1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. supaul
  5. this sacred mantra of the indian upanishad which means that o god lead us from untruth to truth and from darkness to light sunday night seemed to come true in different parts of the district

लोगों ने हर्षोल्लास के साथ मनाया प्रकाशोत्सव, उम्मीदों के दीये जला कर कोरोना रूपी अंधकार को पराजित करने का लिया संकल्प

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
लोगों ने हर्षोल्लास के साथ मनाया प्रकाशोत्सव, उम्मीदों के दीये जला कर कोरोना रूपी अंधकार को पराजित करने का लिया संकल्प
लोगों ने हर्षोल्लास के साथ मनाया प्रकाशोत्सव, उम्मीदों के दीये जला कर कोरोना रूपी अंधकार को पराजित करने का लिया संकल्प

सुपौल : असतो मा सद‍्गमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय, मृत्योर्मामृतं गमय... भारतीय उपनिषद का यह पवित्र मंत्र जिसका अर्थ है कि हे ईश्वर हमें असत्य से सत्य और अंधकार से प्रकाश की ओर ले चलो, रविवार की रात जिले के विभिन्न हिस्सों में साकार होता प्रतीत हुआ. देश-दुनिया में कोरोना जैसे भयंकर वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर जिले के लोगों ने भी प्रकाशोत्सव मना कर कारोना रूपी इस अंधकार पर उम्मीदों के दीये जला कर उसे पराजित करने की कामना की. पूर्व निर्धारित समयानुसार जैसे ही रात के 09 बजे, लोगों के घर दीपों से जगमग कर उठे. लोगों ने दीये, कैंडिल, टॉच व मोबाइल की रौशनी प्रज्जवलित कर कोरोना के विरूद्ध जारी राष्ट्रव्यापी जंग में अपने समर्थन व समर्पण का संकल्प जताया. चारों ओर दीपावली का नजारा दिखने लगा.

ग्रामीण क्षेत्रों में भी दीपोत्सव का कार्यक्रम हर्षोल्लास के साथ मनाया गया. लोगों में था उत्साह व उल्लास का माहौललोगों में गजब का उत्साह और उल्लास था. अपने घरों की देहरियों, दरवाजों, बालकनियों व छतों पर खड़े होकर उन्होंने एकजुटता का परिचय दिया. जोश व उत्साह के साथ खड़े लोगों में कहीं भी कोरोना का डर नहीं दिख रहा था. बल्कि उनके चेहरों पर एक विश्वास था, जो मौन रूप से ही सही यह कह रहा था कि हम भारतवासी इन छोटे-मोटे विपत्तियों से डरने वाले नहीं हैं. हमनें ऐसी कई त्रासदियां झेली है और उस पर विजय हासिल की है. इस बार भी कोरोना के विरूद्ध हम एकजुट हैं, जागरूक हैं और अनुशासित भी हैं. सामूहिक प्रयास के सशक्त अस्त्र से हम कोरोना को भी देश से खदेड़ भगाएंगे.

घरों के आगे परिवार के सदस्यों की कतार लगी थी. जिसमें घर के मुखिया के साथ ही महिलाएं, युवा व बच्चे भी शामिल थे. वातावरण की शुद्धि के लिये बजाए शंख व घड़ीघंट लोगों में भय नहीं बल्कि उत्सव का माहौल था. कई लोग भारतीय परंपरा के अनुसार काल को भगाने व वातावरण की शुद्धि के लिये घड़ीघंट, शंख व घंटियां भी बजा रहे थे. कुछ लोगों ने तो महामृत्युंजय व गायत्री मंत्रों का पाठ भी किया. हनुमान चालीसा भी पढ़े तथा जय श्री राम के गगनभेदी नारे भी लगे.

बाजार क्षेत्र में कुछ स्थानों पर आतिशबाजी भी हुई. स्टेशन रोड में युवाओं ने बड़ी देर तक तरह-तरह के पटाखें छोड़े. पुलिस कर्मियों ने भी दीप जला कर लिया संकल्प कई जगहों पर बच्चों ने मोमबत्ती जला कर भारत का नक्शा बनाया. वहीं पटाखे व पिटारे भी छोड़े. सदर थाना में थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह, महिला थानाध्यक्ष प्रेमलता भूपाश्री व एससीएसटी थानाध्यक्ष ने भी पुलिस कर्मियों के साथ दीप जलाकर कोरोना वायरस को भगाने का संकल्प लिया. स्टेशन चौक, महावीर चौक, ठाकुरबाड़ी चौक, लोहिया चौक, मल्लिक चौक, हुसैन चौक आदि जगहों पर इस कथित दीपावली को लेकर काफी उत्साह देखा गया. मुख्यालय स्थित चंद्रा सिनेमा हॉल के बगल में 08 वर्षीय बच्ची इशिका ने बताया कि पीएम मोदी जी की अपील पर मोमबत्ती से भारत का नक्शा बनाकर कोरोना वायरस को भगाने का संकल्प लिया.

देश-दुनिया में कोरोना जैसे भयंकर वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील पर जिले के लोगों ने भी प्रकाशोत्सव मना कर कारोना रूपी इस अंधकार पर उम्मीदों के दीये जला कर उसे पराजित करने की कामना की. पूर्व निर्धारित समयानुसार जैसे ही रात के 09 बजे, लोगों के घर दीपों से जगमग कर उठे. लोगों ने दीये, कैंडिल, टॉच व मोबाइल की रौशनी प्रज्जवलित कर कोरोना के विरूद्ध जारी राष्ट्रव्यापी जंग में अपने समर्थन व समर्पण का संकल्प जताया. चारों ओर दीपावली का नजारा दिखने लगा. ग्रामीण क्षेत्रों में भी दीपोत्सव का कार्यक्रम हर्षोल्लास के साथ मनाया गया. लोगों में था उत्साह व उल्लास का माहौललोगों में गजब का उत्साह और उल्लास था.

अपने घरों की देहरियों, दरवाजों, बालकनियों व छतों पर खड़े होकर उन्होंने एकजुटता का परिचय दिया. जोश व उत्साह के साथ खड़े लोगों में कहीं भी कोरोना का डर नहीं दिख रहा था. बल्कि उनके चेहरों पर एक विश्वास था, जो मौन रूप से ही सही यह कह रहा था कि हम भारतवासी इन छोटे-मोटे विपत्तियों से डरने वाले नहीं हैं. हमनें ऐसी कई त्रासदियां झेली है और उस पर विजय हासिल की है. इस बार भी कोरोना के विरूद्ध हम एकजुट हैं, जागरूक हैं और अनुशासित भी हैं. सामूहिक प्रयास के सशक्त अस्त्र से हम कोरोना को भी देश से खदेड़ भगाएंगे. घरों के आगे परिवार के सदस्यों की कतार लगी थी. जिसमें घर के मुखिया के साथ ही महिलाएं, युवा व बच्चे भी शामिल थे. वातावरण की शुद्धि के लिये बजाए शंख व घड़ीघंट लोगों में भय नहीं बल्कि उत्सव का माहौल था.

कई लोग भारतीय परंपरा के अनुसार काल को भगाने व वातावरण की शुद्धि के लिये घड़ीघंट, शंख व घंटियां भी बजा रहे थे. कुछ लोगों ने तो महामृत्युंजय व गायत्री मंत्रों का पाठ भी किया. हनुमान चालीसा भी पढ़े तथा जय श्री राम के गगनभेदी नारे भी लगे. बाजार क्षेत्र में कुछ स्थानों पर आतिशबाजी भी हुई. स्टेशन रोड में युवाओं ने बड़ी देर तक तरह-तरह के पटाखें छोड़े. पुलिस कर्मियों ने भी दीप जला कर लिया संकल्प कई जगहों पर बच्चों ने मोमबत्ती जला कर भारत का नक्शा बनाया. वहीं पटाखे व पिटारे भी छोड़े. सदर थाना में थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह, महिला थानाध्यक्ष प्रेमलता भूपाश्री व एससीएसटी थानाध्यक्ष ने भी पुलिस कर्मियों के साथ दीप जलाकर कोरोना वायरस को भगाने का संकल्प लिया. स्टेशन चौक, महावीर चौक, ठाकुरबाड़ी चौक, लोहिया चौक, मल्लिक चौक, हुसैन चौक आदि जगहों पर इस कथित दीपावली को लेकर काफी उत्साह देखा गया. मुख्यालय स्थित चंद्रा सिनेमा हॉल के बगल में 08 वर्षीय बच्ची इशिका ने बताया कि पीएम मोदी जी की अपील पर मोमबत्ती से भारत का नक्शा बनाकर कोरोना वायरस को भगाने का संकल्प लिया.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें