1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. bokaro
  5. jharkhand crime news with the promise of job the networking company in ranchi held the minor girls of bokaro hostage four arrested read how the girls were freed grj

Jharkhand Crime News : नौकरी का झांसा देकर रांची में नेटवर्किंग कंपनी ने बोकारो की नाबालिग लड़कियों को बनाया बंधक, चार गिरफ्तार, पढ़िए कैसे मुक्त हुईं लड़कियां

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand Crime News : समाजसेवियों की मदद से मुक्त होकर घर लौटीं लड़कियां
Jharkhand Crime News : समाजसेवियों की मदद से मुक्त होकर घर लौटीं लड़कियां
प्रभात खबर

Jharkhand Crime News, Bokaro News, ललपनिया न्यूज (नागेश्वर) : अल्ट्रा वर्ल्ड इंटरनेशनल प्राइवेट कंपनी में नेटवर्किंग कराने के नाम पर गोमिया प्रखंड की करीब बीस नाबालिग लड़कियों को रांची में बंधक बनाया गया था. इनमें गोमिया प्रखंड अंतर्गत जरकुंडा की दो, चिदरी की चार, कोनार डैम की एक, बलकमका की एक, तुलबुल की एक तथा चैनपुर की एक लड़की सहित अन्य क्षेत्र की लड़कियां शामिल थीं. इन्हें मुक्त करा लिया गया है. इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है.

रांची की नेटवर्किंग कंपनी में बंधक बनाये जाने की जानकारी जब होसिर के भाजपा नेता देवनारायण प्रजापति को मिली, तो गंभीरता दिखाते हुए इसकी सूचना रांची हिन्दू राष्ट्र सेना के प्रदेश अध्यक्ष संजय कुमार मिनोचा को दी. मिनोचा ने रांची के एसपी एवं सिटी डीएसपी के सहयोग से छापामारी कर विष्णुगढ़ थाना के अचलगामु निवासी अविनाश कुमार समेत तीन अन्य सहयोगियों को रांची से गिरफ्तार कर लिया गया और सभी नाबालिग लड़कियों को उसके चंगुल से मुक्त कराया गया. सभी लड़कियों को शुक्रवार को रांची से गोमिया होसिर रथटांड़ स्थित देवनारायण प्रजापति के आवास में लाया गया, जहां से उनके परिजनों को सौंप दिया गया. इस मामले पर नाबालिग लड़कियों के लिखित आवेदन पर पुंदाग ओपी में मामला दर्ज कराया गया है.

बंधक से मुक्त होकर रांची से गोमिया पहुंचीं नाबालिग लड़कियों ने बताया कि जनवरी में कोनार डैम निवासी काजल कुमारी एवं राधिका कुमारी ने रांची के की नेटवर्किंग कंपनी अल्ट्रा वर्ल्ड इंटरनेशनल प्राइवेट कंपनी में ऑनलाइन मार्केटिंग, कपड़ा पैकिंग एवं कम्प्यूटर सीखने की बात कह बुलाईं. जब वहां गईं, तो कंपनी का आईडी कार्ड बनाने व अन्य सुविधाओं के लिए लड़कियों से पांच- पांच हजार रुपये लिये गये. पैसे देने के बाद न कोई काम नहीं दिया और ना ही पैसे. जब इस संबंध में कंपनी के अविनाश और काजल तथा राधिका से वेतन की मांग की तो कहने लगे कि किस बात का पैसा मिलेगा और एक कमरे में बंद कर दिया. केवल दो टाइम खाना मिलता था, जो बाहर से आता था. परिवार के लोगों से बात भी नहीं करने दिया जाता था. किसी तरह गुरुवार को छत पर चढ़कर मामले की जानकारी घर वालों को दी. तब जाकर काफी प्रयास से पुलिस की मदद से उन्हें छुड़ाया गया.

भाजपा नेता देवनारायण प्रजापति ने कहा कि झारखंड में नौकरी लगाने के नाम पर गिरोह चलाया जा रहा है. इसके झांसे में आकर भोले-भाले लड़के व लड़कियां ठगी के शिकार हो रहे हैं. उन्होंने झारखंड सरकार से इस पर पहल करते हुए ऐसे जालसाज कंपनियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है. रांची से नाबालिग लड़कियों को लेकर आये हिन्दू राष्ट्र सेना के प्रदेश सचिव पंकज प्रजापति ने कहा रांची में इस तरह ठगी करने वाला गिरोह काफी सक्रिय है. इन्हें प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से प्रशासन का भी सहयोग मिल रहा है. उन्होंने कहा कि समय पर इन लड़कियों के बंधक बनाने की सूचना नहीं मिलती तो किसी तरह की अनहोनी से इनकार नहीं किया जा सकता था.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें