1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla
  5. about 200 unemployed people of gumla selected for cm employment generation scheme smj

CM रोजगार सृजन योजना के लिए गुमला के करीब 200 बेरोजगार हुए चयनित, कल्याण विभाग देगा लोन

गुमला के करीब 200 बेरोजगार युवाओं को सीएम रोजगार सृजन योजना का लाभ मिलेगा. इसके लिए कल्याण विभाग की ओर से लोन उपलब्ध कराया जायेगा, ताकि ये युवा स्वरोजगार कर स्वावलंबी बन सके.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: गुमला के करीब 200 बेराेजगारों का सीएम रोजगार सृजन योजना के लिए हुआ चयन.
Jharkhand news: गुमला के करीब 200 बेराेजगारों का सीएम रोजगार सृजन योजना के लिए हुआ चयन.
सोशल मीडिया.

Jharkhand news: बेरोजगारों को रोजगार से जोड़ कर उसे स्वावलंबी बनाने के लिए झारखंड सरकार ने मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना शुरू की है. इस योजना के तहत गुमला जिला के 198 बेरोजगारों का चयन किया गया है. इन बेरोजगारों को खुद का रोजगार करने के लिए कल्याण विभाग, गुमला के माध्यम से लोन दिया जायेगा. जिससे ये लोग रोजगार कर अपनी अलग पहचान बना सकेंगे.

जिला कल्याण पदाधिकारी अजय जेराल्ड बाड़ा ने बताया कि मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत गुमला जिला के 131 बेरोजगारों को खुद का रोजगार देने के लिए पैसा देने का लक्ष्य तय किया गया था. लेकिन, गुमला जिले में सैंकड़ों आवेदन आये. जिसमें 198 युवकों का चयन किया गया है. इन 198 युवकों को तीन करोड़ 66 लाख 96 हजार 901 रुपये दिये जायेंगे, ताकि वे लोग अलग-अलग व्यवसाय कर स्वावलंबी हो सके.

श्री बाड़ा ने बताया कि सरकार को तीन करोड़ 66 लाख 96 हजार 901 रुपये का प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है. जैसे ही सरकार द्वारा गुमला कल्याण विभाग को पैसा उपलब्ध कराया जायेगा. सभी 198 चयनित लाभुकों के बीच पैसा का वितरण कर उन्हें रोजगार से जोड़ा जायेगा.

50 हजार तक का लोन बिना गारंटर के दिया जाता

जिला कल्याण पदाधिकारी ने बताया कि 18 वर्ष से 45 वर्ष तक के युवक-युवतियों को सीएम रोजगार सृजन योजना का लाभ समेकित जनजाति विकास अभिकरण के माध्यम से दिया जाता है. इसमें 50 हजार रुपये तक का लोन लेनेवाले लोगों को किसी प्रकार के गारंटर की जरूरत नहीं पड़ती है. जबकि 50 हजार रुपये से ऊपर तक का लोन के लिए गारंटर की जरूरत है. इसमें इनकम टैक्स रिटर्न करने वाले भी गारंटर बन सकते हैं. उन्होंने बताया कि एसटी व एससी को 50 हजार रुपये से लेकर 25 लाख रुपये तक का लोन देने का प्रावधान है. जबकि ओबीसी व अन्य जाति के लोगों को 50 हजार रुपये से लेकर 15 लाख रुपये तक का लोन दिया जाता है.

मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना की स्थिति

कोटि : लाभुक संख्या : राशि
अनुसूचित जनजाति : 102 : 1,95,02,245
अनुसूचित जाति : 05 : 6,60,000
पिछड़ी जाति : 52 : 1,38,54,656
अल्पसंख्यक : 37 : 26,10,000
दिव्यांग : 02 : 70,000
कुल : 19,83,66,96,901

18 हॉस्टल की मरम्मत व नये भवन बनाने की योजना

इधर, कल्याण विभाग ने गुमला जिले के 19 हॉस्टल की मरम्मत व नया भवन बनाने का प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजा है, ताकि वर्ष 2022 में इन भवनों पर काम शुरू किया जा सके. इसमें अनुसूचित जनजाति आवासीय बालिका उवि चापाटोली बिशुनपुर का मरम्मत, उरांव छात्रावास दुंदुरिया गुमला में शौचालय निर्माण व वायरिंग का काम, अनुसूचित जनजाति बालक छात्रावास केओ कॉलेज गुमला की मरम्मत, अजजा बालक छात्रावास रायडीह की मरम्मत, अजजा बालक छात्रावास पालकोट की मरम्मत, अजजा बालक उवि कंदापाट डुमरी की मरम्मत, आवासीय स्कूल जोभीपाट बिशुनपुर में 100 बेड का छात्रावास, हाई स्कूल जोभीपाट बिशुनपुर के छात्रावास की मरम्मत, जोभीपाट स्कूल का चाहरदीवारी, आवासीय स्कूल नवाडीहा घाघरा के चार रूम, आवासीय स्कूल जोभीपाट बिशुनपुर के चार रूम का एसीआर, आवासीय स्कूल सखुवापानी बिशुनपुर के स्टोर रूम की मरम्मत, सखुवापानी छात्रावास की मरम्मत, आवासीय स्कूल नवडीहा घाघरा के छात्रावास की मरम्मत, आवासीय स्कूल चौरापाट बिशुनपुर में चार रूम का एसीआर, तुसगांव स्कूल में चार रूम का एसीआर, डोकापाट स्कूल चैनपुर में चार रूम का एसीआर काम होगा.

रिपोर्ट : जगरनाथ, गुमला.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें