1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. coronavirus update news people of chhattisgarh entering gumla without coronavirus test there is no system of testing smj

Coronavirus Update News : बिना जांच के गुमला में प्रवेश कर रहे छत्तीसगढ़ के लोग, टेस्टिंग की नहीं है कोई व्यवस्था

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बढ़ रही कोरोना संक्रमितों की संख्या के बावजूद छत्तीसगढ़ से गुमला आनेवालों की नहीं हो रही जांच.
बढ़ रही कोरोना संक्रमितों की संख्या के बावजूद छत्तीसगढ़ से गुमला आनेवालों की नहीं हो रही जांच.
प्रभात खबर.

Coronavirus Update News, Jharkhand News (गुमला), रिपोर्ट- दुर्जय पासवान : कोरोना संक्रमण का कहर थमा नहीं है. कोरोना और तेजी से बढ़ रहा है. वहीं, गुमला जिले में लापरवाही बरती जा रही है. ना ही सोशल डिस्टैंसिंग का पालन हो रहा है और न ही लोग मास्क पहन रहे हैं. सैनिटाइजर का यूज करना तो लोग भूल ही गये हैं. अगर यही स्थिति रहा, तो गुमला की स्थिति भयावह हो सकती है.

बता दें कि गुमला से छत्तीसगढ़ राज्य सटा हुआ है. छत्तीसगढ़ और झारखंड के लिए 20 यात्री बसें हर दिन चलती है. इसके अलावा हर दिन सैंकड़ों छोटी गाड़ी चल रही है. ऑटो का भी परिचालन हो रहा है. सैंकड़ों मालवाहन वाहन भी छत्तीसगढ़ से गुमला के रास्ते होते हुए झारखंड में प्रवेश कर रही है. लेकिन, झारखंड के सीमावर्ती रायडीह प्रखंड के मांझाटोली में कोरोना जांच की कोई व्यवस्था नहीं है. न ही थर्मल गन से किसी की जांच हो रही है. बिना रोकटोक छत्तीसगढ़ राज्य के लोग गुमला में प्रवेश कर रहे हैं. अभी छत्तीसगढ़ राज्य में कोरोना संक्रमण की संख्या में इजाफा हुआ है. ऐसे में छत्तीसगढ़ राज्य से सटे गुमला के रायडीह प्रखंड में सतर्कता और जांच जरूरी है. लेकिन, गुमला प्रशासन द्वारा मांझाटोली में किसी प्रकार की जांच की व्यवस्था नहीं की गयी है. जिससे गुमला में कोरोना संक्रमण बढ़ने का डर बना हुआ है.

छत्तीसगढ़ और झारखंड के बीच हर दिन चलती है 20 बस

छत्तीसगढ़ और झारखंड में आने-जाने वाली बसों की संख्या 20 है. हर दिन 20 बस छत्तीसगढ़ से गुमला के रास्ते झारखंड में प्रवेश कर रही है. इसके बाद पुन: ये बसों झारखंड से छत्तीसगढ़ जा रही है. इनमें पोपुलस बस- एक, राजहंस बस- तीन, सिल्की बस- एक, महेंद्र बस- एक, कल्याणी बस- एक, जयबाला बस- 8, राधाकृष्ण बस- एक, शमीम बस- एक, छाबड़ा बस- एक, शिवभवानी बस- एक, मंत्री बस- एक, कश्यप बस- एक एवं अजय बस की संख्या एक है.

गुमला बस पड़ाव में भयावह स्थिति

गुमला के बस पड़ाव में भयावह स्थिति है. लोग बिना मास्क के घूम रहे हैं. बसों से उतरने और चढ़ने वाले लोगों के चेहरे में मास्क नहीं है. न ही बस में बैठने वाले यात्रियों को सैनिटाइज किया जा रहा है. बस मालिक अपने फायदे को देखते हुए जैसे-तैसे बसों का परिचालन करा रहे हैं. बसों में सैनिटाइजर की व्यवस्था नहीं है. न ही सोशल डिस्टैंसिंग का पालन हो रहा है. 50 सीट की बस में क्षमता के अधिक यात्री बैठाये जा रहे हैं. बस मालिक रमेश कुमार चीनी ने कहा कि बसों में बैठने वाले यात्रियों को मास्क पहनना चाहिए. सैनिटाइजर का उपयोग किया जायेगा.

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए बरतें सावधानी : विधायक

गुमला विधायक भूषण तिर्की ने कहा कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को रोकने के लिए जरूरी है. हम सभी सावधानी बरते. मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग जरूर करें. बेवजह घर से न निकले. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ से गुमला में प्रवेश करने वाले लोगों की जांच की व्यवस्था प्रशासन मांझाटोली अंतरराज्यीय चेकपोस्ट के समीप करे, ताकि गुमला को कोरोना से बचाया जा सके. उन्होंने अधिक से अधिक लोगों को कोरोना जांच कराने और कोरोना का टीका लेने की अपील की है.

21 मार्च से 31 मार्च, 2021 तक तेजी से बढ़े कोरोना संक्रमितों की संख्या

तारीख : संक्रमितों की संख्या
21 मार्च : 15
22 मार्च : 20
23 मार्च : 26
24 मार्च : 33
25 मार्च : 38
26 मार्च : 44
28 मार्च : 47
31 मार्च : 53

गुमला : कोरोना अपडेट

अबतक कोरोना पॉजिटिव संक्रमित : 2445
अबतक ठीक हुए संक्रमितों की संख्या : 2384
वर्तमान में पॉजिटिव संक्रमितों की संख्या : 53
कोरोना से मृत संक्रमितों की संख्या : 08

गुमला में 2.60 लाख लोगों का होगा टीकाकरण

गुमला जिले के 45 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के सभी लाभार्थियों के टीकाकरण के लिए 4 से 14 अप्रैल, 2021 तक चलाये जाने वाले विशेष कोविड-19 टीकाकरण अभियान को सफल बनाने के लिए जिला स्तरीय कार्यबल की बैठक ITDA भवन में हुई. इसकी अध्यक्षता डीसी शिशिर कुमार सिन्हा ने की. बैठक में सीएस डॉ विजया भेंगरा ने बताया कि 45 से 59 आयुवर्ग के 1.60 लाख तथा 60 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के एक लाख लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य है. वहीं, डीसी ने टीकाकरण अभियान में बेहतर प्रदर्शन करने को कहा.

डीसी श्री सिन्हा ने कहा कि किसी भी परिस्थिति में कोविड-19 के टीके का दुरूपयोग नहीं किये जाने पर विशेष जोर दिया. साथ ही जिन स्वास्थ्य कर्मियों ने अब तक कोविड-19 का प्रथम या दूसरे डोज नहीं लिया है. उन्हें चिह्नित करते हुए उनका टीकाकरण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया. टीकाकरण केंद्रों में लाभार्थियों के लिए पेयजल, बैठने के लिए बेंच, मास्क एवं सैनिटाइजर की व्यवस्था करने, गांवों के सभी टीकाकरण केंद्रों में निर्धारित समय पर टीकाकरण सत्र की शुरूआत करने, ऑबजर्वेशन कक्ष, प्रतीक्षालय तथा टीकाकरण कक्ष को व्यवस्थित करने, टीकाकरण के दौरान केंद्रों में भीड़ नियंत्रण करने, लाभार्थियों एवं वहां मौजूद कर्मियों से कोविड समुचित व्यवहार का पालन करने, लाभार्थियों के लिए बैठने की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने, एंबुलेंस की सुविधा बहाल करने तथा टीका लगाने वाले व्यक्ति द्वारा एक बार में केवल एक ही वायल को खोलने का निर्देश दिया.

बैठक में AC सुधीर कुमार गुप्ता, DSWO सीता पुष्पा, यक्ष्मा पदाधिकारी डॉ राजेश कुमार टोप्पो, DPRO देवेंद्रनाथ भादुड़ी, WHO के डॉ मृत्युंजय, DPM रेशमा खाखा, DPM मनीषा सांचा, CSC मैनेजर अभिषेक कुमार रॉय एवं रंजन नंदा सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें