1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dumka
  5. devotees of shiva will not be able to put faith in dumka shravani mela will not be organized in basukinath smj

दुमका में शिवभक्त नहीं लगा पायेंगे आस्था की डूबकी, बासुकिनाथ में नहीं होगा श्रावणी मेला का आयोजन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बासुकिनाथ प्रशासनिक भवन में बैठक करते एसी, एसडीओ, बीडीओ, सीओ व अन्य.
बासुकिनाथ प्रशासनिक भवन में बैठक करते एसी, एसडीओ, बीडीओ, सीओ व अन्य.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (बासुकिनाथ, दुमका) : कोविड-19 के कारण इस साल भी विश्व प्रसिद्ध राजकीय श्रावणी मेला 2021 का आयोजन नहीं होगा. मंदिर प्रशासनिक सह संस्कार भवन सभागार में रविवार को अपर समाहर्ता राजेश कुमार राय व एसडीओ महेश्वर महतो ने पंडा धर्मरक्षिणी सभा के साथ बैठक कर अपेक्षात्मक सहयोग की अपील की.

उन्होंने कहा झारखंड का प्रसिद्ध राजकीय श्रावणी मेला इस बार भी कोरोना की वजह से स्थगित कर दिया गया है. राज्य सरकार ने निर्देश जारी किया है कि बासुकिनाथ मंदिर इस वर्ष भी सावन महीने के दौरान भक्तों के लिए नहीं खोला जायेगा. इस निर्देश के बाद बासुकिनाथ मंदिर में श्रद्धालु नहीं पहुंचे इसके लिए जिला प्रशासन सक्रिय हो गया है.

सुलभ जलार्पण की जगह, श्रद्धालुओं को रोकने की तैयारी

इससे पूर्व मंदिर में श्रद्धालुओं को सुलभ जलार्पण के लिए व्यापक तैयारी होती थी, लेकिन इस बार कोरोना काल में श्रद्धालुओं को भोलेनाथ की पूजा से मना करने के लिए प्रशासन द्वारा व्यापक तैयारी की जा रही है. मंदिर में बंद CCTV को तुरंत चालू कराने की बात कही. एसडीओ ने कहा कि मंदिर व शिवगंगा क्षेत्र के प्रत्येक प्वाइंट पर CCTV एक्टिव रहे इसके लिए संबंधित अधिकारी को आवश्यक निर्देश दिया गया है. सावन महीने में प्रकाश की समुचित व्यवस्था एवं पेयजल की व्यवस्था को लेकर संबंधित पदाधिकारी को निर्देश दिया गया.

पंडा धर्मरक्षिणी सभा के महामंत्री संजय झा ने बासुकिनाथ में गोशाला निर्माण का प्रस्ताव रखा, जिसे अपर समाहर्ता ने सीओ को जमीन उपलब्ध कराने सबंधित आवश्यक कारवाई किये जाने की बात कही. वहीं, सभा ने मंदिर पर निर्भर पंडा, पुरोहितों व छोटे छोटे दुकानदारों के लिए आर्थिक पैकेज देने की मांग की. अपर समाहर्ता ने सभा के सदस्यों को डीसी से इस संबंध में बातचीत करने का आश्वासन दिया.

शिवगंगा में लगेगा बैरियर, मंदिर द्वार तक नहीं पहुंच सकेंगे श्रद्धालु

कोरोना की तीसरी लहर को देखते हुए बाबा फौजदारीनाथ के पवित्र शिवगंगा में सावन के पवित्र महीना में शिवभक्त आस्था की डूबकी नहीं लगा पायेंगे. इसके लिए जिला प्रशासन ने शिवगंगा व मंदिर जाने वाले सभी रास्ते पर सुरक्षा बलों की प्रतिनियुक्ति के साथ साथ बांस का बैरियर लगायेंगे. एसडीओ महेश्वर महतो ने बताया कि सभी बैरियर पर दंडाधिकारी की भी प्रतिनियुक्ति रहेगी. शिवगंगा में सुरक्षा बलों का सख्त पहरा रहेगा. सभी बैरियर में स्थानीय पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की मांग की ताकि स्थानीय लोगों को आने जाने में कोई दिक्कत न हो. श्रद्धालु मंदिर गेट तक नहीं पहुंचे इसको लेकर नंदी चौक, दर्शनियाटीकर, क्यू कॉम्पलेक्स, नागनाथ चौक, पानी टंकी आदि स्थानों पर बांस का बैरियर लगाया जायेगा.

बैठक में मंदिर प्रभारी सह सीओ राजकुमार प्रसाद, बीडीओ फूलेश्वर मुर्मू, कार्यपालक पदाधिकारी गंगाराम ठाकुर, पुलिस निरीक्षक नवल किशोर सिंह, कृषि मंत्री के प्रतिनिधि कुंदन पत्रलेख, पंडा सभा के अध्यक्ष मनोज पंडा, उमेश पंडा, जितेंद्र झा, कुंदन झा, आनंदशंकर झा, दामोदर पंडा, कुंदन लाहा आदि मौजूद थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें