1. home Hindi News
  2. state
  3. haryana
  4. congress leader dipedram singh hooda elected unopposed rajya sabha mp from haryana voting in rajasthan on march 26

दीपेद्रं सिह हुड्डा हरियाणा से निर्विरोध राज्यसभा सांसद चुने गए ,राजस्थान में 26 मार्च को होगा मतदान

By Mohan Singh
Updated Date
नामाकंन वापसी की  तारीख 18 मार्च रखी गयी थी
नामाकंन वापसी की तारीख 18 मार्च रखी गयी थी
Pic Source - ANI

हरियाणा : हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेद्रं सिंह हुड्डा के बेटे दीपेद्रं सिंह हुड्डा को राज्यसभा से निर्विरोध सांसद चुना गया है. तीन सीटो पर तीन उम्मीदवार दीपेद्रं सिंह हुड्डा, दुष्यंत गौतम और रामचंद्र जांगड़ा ने नामांकन किया था. नामाकंन वापसी की तारीख 18 मार्च रखी गयी थी.

बता दें, दीपेद्र सिंह हुड्डा पहली बार 2005 में अपने पिता भूपेंद्र सिंह हुड्डा के मुख्यमंत्री बनने के बाद रोहतक लोकसभा क्षेत्र के उपचुनाव में जीत हासिल कर सांसद बने थे.दिपेंद्र इसके बाद 2009 और 2014 में रोहतक से लगातार सांसद चुने गए. लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा. ऐसे में उनके पिता बेटे दिपेद्रं को टिकट दिलाने में कामयाब रहे.और कांग्रेस के प्रवक्ता सुरजेवाला को निराश होना पड़ा

भाजपा ने पूर्व सांसद बीरेंद्र सिंह के इस्तीफा देने के बाद खाली हुई सीट पर दुष्यंत गौतम को मैदान में उतारा था. वहीं सामान्य सीट के लिए रामचंद्र जांगडा को उतारा था.इसके अलावा कांग्रेस ने एक सीट पर दीपेद्रं हुड्डा को मैदान में उतारा था. अगर एक और उम्मीदवार मैदान में उतरता तो चुनाव की नौबत आती.

राजस्थान में किसी ने नहीं लिया नाम वापस

राजस्थान में राज्यसभा की तीन सीटों पर होने वाले द्विवार्षिक चुनावों के लिये बुधवार को नामांकन वापस लेने के अंतिम दिन किसी भी प्रत्याशी ने अपना नाम वापस नहीं लिया. निर्वाचन अधिकारी प्रमिल कुमार माथुर ने बताया कि बुधवार दोपहर तीन बजे तक नाम वापस लेने का समय था. लेकिन किसी ने नाम वापस नहीं लिया.

अब गुरुवार 26 मार्च को प्रात: 9 बजे से सांय 4 बजे तक मतदान होगा माथुर ने बताया कि राज्‍यसभा की तीन सीटों के लिए चार उम्‍मीदवारों की ओर से तेरह नामांकन पत्र दाखिल किये गये थे. जांच में सभी नामांकन पत्र सही पाये गये थे. नाम वापस लेने का समय बीतने के बाद अब मैदान में चार उम्मीदवार बचे हैं.

कांग्रेस ने के सी वेणुगोपाल ओर नीरज डांगी को अपना उम्मीदवार बनाया है जबकि भाजपा ने पहले सिर्फ राजेन्द्र गहलोत को उम्मीदवार बनाया था. हालांकि पर्चा भरने के अंतिम दिन पार्टी ने ओंकार सिंह लखावत का नामांकन दाखिल कर सबको अचंभित कर दिया. तीन सीटों के लिए मैदान में चार उम्मीदवारों के होने से मुकाबला बेहद दिलचस्प हो गया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें