1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. due to being a bank in dumri block customers are facing problems there is a long queue everyday srn

डुमरी प्रखंड में एक बैंक होने के कारण ग्राहकों को हो रही परेशानी, हर रोज लगती है लंबी कतार

बैंक ऑफ इंडिया डुमरी शाखा परिसर में सोमवार को सैकड़ों खाताधारकों की भीड़ उमड़ी. जो बैंक के मुख्य द्वार से बाहर सड़क तक लंबी कतार लग गयी. जिसमें वृद्ध, वृद्धा, महिला पुरुष एवं 8-10 साल के छोटे-छोटे बच्चे बच्चियां मौजूद थे.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
डुमरी प्रखंड में एक बैंक होने के कारण ग्राहकों को हो रही परेशानी
डुमरी प्रखंड में एक बैंक होने के कारण ग्राहकों को हो रही परेशानी
प्रभात खबर.

गुमला : प्रखंड स्थित बैंक ऑफ इंडिया डुमरी शाखा परिसर में सोमवार को सैकड़ों खाताधारकों की भीड़ उमड़ी. जो बैंक के मुख्य द्वार से बाहर सड़क तक लंबी कतार लग गयी. जिसमें वृद्ध, वृद्धा, महिला पुरुष एवं 8-10 साल के छोटे-छोटे बच्चे बच्चियां मौजूद थे. मुख्य द्वार से सड़क किनारे तक लंबी कतार लगने से सड़क में छोटे बड़े वाहनों के आवागमन होने से दुर्घटना की आशंका बनी रहती है. कतार में लगे कुछ लोग पैसा निकासी करने, तो कुछ पासबुक लेने, तो कुछ केवाईसी फार्म जमा करने सुबह ही पहुंचे थे.

स्कूली छात्रा करीना कुमारी ने बताया कि मैं रजावल विद्यालय की छात्रा हूं. एक सप्ताह से केवाइसी फार्म जमा करने के लिए बैंक आ रही हूं. मगर यहां मेरे पहुंचने तक लंबी लाइन लगनी पड़ती है. करीना देवी ने बताया कि एक साल पासबुक लेने के लिए बैंक आ रही हूं. मगर बैंक परिसर में लंबी कतार के कारण पहुंच नहीं पाती हूं. रोज आने जाने व खाने में 100 रुपये का खर्च हो जाता है.

दिनभर रुक कर काम नहीं होने पर बैरंग लौटना पड़ता है. रामविलास ने बताया कि वह पैसा निकासी करने के आया है. एक तो लंबी कतार में कड़क धूप में खड़ा रहना पड़ता हैं. बैंक द्वार पहुंचते ही पता चलता है कि पैसा खत्म हो जाता है. या बैंक बंद होने का समय हो जाता है. जिस कारण सभी खाताधारी दिन भर शारीरिक व मानसिक रूप से परेशान रहते हैं.

इस संबंध में शाखा प्रबंधक अमृत कुजूर ने बताया कि मैं अभी नया आया हूं. अभी 6 सितंबर तक 106 पासबुक बांटा जा चुका है. अगले 3-4 महीने में बैंक के सभी खाताधारकों की भीड़ को कम करने के लिए युवा खाताधारियों को एटीएम कार्ड बनवाने, केवाइसी फार्म एक मुश्त जमा करने व रोजाना 50 पासबुक बांट कर भीड़ खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें