1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dumka
  5. dr lois marandi of bjp files nomination for dumka by election 2020 will fight against basant soren the younger brother of jharkhand cm hemant soren know all latest updates mtj

डॉ लुईस मरांडी ने दुमका उपचुनाव के लिए नामांकन किया, हेमंत के भाई बसंत सोरेन से होगा मुकाबला

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Dumka Bermo By Election 2020: डॉ लुईस मरांडी ने दुमका उपचुनाव के लिए नामांकन किया, हेमंत के भाई बसंत सोरेन से होगा मुकाबला.
Dumka Bermo By Election 2020: डॉ लुईस मरांडी ने दुमका उपचुनाव के लिए नामांकन किया, हेमंत के भाई बसंत सोरेन से होगा मुकाबला.
Prabhat Khabar

Dumka Bermo By Election 2020 दुमका : झारखंड की पूर्व मंत्री डॉ लुईस मरांडी ने दुमका उपचुनाव के लिए अपना नामांकन मंगलवार (13 अक्टूबर, 2020) को दाखिल कर दिया. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार के रूप में उन्होंने अपना पर्चा दाखिल किया. उन्होंने निर्वाची पदाधिकारी महेश्वर महतो को अपना नामांकन पत्र सौंपा. डॉ मरांडी को झारखंड की कई पार्टियों का समर्थन प्राप्त है.

वर्ष 2019 के झारखंड विधानसभा चुनाव में झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने उन्हें पराजित कर दिया था. अब उनका मुकाबला शिबू सोरेन के छोटे बेटे झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के भाई बसंत सोरेन से होगा. बसंत सोरेन ने सोमवार (12 अक्टूबर, 2020) को महागठबंधन (झामुमो-कांग्रेस-राजद) के नेताओं की मौजूदगी में नामांकन किया था.

इस अवसर पर सूबे के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दावा किया था कि दुमका और बेरमो दोनों विधानसभा के उपचुनाव में सत्तारूढ़ गठबंधन जीतेगा. विपक्ष को मुंह की खानी पड़ेगी. ज्ञात हो कि विधानसभा चुनाव में 54 साल की डॉ लुइस मरांडी को 42 साल के हेमंत सोरेन ने 13,188 मतों के अंतर से पराजित किया था.

हेमंत सोरेन को 48.86 फीसदी मत मिले थे, जबकि डॉ मरांडी को 40.91 फीसदी वोट. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के तीर-कमान छाप पर 81,007 वोट पड़े थे, जबकि 67,819 लोगों ने कमल निशान पर बटन दबाकर डॉ लुइस मरांडी के पक्ष में मतदान किया था. इस सीट से 13 उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे थे, जिनमें से 11 की जमानत जब्त हो गयी.

यहां 67 फीसदी से अधिक मतदान हुआ था. दुमका विधानसभा क्षेत्र में कुल 2,46,984 वोटर थे, जिनमें से 1,65,779 ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. सबसे ज्यादा वोट हेमंत सोरेन को मिले, जबकि सबसे कम आम आदमी पार्टी की मीरू हांसदा को. मीरू को मात्र 461 वोट मिले. लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा), बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और भारतीय कम्युिस्ट पार्टी (भाकपा) को 1000 वोट भी नहीं मिल पाये थे.

हेमंत सोरेन और डॉ लुईस मरांडी के अलावा झारखंड विकास मोर्चा की अंजुला मुर्मू और जनता दल यूनाइटेड (जदयू) के मार्शल ऋषिराज टुडू ही ऐसे उम्मीदवार रहे, जिन्हें उपरोक्त में से कोई नहीं (NOTA) से अधिक मत प्राप्त हुए. अंजुला मुर्मू को 3,135 वोट मिले, तो मार्शल को 2,357 वोट प्राप्त हुए. 2,264 लोगों ने दुमका विधानसभा सीट से चुनाव लड़ रहे सभी 13 उम्मीदवारों को नकार दिया था.

उल्लेखनीय है कि दुमका सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए 9 अक्टूबर से नामांकन की प्रक्रिया प्रारंभ हो चुकी है. नामांकन का काम 16 अक्टूबर तक चलेगा. इस सीट पर मुख्य विपक्षी भाजपा ने पूर्व मंत्री डॉ लुईस मरांडी को ही एक बार फिर अपना उम्मीदवार घोषित किया है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के इस्तीफे से रिक्त हुई इस विधानसभा सीट के लिए तीन नवंबर को बेरमो सीट के साथ उपचुनाव होने हैं. मतों की गिनती 10 नवंबर को बिहार विधानसभा चुनावों की मतगणना के साथ ही की जायेगी.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें