25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

नामांकन की अंतिम तिथि आज, अबतक महज 35 फीसदी छात्रों ने ही कराया दाखिला

स्नातक सत्र 2024-28 में नामांकन के लिए जारी की गयी पहली सूची में शामिल छात्र-छात्राओं के दाखिले की आज अंतिम तिथि है. पांच जुलाई संध्या चार बजे तक पहली लिस्ट में शामिल छात्र-छात्राएं कॉलेजों में निर्धारित प्रक्रिया के तहत नामांकन करा सकते हैं.

छपरा. स्नातक सत्र 2024-28 में नामांकन के लिए जारी की गयी पहली सूची में शामिल छात्र-छात्राओं के दाखिले की आज अंतिम तिथि है. पांच जुलाई संध्या चार बजे तक पहली लिस्ट में शामिल छात्र-छात्राएं कॉलेजों में निर्धारित प्रक्रिया के तहत नामांकन करा सकते हैं. हालांकि नामांकन की अंतिम तिथि के पूर्व तक महज 35 फीसदी सीटों पर ही नामांकन हुआ है. शहर के राजेंद्र कॉलेज में कला, विज्ञान तथा वाणिज्य के अंतर्गत 2,150 सीट उपलब्ध है, लेकिन चार जुलाई तक महज 412 सीटों पर ही दाखिला हो सका था. वहीं शहर के जयप्रकाश महिला कॉलेज में कुल उपलब्ध 1100 सीटों पर अब तक महज 375 छात्राओं ने ही दाखिला कराया है. शहर के पीसी विज्ञान कॉलेज, राम जयपाल कॉलेज, जगदम कॉलेज, जगलाल चौधरी कॉलेज आदि में भी कुल उपलब्ध सीट पर महज 25 से 30 फीसदी छात्र-छात्राओं का ही नामांकन हुआ है. हालांकि छह जुलाई को नामांकन के लिए दूसरी सूची भी जारी होनी है. ऐसे में कुछ और सीटों पर दाखिला होने की संभावना है छात्र-छात्राएं काफी धीमी गति से नामांकन करा रहे हैं. ऐसे में इस वर्ष 50 फीसदी सीटों के भरने की उम्मीद भी कम है. विदित हो कि गत वर्ष भी प्रमंडल के सबसे प्रतिष्ठित व जेपीयू के प्रीमियर कॉलेज में शुमार राजेंद्र महाविद्यालय में 2,150 सीटों पर महज 1200 दाखिला ही हुआ था. गत वर्ष भी 40 फीसदी सीट इस कॉलेज में खाली रह गयी थी. वहीं राम जयपाल कॉलेज, पीसी विज्ञान कॉलेज व जगदम कॉलेज में भी 60 फीसदी सीटों पर ही नामांकन हुआ था. वहीं गत वर्ष शहर के गंगा सिंह कॉलेज में महज 50 फीसदी छात्र-छात्राओं ने ही दाखिला कराया था.

गत वर्ष की तुलना में इस साल 50 फीसदी कम आये आवेदन

इस वर्ष स्नातक में नामांकन के लिए गत वर्ष की तुलना में करीब 50 फीसदी कम आवेदन विश्वविद्यालय को प्राप्त हुए. पिछले सत्र 2023-27 में नामांकन के लिए करीब 52 हजार आवेदन विश्वविद्यालय को मिले थे. वहीं इस वर्ष नामांकन के लिए अप्लाइ की तिथि चार बार विस्तारित करने के बावजूद भी महज 28,500 आवेदन ही नामांकन के लिए आये. नामांकन के लिए पहली लिस्ट जारी करने के बाद फिर से एक बार अप्लाइ का अवसर दिया गया. लेकिन उक्त अवधि में भी महज पांच सौ छात्र-छात्राओं ने ही अप्लाइ किया है. विश्वविद्यालय के अंतर्गत छपरा, सीवान व गोपालगंज के अंतर्गत 32 अंगीभूत व संबद्ध कॉलेज संचालित होते हैं. इन कॉलेजों में कला, विज्ञान तथा वाणिज्य के 25 विषयों के अंतर्गत 37 हजार सीट उपलब्ध है. गत वर्ष भी महज 22 हजार छात्र-छात्राओं का ही नामांकन हुआ था. इस वर्ष भी नामांकन के प्रति रुचि कम है.

सत्र अनियमित रहने के कारण घट रही है रूचि

स्नातक में हर वर्ष नामांकन के लिए छात्र-छात्राओं की रुचि घट रही है. इसके पीछे सबसे बड़ी वजह यह है कि जयप्रकाश विश्वविद्यालय में स्नातक के सत्र काफी पीछे चल रहे हैं. सत्र 2020 दो साल पीछे चल रहा है. अब तक इस सत्र के फाइनल इयर की परीक्षा भी नहीं हुई है. सत्र 2021 भी दो साल पिछड़ गया है. सत्र 2022 अंतर्गत महज पार्ट वन की परीक्षा हुई है. जबकि अब तक फाइनल इयर के परीक्षा की तैयारी शुरू हो जानी चाहिये थी. सत्र 2023 भी करीब 10 माह पीछे चल रहा है. अभी सत्र 2023 के लिए फर्स्ट सेमेस्टर का परीक्षा फॉर्म ही भरा जा रहा है. जबकि फर्स्ट सेमेस्टर गत वर्ष 23 दिसंबर को ही पूरा कर लेना था. इसके अलावा विश्वविद्यालय में वोकेशनल व रोजगारपरक कोर्स नहीं पढ़ाये जाते हैं. जिस कारण भी छात्र-छात्राओं की रुचि कम हुई है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें