1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. bokaro
  5. bokaro steel plant achieved great success many records made in september of fy 2020 21

बोकारो स्टील प्लांट को मिली बड़ी कामयाबी, वित्त वर्ष 2020-21 के सितंबर माह में बनाए कई कीर्तिमान

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सेल बोकारो स्टील प्लांट ने कोविड -19 की चुनौतियों से उबरते हुए उत्पादन और परिचालन में समग्र रूप से बेहतरी लाकर शानदार वापसी की है.
सेल बोकारो स्टील प्लांट ने कोविड -19 की चुनौतियों से उबरते हुए उत्पादन और परिचालन में समग्र रूप से बेहतरी लाकर शानदार वापसी की है.
prabhat khabar

Bokaro news , business news बोकारो : सेल बोकारो स्टील प्लांट ने कोविड -19 की चुनौतियों से उबरते हुए उत्पादन और परिचालन में समग्र रूप से बेहतरी लाकर शानदार वापसी की है. इस्पात बाज़ार में समतल उत्पादों की मांग में तेज़ी को देखते हुए बोकारो स्टील प्लांट में चार ब्लास्ट फर्नेस के साथ उत्पादन पुन: शुरू कर दिया गया है. सितंबर माह में प्रायः सभी विभागों द्वारा दर्ज किये गये उत्पादन में पिछले साल इसी माह की तुलना में उत्साहवर्धक वृद्धि हुई है.

सितंबर 2019 की तुलना में सितंबर 2020 में ब्लास्ट फर्नेस से हॉट मेटल उत्पादन में 12 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी, स्टील मेल्टिंग शॉप में क्रूड स्टील उत्पादन में 7 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी, हॉट स्ट्रिप मिल से एचआर क्वाइल का लगभग 40 प्रतिशत ज्यादा उत्पादन एवं सेलेबल स्टील उत्पादन में 27 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी प्रमुख हैं. कार्यप्रणालियों व उत्पादों में उच्च गुणवत्ता के संकल्प के साथ टीम बीएसएल बेहतर उत्पादन लक्ष्य हासिल करने के लिए कटिबद्ध है.

ब्लास्ट फर्नेस से ग्रेनुलेटेड स्लैग का भी सर्वश्रेष्ठ मासिक उत्पादन

इसके अलावा ब्लास्ट फर्नेस संख्या एक से 4062 टन हॉट मेटल का सर्वाधिक दैनिक उत्पादन तथा सर्वश्रेष्ठ ब्लास्ट फर्नेस प्रोडक्टिविटी 1.93 टन प्रति घन मीटर प्रति दिन के कीर्तिमान भी सितंबर माह में बने. ब्लास्ट फर्नेस से ग्रेनुलेटेड स्लैग का भी सर्वश्रेष्ठ मासिक उत्पादन हुआ. उत्पादन में बेहतरी से साथ-साथ सितंबर में प्लांट ने ग्राहकों को लगभग 297000 टन उत्पाद डिस्पैच किया. इसमें 18000 टन से अधिक एक्सपोर्ट भी शामिल है.

सेल ने दूसरी तिमाही के विक्रय में 31% से अधिक की वृद्धि दर्ज की

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) के दौरान, वित्त वर्ष 2019-20 की दूसरी तिमाही के मुक़ाबले 31.3% की बेहतरीन वृद्दि दर्ज की है. कोविड-2019 के लॉक-डाउन के बाद, कंपनी ने बेहतरीन विक्रय दर्ज किया है, जिसकी शुरुआत जून, 2020 से से हो गई थी.

अर्द्धवार्षिक विक्रय कोविड से पहले के समय के स्तर पर लौटा

इसके साथ ही कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि के मुक़ाबले, वित्त वर्ष 2020-21 की पहली छमाही (अप्रैल - सितंबर, 2020) के दौरान विक्रय के स्तर को कोविड से पहले की स्थिति में वापस लाने में सफलता हासिल की. वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी तिमाही के दौरान, पिछले वर्ष की समान अवधि के मुक़ाबले विक्रेय इस्पात के उत्पादन में भी कंपनी ने 5.2% की वृद्धि दर्ज की है.

एकजुटता के साथ काम करने का नतीजा : सेल अध्यक्ष

कंपनी द्वारा मार्केटिंग के रणनीतिक प्रयासों और ग्राहक केन्द्रित पहलों के साथ पूरी कंपनी द्वारा एकजुटता के साथ काम करने का नतीजा है कि कंपनी के विक्रय और उत्पादन में बढ़ोत्तरी हुई है. सेल अध्यक्ष अनिल कुमार चौधरी ने कहा : कोविड-2019 के दौरान की चुनौतियों ने न केवल हमें मुश्किलों का सामना करने की हमारी इच्छाशक्ति को परखने का मौका दिया, बल्कि हमें और अधिक अच्छा उत्पादन करने का निश्चय भी दिया.

आर्थिक गतिविधियों में तेजी आने के चलते घरेलू स्टील की मांग

सेल अध्यक्ष श्री चौधरी ने कहा : हमारी केन्द्रित मार्केटिंग रणनीतियों ने हमें बाजार में मौजूद हर एक अवसर का लाभ उठाने में मदद की. इसके अलावा, सभी क्षेत्रों की आर्थिक गतिविधियों में तेजी आने के चलते घरेलू स्टील की मांग बढ़ रही है. यह खुशी की बात है कि कंपनी अपने उत्पादन के पिछले स्तर पर लौट आई है, और अब उत्पादन तथा बिक्री को और अधिक बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है.

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें