1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. jharkhand crime news physical handicap murdered by slitting his throat in sisai gumla was missing for two days dead body found in the field srn

गुमला के सिसई में दिव्यांग की गला रेत कर हत्या, दो दिन से था गायब, खेत में मिला शव

सिसई थाना के सियांग नदीटोली निवासी 55 वर्षीय जयराम उरांव की अज्ञात अपराधियों ने गला रेतकर हत्या कर दी. वह एक पैर से दिव्यांग था. मृतक सियांग गांव करमा बासी पर्व मनाने गया था. दो दिन से लापता था

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jharkhand Crime News : गुमला के सिसई में दिव्यांग की गला रेत कर हत्या
Jharkhand Crime News : गुमला के सिसई में दिव्यांग की गला रेत कर हत्या
फाइल फोटो

गुमला : सिसई थाना के सियांग नदीटोली निवासी 55 वर्षीय जयराम उरांव की अज्ञात अपराधियों ने गला रेतकर हत्या कर दी. वह एक पैर से दिव्यांग था. मृतक सियांग गांव करमा बासी पर्व मनाने गया था. दो दिन से लापता था. रविवार को सियांग गांव के खेत में जयराम का शव मिला. पुलिस ने शव बरामद कर पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया. परिवार के लोगों ने जमीन विवाद में जयराम की हत्या होने की आशंका व्यक्त की है. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है.

पूछताछ के लिए चार लोग हिरासत में

जयराम उरांव शुक्रवार को सियांग गांव करमा बासी पर्व मनाने गया था. जिसके बाद से वह गायब था. परिजन उसकी तलाश कर रहे थे. रविवार की सुबह ग्रामीणों ने खेत में शव को देखा. इसके बाद इसकी सूचना सिसई पुलिस को दी गयी. एसडीपीओ मनीषचंद्र लाल एवं थाना प्रभारी अभिनव कुमार घटना स्थल पहुंचे और शव को कब्जे में ले लिया. थानेदार अभिनव कुमार ने बताया कि 55 वर्षीय जयराम उरांव की गला रेत कर हत्या की गयी है. शव को देखने से लगता है कि दो से तीन दिन पूर्व ही इसकी हत्या की गयी है. अनुसंधान में मामला जमीन विवाद का लग रहा है. पुलिस सभी पहलुओं पर जांच कर रही है. संदेह के आधार पर चार लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.

मृतक एक पैर से दिव्यांग था

मृतक के भतीजा धर्मवीर उरांव ने सिसई थाना में अज्ञात लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी है. उन्होंने कहा कि शुक्रवार की सुबह 10 बजे मेरा चाचा जयराम उरांव सियांग बस्ती करमा बासी मनाने गया था. शाम तक घर नहीं लौटने पर हमलोग सियांग गांव खोजने के लिए गये. किंतु उसका कहीं पता नहीं चला. मेरा चाचा एक पैर से विकलांग था और उस गांव के कुछ लोगों से पुश्तैनी 22 एकड़ जमीन को लेकर वर्षों से विवाद था. अक्सर जान मारने की धमकी दी जाती थी. जयराम उरांव कभी कभार शराब का सेवन करता था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें