1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. vigilance from corona about 3000 people in patna district home quarantine leaflets being pasted on homes

कोरोना से सतर्कता : पटना जिले के करीब 3000 लोग हुए होम क्वारेंटीन, घरों पर चिपकाये जा रहे पर्चे

By Pritish Sahay
Updated Date
संक्रमित व्यक्ति के घर से पांच किमी के दायरे में लोगों को कराया जायेगा होम क्वारेंटाइन
संक्रमित व्यक्ति के घर से पांच किमी के दायरे में लोगों को कराया जायेगा होम क्वारेंटाइन
प्रभातखबर

पटना : पटना जिले में कोरोना वायरस से पीड़ित होने वाले लोगों की बढ़ती संख्या को लेकर जिला प्रशासन सतर्क है. संदिग्धों की वायरोलॉजी जांच कराने के साथ ही प्रशासन उनके संपर्क में रहने वाले लोगों की भी निगरानी कर रहा है. जिले में अब तक 3000 से अधिक ऐसे लोग चिह्नित किये गये हैं, जो या तो विदेशों से लौटे हैं या फिर उनके संपर्क में आये हैं. ऐसे तमाम लोगों को ' होम क्वारेंटाइन ' का निर्देश देते हुए उनकी निगरानी की जा रही है. इनमें से कोरोना के अधिक लक्षण वाले लोगों को प्रशासन द्वारा बनाये गये क्वारेंटाइन वार्डों में भी भर्ती कराया जा रहा है.

दरवाजे पर चिकपाये जा रहे पर्चे

होम क्वारेंटाइन किये गये लोगों को लेकर प्रशासन सतर्क है. टीम बना कर उस घर के साथ ही पूरे मुहल्ले व गांव की निगरानी रखी जा रही है. इसको लेकर दंडाधिकारी भी तैनात किये गये हैं. एहतियातन उन घरों में पर्चे भी चिपकाये जाये रहे हैं, ताकि आस पास के लोग सतर्क रहें और उनके संपर्क में ना आयें. इसके लिए संबंधित बीडीओ को निर्देश दिया गया है. प्रशासन की पहली प्राथमिकता विदेश यात्रा से लौटे तमाम लोगों की जांच कराना है, ताकि उनमें कोरोना वायरस की उपस्थिति का पता लगाया जा सके.

महामारी एक्ट के तहत होगी कार्रवाई

होम क्वारेंटाइन नियम का पालन नहीं करने वालों पर महामारी एक्ट 1897 की धाराओं के तहत कार्रवाई की जा सकती है. इसमें छह महीने की जेल से लेकर जुर्माना तक शामिल है. अधिकारियों के मुताबिक पटना के कुछ क्षेत्रों में होम क्वारेंटाइन के पॉजिटिव केस मिले हैं. चूंकि यह वायरस अत्याधिक तेज गति से फैलता है, इसलिए क्षेत्र के परिवारों एवं संपर्क में आये व्यक्तियों काे क्वारेंटाइन रखना अति आवश्यक है.

जिले के जिन इलाकों में विशेष निगरानी हो रही है, उनमें फुलवारी प्रखंड का कोरियावां, सोरमपुर आदि शामिल हैं.

नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर के लिए 15 अप्रैल तक

नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट इन आर्किटेक्चर (नाटा) एग्जाम कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए स्थगित कर दिया गया है. नाटा 2020 एग्जाम की नयी तिथि लॉकडाउन समाप्त होने के बाद तय की जायेगी. इसके साथ ही नाटा ने आवेदन की तिथि भी बढ़ा दी है. स्टूडेंट्स 15 अप्रैल रात 11:59 बजे तक फॉर्म भर सकते हैं. फॉर्म भरने के बाद 19 अप्रैल तक शुल्क का भुगतान कर सकते हैं. आवेदन फॉर्म में हुई त्रुटि का सुधार 20 से 22 अप्रैल तक कर सकते हैं.

दारोगा- सार्जेंट बहाली की मुख्य परीक्षा स्थगित, हालात सामान्य होने पर जारी होगी नयी तारीख

बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग ने दारोगा, सार्जेंट और सहायक काराधीक्षक के 2446 पदों पर बहाली को 26 अप्रैल को होने वाली मुख्य लिखित परीक्षा को स्थगित कर दिया है़ कोरोना वायरस के कारण राज्य में जारी लॉकडाउन के चलते यह निर्णय लिया गया है़ लॉक डाउन के बाद आयोग राज्य के हालात की समीक्षा कर मुख्य परीक्षा की तारीख घोषित कर देगा़ आयोग परीक्षा को लेकर पूरी तैयारी कर चुका था़ अगले हफ्ते प्रवेश पत्र जारी करने की औपचारिकता भर रह गयी थी़ मुख्य परीक्षा में कुल 50,072 अभ्यर्थी शामिल होंगे़

बीपीएसएससी ने पिछले साल दारोगा के 2064, सार्जेंट के 215, सहायक अधीक्षक कारा (सीधी भर्ती) के 125 और सहायक अधीक्षक कारा (भूतपूर्व सैनिक) के 42 पदों की रिक्ति निकाली थी़ मुख्य परीक्षा में दो पालियों में आयोजित की जानी थी़ पहली पाली में हिंदी और दूसरी पाली में सामान्य अध्ययन की परीक्षा होनी थी़ परीक्षा देने वालों में 34,614 पुरुष व 15,458 महिला अभ्यर्थी शामिल है़ं बिहार पुलिस अवर सेवा आयोग पांच अप्रैल को एडमिट कार्ड अपने आधिकारिक वेबसाइट पर जारी करने वाला था़ पटना, भागलपुर, दरभंगा और मुजफ्फरपुर में करीब 100 सेंटर बनाये गये थे़ पटना के सेंटरों पर ही 25 हजार को परीक्षा देनी थी़

बाहर की बसों को सीमा पर रोका जायेगा, यात्रियों के लिए बनाये गये कैंप, पांच-पांच हजार को ठहराने की तैयारी

पटना. मुख्य सचिव दीपक कुमार की अध्यक्षता में रविवार को स्टेट क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक हुई. इसमें निर्णय लिया गया कि दिल्ली सहित अन्य राज्यों से बिहार लौटनेवाले लोगों को राज्य के सीमावर्ती जिलों में ही ठहराया जायेगा. सीमावर्ती जिलों के सरकारी हाइस्कूलों और कॉलेजों में तीन से पांच हजार लोगों के ठहराने की व्यवस्था की गयी है. उधर शनिवार की देर रात केंद्रीय कैबिनट सचिव व गृह सचिव के साथ मुख्य सचिव दीपक कुमार, गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव आमीर सुबहानी और डीजीपी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिग में राज्य सरकार ने सुरक्षा के दृष्टिकोण से सभी बातें बता दी हैं. राज्य सरकार निरंतर उत्तर प्रदेश व दिल्ली सरकार के साथ संपर्क में है.

रविवार की दोपहर स्टेट क्राइसिस मैनेजमेंट टीम की हुई बैठक के बाद अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने बताया कि मुख्य सचिव ने गृह विभाग,स्वास्थ्य विभाग, आपदा प्रबंधन विभाग और डीजीपी के साथ राज्य की स्थिति की समीक्षा की है. उन्होंने बताया कि दूसरे राज्यों से आनेवालों का सिलसिला शुरू हो गया है. सीमावर्ती जिले में जहां पर दूसरे राज्यों से मुख्य सड़कें आती हैं, वहां सभी व्यवस्थाओं सहित बड़े कैंप सरकारी स्कूल या कॉलेज के भवन में बनाये गये हैं.

एक हजार से अधिक लोगों का बनाया गया भोजन

पूर्व मध्य रेल क्षेत्र में आइआरसीटीसी के एकमात्र बेस किचन में रविवार को एक हजार से अधिक लोगों के लिए खिचड़ी बना कर उसे राजेंद्र नगर टर्मिनल परिसर, कॉमर्स कॉलेज परिसर, पटना जंक्शन व दानापुर स्टेशन पहुंचाया गया. इसके बाद आरपीएफ के सहयोग से जरूरतमंदों के बीच सोशल डिसटेंस रखते हुए भोजन का वितरण किया गया.

आइआरसीटीसी के क्षेत्रिय प्रबंधक राजेश कुमार ने बताया कि रेलवे बोर्ड के निर्देश पर रविवार से जरूरतमंदों के लिए बेस किचन में खाना बनना शुरू हो गया है. राजेंद्र नगर स्थित बेस किचन से जहां-जहां जरूरत होगी, वहां-वहां खाना पहुंचाया जायेगा. बेस किचन में लॉकडाउन की स्थिति में लगातार खाना बनता रहेगा.

आरपीएफ ने बांटा कॉमर्स कॉलेज व जंक्शन पर खाना

आइआरसीटीसी के बेस किचन में बना खाना आरपीएफ के सहयोग से कामर्स कॉलेज व पटना जंक्शन पहुंचाया गया़ पूर्व मध्य रेल के आरपीएफ आइजी मयंक ने पटना जंक्शन पहुंचे और अपने हाथों से खाने का वितरण किया. जंक्शन पर करीब 150 से अधिक बेसहारा व भिखारियों को खिचड़ी दिया गया और जंक्शन के सर्कुलेटिंग एरिया में बैठ कर भोजन किया. जंक्शन आरपीएफ पोस्ट के इंस्पेक्टर विनोद कुमार सिंह ने बताया कि पॉर्टिको में स्टॉल बना कर हरेक जरूरतमंद को भोजन मुहैया कराया गया. इसके साथ ही कॉमर्स कॉलेज में भी कैंप बनाया गया है, जहां शहरी गरीबों को रखा गया है. इन शहरी गरीबों के बीच टर्मिनल आरपीएफ पोस्ट ने खाना बांटा.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें