26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

लौहनगरी के हर गली-मुहल्लों में बिक रहा है सफेद मौत की पुड़िया

आदित्यपुर की मुस्लिम बस्ती के एक छोटी गली से निकल कर सफेद मौत की यह पुड़िया लौहनगरी के हर गली मुहल्लों तक पहुंच रही है. पुलिस के लाख सक्रिय होने के दावे के बाद भी यह कारोबार तस्कर तेजी से फैला रहे है.

Jamshedpur/Brown sugar business: आदित्यपुर की मुस्लिम बस्ती के एक छोटी गली से निकल कर सफेद मौत की यह पुड़िया (the death pot) लौहनगरी के हर गली मुहल्लों तक पहुंच रही है. पुलिस के लाख सक्रिय होने के दावे के बाद भी यह कारोबार तस्कर तेजी से फैला रहे है. ब्राउन शुगर का कारोबार बिना रोक टोक के धड़ल्ले से चल रहा है. शहर के लगभग हर इलाके में नशे की पुड़िया उपलब्ध है. कोई ऐसी जगह नहीं बची जहां इस धंधे से जुड़े लोग सक्रिय नहीं हैं. तस्कर हर क्षेत्र में कारोबार को बढ़ाने के लिए पैडलर को तैयार कर चुके है. जिन-जिन इलाकों में नशे की पुड़िया की बिक्री हो रही है. उस इलाके में चोरी,लूट और छिनतई की घटनाएं अधिक हो रही हैं और इन घटना में पकड़े जाने पुलिस के सामने यहीं बयां करते हैं कि नशे की लत है. इसकी पूर्ति के लिए चोरी- छिनतई करते हैं. धंधा करने वालों ने पैसों के बल पर पूरे शहर को अपने जहर के जाल के फंसा लिया है और धंधे से जुड़े लोग संगठित रूप से काम कर रहे हैं. ऐसे में तस्कर युवाओं को अपराध की ओर मोड़ रहे हैं और मौत के मुंह में धकेल रहे है.
Unemployed and Teenagers को करते है टारगेट :
ब्राउन शुगर ,चरश ,गांजा के तस्कर घूम घूम कर सबसे पहले युवाओं को तलासते है. तस्कर गिरोह के लोग कॉलेज और स्कूलों के पास चाय दुकान या गुटखा सिगरेट के दुकान के पास खड़े होते है. उस दौरान वे लोग रेगुलर आने वाले युवाओं को टारगेट करते है. उसके बाद उनसे सिगरेट जलाने या लाइटर के बहाने दोस्ती कर लेते है. ऐसे में उन लोगों का हर रोज का मिलना जुलना शुरू हो जाता है. उसके बाद तस्कर गिरोह के लोग युवाओं को ब्राउन शुगर का नशा करने का ऑफर देते है. इस तरह से तस्कर चार- पांच दिनों तक लगातार फ्री में ब्राउन शुगर का नशा कराते है. उसके बाद जब उसे लत लग जाती है तो ब्राउन शुगर देने से इंकार कर देते है. जब नये युवक को इसकी तलब बढ़ जाती है तो तस्कर उसे पैडलर के रूप में काम करने का ऑफर देते है. जिसमें पांच पुड़िया की बिक्री करने पर एक पुड़िया फ्री रहता है. ऐसे में नशे के लिए तड़प रहा युवक तस्कर का ऑफर स्वीकार कर लेते है और पैडलर का काम शुर कर देते है.
हर Padler को अचानक से मिलता है डिलेवरी का लोकेशन :
ब्राउन शुगर के तस्कर का हर क्षेत्र में कारोबार चलता है. तस्कर के पास ब्राउन शुगर के लिए फोन आने पर वह अपने पैडलर को अचानक से लोकेशन बताता है. हर क्षेत्र में कोई भी पैडलर को तस्कर भेज सकता है. ताकि उसका पहचान छुपा रहे. फोन आने पर पैडलर बिना पहचान बताये ही उसे डिलेवरी के लिए भेजता है. ऐसे में पैडलर ग्राहक के पास जाकर काफी देर तक उसकी गतिविधियों को देखता है. उसके बाद जब उसे लगता है कि वह सुरक्षित है तो पुड़िया की डिलेवरी ग्राहक को करता है. पकड़े जाने का थोड़ा भी शक होने पर पैडलर बिना डिलेवरी के ही वहां से निकल जाता है.
Womens को कर रहे शामिल :
ब्राउन शुगर के तस्कर अब कपल पैडलर तैयार कर है. युवक- युवती अब साथ में पुड़िया की सप्लाई कर रहे है. ऐसे में किसी को शक भी नहीं हो रहा है और तस्कर अपना काम आसानी से पूरा कर ले रहे है. तस्कर पैडलर लिए कॉलेज की युवतियों को शामिल कर रहे है. युवतियों में भी नशा का क्रेज काफी तेजी से बढ़ रहा है. इसलिए अब तस्कर और सरगना नशा करने वाली लड़कियों को खोज कर उसे पहले नशे की लत लगा रहे है. उसके बाद उन लड़कियों को पुड़िया के कारोबार में शामिल कर रहे है. स्कूटी और गाड़ी चलाने वाली लड़कियों को ही इस गिरोह में शामिल कर रहे है.
सरगना का कोड है टाइगर :
ब्राउन शुगर के तस्कर के सरगना से लेकर पैडलर काे अलग अलग कोड से पुकारा जाता है. ताकि आम लोगों से पहचान छुपी रहे. तस्कर के सरगना को टाइगर के नाम से पुकारा जाता है. वहीं अलग अलग क्षेत्र के पैडलर का अलग अलग कोड बना हुआ है. इसी प्रकार ब्राउन शुगर पुड़िया की संख्या के आधार पर कोड रखा गया है. अगर किसी इलाका में ज्यादा पुडिया की सप्लाई करना है तो उसका कोड अलग होता है. एक- दो पुड़िया के लिए अलग कोड का इस्तेमाल करते है.

इन क्षेत्र में सबसे ज्यादा पैडलर :
शहर के परसुडीह थाना क्षेत्र कीताडीह गाड़ीवान पट्टी इलाका, संजय नगर तालाब से सटा क्षेत्र, बर्मामाइंस के कैरेज कालोनी, चूना भठ्ठा बस्ती, भक्तिनगर, जुगसलाई में गौरीशंकर रोड, गरीब नवाज काॅलोनी और खरकई नदी तट से सटे बस्ती क्षेत्र, सीतारामडेरा के छायानगर, कल्याणनगर, चंडीनगर, भुइयांडीह लिट्टह चौक, भुइयांडीह बस स्टैंड के आस-पास का क्षेत्र, ग्वाला बस्ती रोड, मानगो और आजादनगर के क्षेत्र, सिदगोड़ा के कान्हू भठ्ठा और इसके आस-पास के क्षेत्र, डिमना लेक क्षेत्र, बिष्टुपुर का बाजार इलाका, सोनारी.

आदित्यपुर, आरआइटी व जुगसलाई में चल रहे नशीले पदार्थ के कारोबार पर रोक लगायें : जोनल आइजी

नशीला पदार्थ ब्राउन शुगर का कारोबार आदित्यपुर, आरआइटी और जुगसलाई क्षेत्र में जोरों पर चल रहा है. इन तीनों क्षेत्र से ही शहर व आसपास के क्षेत्रों में ब्राउन शुगर की तस्करी की जा रही है. जोनल आइजी अखिलेश झा शुक्रवार को तीनों थाना के थाना प्रभारी को फटकर लगाते हुए जल्द से जल्द नशीले पदार्थ के कारोबार पर रोक लगाने का निर्देश दिया. उन्होंने सरायकेला एसपी मनीष टोप्पो को अपराधियों का सूची तैयार कर उनकी गिरफ्तारी सुनिश्चित करने और सभी थाना प्रभारियों को क्षेत्र हो रहे अपराध पर रोक लगाने का आदेश दिया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें