23.1 C
Ranchi
Friday, March 1, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

कर्पूरी ठाकुर को ‘भारत रत्न’ मिलने पर बिहार में क्रेडिट वॉर शुरू, जानिए दिग्गज नेताओं के अपने-अपने दावे

बिहार के पूर्व सीएम कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने की घोषणा केंद्र सरकार ने की तो बिहार का सियासी पारा भी गरमाया. अलग-अलग सियासी दलों के दिग्गजों ने इसमें अपनी भूमिका भी खूब गिनाई. उन्होंने बताया कि कब उन्होंने इसके लिए क्या प्रयास किए..

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर की जन्मजयंती (Karpoori Thakur Jayanti) बुधवार 24 जनवरी को है. उनकी जन्मजयंती के ठीक एक दिन पहले केंद्र सरकार ने उन्हें ‘भारत रत्न’ सम्मान देने की घोषणा कर दी. कर्पूरी ठाकुर को पिछड़ों और वंचितों के मसीहा के रूप में जाना जाता है. दो बार बिहार के मुख्यमंत्री रहे कर्पूरी ठाकुर का पूरा जीवन बेहद सादगी में बीता. वहीं वर्तमान राजनीति की बात करें तो कर्पूरी ठाकुर की जन्मजयंती पर सियासी दलों ने अपने-अपने कार्यक्रम पूर्व में ही तय कर लिए थे. बिहार का सियासी माहौल पहले से इसे लेकर गर्म था. वहीं मंगलवार की देर शाम को जब भारत रत्न देने की घोषणा केंद्र सरकार ने कर दी तो इसे लेकर भी सियासी दलों के दिग्गजों ने अपना-अपना प्रयास गिनाया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने महान समाजवादी नेता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कर्पूरी ठाकुर को देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किए जाने के केंद्र सरकार के निर्णय पर हार्दिक प्रसन्नता व्यक्त की है. उन्होंने इसे सही निर्णय बताया. मुख्यमंत्री ने मंगलवार को कहा कि स्व कर्पूरी ठाकुर को उनकी 100वीं जयंती पर दिया जाने वाला ये सर्वोच्च सम्मान दलितों, वंचितों और उपेक्षित तबकों के बीच सकारात्मक भाव पैदा करेगा. उन्होंने कहा कि वो हमेशा से स्व. कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने की मांग करते रहे हैं. आज कर्पूरी ठाकुर को दिए जाने वाले इस सम्मान से उन्हें खुशी मिली है और जदयू की वर्षों पुरानी मांग पूरी हुई है.


कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने के फैसले पर बोले तेजस्वी

दिवंगत नेता जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिये जाने की घोषणा पर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा है कि यह स्वागत योग्य कदम है. हालांकि उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा के शताब्दी वर्ष समारोह में हमने प्रधानमंत्री के समक्ष जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने की मांग की थी. तेजस्वी यादव ने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री से यह भी कहा था कि बिहार में विद्यायी कामकाज के अध्ययन के लिए वैशाली में स्कूल खोला जाना चाहिए. बिहार के लिए दिवंगत कर्पूरी को भारत रत्न दिया जाना अच्छी बात है.


Also Read: कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर पटना में आज होंगे सियासी दलों के कार्यक्रम, राजद-जदयू और भाजपा की जानिए तैयारी..
श्याम रजक ने लालू यादव को दिया श्रेय..

राजद के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री श्याम रजक ने कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद एवं राष्ट्रीय जनता दल के द्वारा चिर परिचित मांग स्व कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने पर भारत सरकार को आखिरकार भारत रत्न देना ही पड़ा. भारतीय जनता पार्टी एवं पूर्व मे भारतीय जनसंघ के द्वारा कई बार कर्पूरी ठाकुर को अपमानित एवं उपहास किया जाता रहा. एनडीए ने मरणोपरांत भारत रत्न देकर प्रायश्चित करने का काम किया है.इसके लिए उन्हें आभार. श्री रजक ने कहा कि कर्पूरी ठाकुर राष्ट्र के दलित, पिछड़े, उपेक्षित लोगो के हक और सम्मान के लिए लगातार संघर्ष करते रहे. राष्ट्रीय जनता दल अपने पूर्वज को भारत रत्न मिलने पर खुशी व्यक्त किया है. साथ ही करोडो पिछड़े,दलित को अपने संघर्ष की सफलता मिली है. उन्होने इस संघर्ष की सफलता के लिए सभी को धन्यवाद दिया.


जदयू के प्रदेश महासचिव ने नीतीश कुमार की भूमिका गिनायी..

जदयू के प्रदेश महासचिव ओम प्रकाश सिंह सेतु ने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर को मरणोपरांत भारत रत्न से विभूषित किये जाने का फ़ैसला स्वागत योग्य है. जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न से सम्मानित करने हेतु मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार सरकार की ओर से तीन बार केंद्र सरकार को प्रस्ताव दिया. कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर ईमानदार एवं सादगी के प्रतीक थे.ईमानदारी एवं सादगी ने कर्पूरी ठाकुर को जननायक बनाया.

उपेंद्र कुशवाहा ने क्या कहा..

राष्ट्रीय लोक जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने का स्वागत किया है. कहा है कि सामाजिक न्याय के संघर्ष भरे मार्ग को प्रशस्त करने वाले गुदड़ी के लाल जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देना अति सुखद क्षण है. हमारी वर्षों पुरानी मांग पूरी हुई. पार्टी की ओर से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति हम आभार प्रकट करते हैं. बिहार समेत देश की जनता को बधाई देते हैं.


मंत्री संजय झा ने क्या कहा..

सूचना एवं जनसंपर्क सह जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने कहा है कि जननायक कर्पूरी ठाकुर को ”भारत रत्न” से सम्मानित करने की घोषणा पर खुशी जताई है. उन्होंने कहा है कि समाजवाद के पुरोधा, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री, मिथिला के सपूत को ”भारत रत्न” से सम्मानित करने की हमलोगों की वर्षों पुरानी मांग उनके जन्म शताब्दी वर्ष में आखिर मान ली गई है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इससे पहले वर्ष 2007, 2017, 2018, 2019 और 2021 में भी कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न से विभूषित करने की अनुशंसा केंद्र को भेजी थी.

जीतन राम मांझी बोले..

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के संरक्षक पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने का स्वागत किया है. कहा है पार्टी ने दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन में कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने का प्रस्ताव पास किया था. अब केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने अतिपिछड़ों के मसीहा कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देकर साबित किया है कि देश में वंचितों का सम्मान झुकने नहीं दिया जायेगा. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मंत्री डॉ संतोष सुमन ने कहा है कि नरेंद्र मोदी हैं तो मुमकिन है, एक बार फिर चरितार्थ हो गया.


राजद प्रवक्ता ने लालू-तेजस्वी की भूमिका को बताया..

केंद्र सरकार की तरफ से जननायक कर्पूरी ठाकुर को ”भारतरत्न” दिए जाने के निर्णय को राजद के लम्बे संघर्षों की उपलब्धि बताते हुए राजद प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने कहा कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद के नेतृत्व में राजद काफी लम्बे समय से जननायक कर्पूरी ठाकुर को ”भारत रत्न” देने की मांग करती रही है. राजद प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने इसे बिहार हीं नहीं बल्कि कर्पूरी जी को आदर्श मानने वाले देश के करोड़ों लोगों की जीत है. राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव लगातार इस मांग को उठाते रहे हैं. देर से हीं सही, लेकिन केंद्र सरकार को करोड़ों लोगों की भावनाओं के सामने झुकना पड़ा.

भाजपा नेताओं का बयान..

बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने कहा कि सरल, सहज, सादगी और ईमानदारी के प्रतिमूर्ति जननायक कर्पूरी ठाकुर को बिहार भाजपा की मांग पर केंद्र सरकार ने मरणोपरांत भारत रत्न की उपाधि दी है. पीएम नरेंद्र मोदी ने पूरे अति पिछड़े समाज की भावनाओं का सम्मान करते हुए गरीबों के नेता का सम्मान किया है. वहीं पूर्व मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बिहार की जनता की ओर से आभार. जन्म जयंती से एक दिन पूर्व उन्हें मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किए जाने का केंद्र सरकार का निर्णय उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें