1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. closed dgms headquarters tata jamadoba hospital evacuated at midnight all positive kovid hospitalized

बंद हुआ डीजीएमएस मुख्यालय, आधी रात को खाली कराया गया टाटा जामाडोबा अस्पताल, सभी पॉजिटिव कोविड अस्पताल में भर्ती

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
आधी रात को खाली कराया गया टाटा जामाडोबा अस्पताल
आधी रात को खाली कराया गया टाटा जामाडोबा अस्पताल
Prabhat Khabar

धनबाद : डीजीएमएस के तीन अधिकारियों के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद खान सुरक्षा महानिदेशालय के मुख्यालय को तीन जुलाई तक बंद करा दिया गया है. दूसरी तरफ, जिला प्रशासन ने सोमवार आधी रात को टाटा जामाडोबा अस्पताल को खाली करा कर वहां भर्ती सभी कोरोना पॉजिटिव मरीजों को कोविड अस्पताल जगजीवन नगर शिफ्ट कराया. वहीं सोमवार को 15 नये पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद मंगलवार को जिला के कई स्थानों पर कर्फ्यू लगा दिया गया है.

सोमवार को कांटैक्ट ट्रेसिंग में डीजीएमएस के दो उप निदेशक सहित तीन कोविड पॉजिटिव मिले थे. सभी अधिकारी निरीक्षण के सिलसिले में पिछले दिनों टाटा जामाडोबा गये हुए थे. इसके बाद प्रशासन ने तीन जुलाई तक डीजीएमएस मुख्यालय बंद कराने को कहा. कार्यालय को सैनिटाइज भी कराया गया. उन तीनों अधिकारियों के संपर्क में आये डीजीएमएस के 29 और पदाधिकारियों का स्वाब जांच कराने को कहा गया है.

इन सबकी रिपोर्ट के बाद डीजीएमएस कार्यालय के बंद करने पर आगे का निर्णय लिया जायेगा. मंगलवार को अनुमंडलाधिकारी राज महेश्वरम, धनबाद सीओ प्रशांत लायक ने मां तारा अपार्टमेंट कार्मिक नगर तथा वहीं एक डीजीएमएस अधिकारी के बंगला को सील कर दिया. यहां पर कर्फ्यू लगा दिया गया है.

जामाडोबा अस्पताल के कोविड मरीज को वापस धनबाद लाया गया : सोमवार को कोविड अस्पताल (सेंट्रल हॉस्पिटल) से टाटा जामाडोबा अस्पताल शिफ्ट किये गये टाटा के सभी कोविड मरीजों को देर रात वापस जगजीवन स्थित कोविड अस्पताल में शिफ्ट किया गया. जिला प्रशासन ने पूरे टाटा अस्पताल को खाली कराया. साथ ही कोविड पॉजिटिव पाये गये सभी नये मरीजों को भी सरकारी कोविड अस्पताल में ही शिफ्ट किया गया. सूत्रों के अनुसार सोमवार को कोविड अस्पताल में भर्ती टाटा के 13 कर्मी व उनके परिजनों को सिविल सर्जन की अनुमति के बाद जामाडोबा अस्पताल शिफ्ट किया गया था.

जब यह जानकारी उपायुक्त अमित कुमार को मिली, तो उन्होंने सभी कोविड पॉजिटिव को वापस केंद्रीय अस्पताल जगजीवन नगर लाने का आदेश दिया. उपायुक्त ने कहा कि जिला में एक ही कोविड अस्पताल अधिसूचित है. किसी भी स्थिति में गैरकोविड अस्पताल में पॉजिटिव मरीज का उपचार नहीं हो सकता. इसके बाद एंबुलेंस भेज कर सभी मरीजों को वापस कोविड अस्पताल जगजीवन नगर बुलाया गया. सोमवार रात टाटा जामाडोबा में पॉजिटिव मिले नये मरीजों को भी केंद्रीय अस्पताल में भर्ती कराया गया.

1974 प्रवासी मिल चुके हैं : अबतक राज्य में मिले 2490 पॉजिटिव मामलों में 1974 प्रवासी हैं. यानी राज्य के अंदर ही रहने वाले 516 लोग ही अबतक पॉजिटिव मिले हैं. झारखंड में इस समय दो लाख 92 हजार 786 लोग होम कोरेंटिन में हैं, जबकि 32 हजार 757 लोग सरकार के बनाये कोरेंटिन में हैं. 5582 लोग ऐसे हैं, जो बाहर से आयें हैं स्वास्थ्य विभाग इनके लक्षणों पर नजर रख रही है.

रिकवरी रेट 75.66 प्रतिशत : झारखंड में मरीजों के स्वस्थ होने की दर 75.66 प्रतिशत हो गयी है, जबकि भारत में यह दर 59.07 प्रतिशत है. वहीं मरीजों का ग्रोथ रेट झारखंड में 1.78 प्रतिशत है, जबकि भारत में 3.68 प्रतिशत है. झारखंड में मरीजों के दोगुने होने की दर 39.33 दिन है. भारत में यह दर 19.19 दिन है. झारखंड में मृत्यु दर 0.60 प्रतिशत है. जबकि भारत में 2.98 प्रतिशत है.

post by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें