1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. nta jee main 2021 answer key march released students may fill objection form 2021news skt

JEE-MAIN 2021 परीक्षा का अपना परफॉर्मेंस इस तरह अब करें चेक, NTA ने ANSWER-KEY भी किया जारी, जानें आपत्ति दर्ज कराने का तरीका...

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
JEE Main March सत्र की आंसर की रिलीज
JEE Main March सत्र की आंसर की रिलीज
internet

देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेइइ-मेन 2021 के दूसरे सेशन मार्च जेइइ-मेन(JEE-MAIN 2021) की प्रोविजनल आंसर की(Answer Key), प्रश्नपत्र और विद्यार्थियों के रिकॉर्डेड रेस्पोंस शनिवार को जारी कर दिया गया. यह परीक्षा 16 से 18 मार्च के मध्य देश-विदेश के 334 शहरों में आयोजित की गयी. विद्यार्थियों को आंसर की चैलेंज करने का मौका भी दिया गया है. इस संदर्भ में एनटीए की ओर से जारी नोटिस के अनुसार विद्यार्थी 20 से 22 मार्च दोपहर एक बजे तक आंसर की को चैलेंज एवं अपने रिकॉर्डेड रेस्पोंस प्रश्नपत्रों के साथ डाउनलोड कर सकते हैं.

विद्यार्थी जेइइ मेन वेबसाइट पर दिये विकल्प पर जाकर अपने रजिस्ट्रेशन नंबर, पासवर्ड अथवा जन्म दिनांक भरकर अपना प्रश्नपत्र एवं रिकॉर्डेड रिस्पांस डाउनलोड कर सकते हैं. दिये गये प्रश्नपत्र एवं रिकॉर्डेड रेस्पोंस में विद्यार्थियों द्वारा दिये गये प्रश्न के उत्तर तथा उत्तरों का स्टेटस को भी जारी किया गया है.

इसमें यह स्पष्ट कर दिया गया है कि विद्यार्थी ने उस संबंधित प्रश्न का क्या उत्तर दिया है या नहीं दिया है ? मार्क ऑफ रिव्यू में रखा है या मॉर्क ऑफ रिव्यू में रखकर उत्तर दिया है. डाउनलोड किये गये प्रश्नपत्र पर विद्यार्थी का नाम, एप्लीकेशन नंबर एवं रोल नंबर अंकित है. साथ ही विद्यार्थी के प्रश्न पत्र में प्रत्येक प्रश्न उसकी क्वेश्चन आइडी एवं उसके आंसर को भी ऑप्शन आइडी के साथ दर्शाया गया है.

एक्सपर्ट अमित आहूजा ने बताया कि विद्यार्थियों के सामने उनके पूरे 90 प्रश्न अलग-अलग क्वेश्चन आइडी के रूप में प्रदर्शित होंगे एवं उस क्वेश्चन का सही आंसर भी करेक्ट ऑप्शन आइडी के रूप में मिलेगा. विद्यार्थी इस क्वेश्चन आइडी और ऑप्शन आइडी को डाउनलोड किये गये प्रश्नपत्र से मिलाकर अपने द्वारा दिये गये उत्तरों की जांच कर सकता है.

संशय की स्थिति में उसके सामने दिये गये चारों उत्तरों के ऑप्शंस आइडी के विकल्पों में सही विकल्प को चुनकर चैलेंज कर सकता है. प्रत्येक चैलेंज किये गये क्वेश्चन के लिए विद्यार्थी को नॉन रिफंडेबल दो सौ रुपये का शुल्क प्रोसेसिंग फीस के रूप में देना होगा. जोकि डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड व नेट बैंकिंग के माध्यम से देय होगा.

विद्यार्थी एक से अधिक प्रश्नों को भी चैलेंज कर सकता है. इसके साथ ही चैलेंज किये गये प्रश्नों के लिए संबंधित दस्तावेज को स्कैन कर अपलोड भी कर सकता है. इस प्रक्रिया के उपरांत विद्यार्थी को प्रोसेसिंग शुल्क का भुगतान करना होगा.

Posted By: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें