राप्त किया है. मेरिट लिस्ट में उसका क्रम संख्या 10 में है. परीक्षा के बाद कुंजलाल ने अनुभव प्रमाण-पत्र सहित अन्य प्रमाण-पत्र भी जमा कर जांच में भाग लिया.

छह साल बाद तीन जुलाई 2020 को इसका रिजल्ट जारी किया गया, लेकिन नियुक्ति के लिए जिन उम्मीदवारों की सूची जारी की गयी है, वह विरोधाभास है. कुंजलाल ने सीएस से इस मामले की निष्पक्ष जांच कर योग्य उम्मीदवार की नियुक्ति कराने की मांग की है. ज्ञात हो कि जिस उम्मीदवार को 50.09 प्रतिशत अंक आया है, उसकी नियुक्ति नहीं हुई है, जबकि जिस उम्मीदवार को 44 से 50.07 प्रतिशत तक अंक प्राप्त हुआ है, उसकी नियुक्ति के लिए सूची जारी कर दी गयी है.

एजेंसी ने मेरिट व सेलेक्शन लिस्ट भेजा हैसीएस कार्यालय गुमला के प्रधान लिपिक अशोक कुमार लाल ने कहा है कि एजेंसी द्वारा परीक्षा ली गयी है. एजेंसी द्वारा ही मेरिट व सेलेक्शन लिस्ट जारी किया गया है. मैंने डीसी व सीएस के निर्देश पर सिर्फ रोस्टर बैठाया है.

Post by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें