1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. floods in bihar mahananda is flowing above the danger mark

बिहार में बाढ़ की आहट, खतरे के निशान से ऊपर बह रही है महानंदा, कई नदियों का जलस्तर बढ़ा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बिहार में बाढ़ की आहट
बिहार में बाढ़ की आहट
प्रभात खबर

कटिहार : महानंदा, गंगा, कोसी व बरंडी नदी के जल स्तर में रविवार को भी वृद्धि दर्ज की गयी है. नदी का जल स्तर छह घंटे के दौरान करीब दो सेंटीमीटर से 10 सेंटीमीटर की वृद्धि दर्ज की गयी है. जबकि महानंदा नदी अधिकांश स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. नदी के जल स्तर में वृद्धि से कई क्षेत्रों में कटाव होने लगा है. महानंदा नदी झौआ में खतरे के निशान से 23 सेमी ऊपर बह रही है. जबकि यह नदी पार बहरखाल में खतरे के निशान से 17 सेमी ऊपर है.

इसी तरह आजमनगर में महानंदा नदी खतरे के निशान से 41 सेमी ऊपर है. धबौल एवं कुर्सेल में यह नदी खतरे के निशान से क्रमशः 39 व 19 सेमी ऊपर बह रही है. दुर्गापुर में यह नदी खतरे के निशान से 27 सेंटीमीटर ऊपर है. जल स्तर में लगातार हो रही वृद्धि से तटबंध के भीतर के गांव में बाढ़ का पानी फैलने लगा है. इधर बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल के अभियंताओं की टीम लगातार क्षेत्र में क्षेत्र भ्रमण कर रही है.

बढ़ने लगा गंडक बराज का जल स्तर, छोड़ा गया एक लाख क्यूसेक पानी

इंडो नेपाल सीमा पर स्थित गंडक बराज से रविवार की दोपहर तक लगभग एक लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया गया. इससे तटवर्ती वन क्षेत्र समेत पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के समीपवर्ती क्षेत्रों में पानी का जमाव होने की आशंका बढ़ गयी है. इससे ग्रामीणों की परेशानियां बढ़ गयी हैं. गंडक बराज के अधिकारियों की माने तो नेपाल में हो रही बारिश से तराई और पहाड़ी क्षेत्रों में जनजीवन अस्त व्यस्त होने लगा है. नेपाल से छूटे पानी के कारण गंडक बराज का जल स्तर रविवार की सुबह से लगातार बढ़ने के क्रम में है. उम्मीद जताई जा रही है कि रविवार की देर शाम तक जल स्तर में और भी बढ़ोतरी हो सकती है. बीते दिनों से लगातार गंडक बराज के जल स्तर में उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है.

महानंदा का स्पर 15 का नोज ध्वस्त, बचाव में जुटा विभाग

इंडो नेपाल सीमा पर स्थित गंडक बराज से रविवार की दोपहर तक लगभग एक लाख क्यूसेक पानी डिस्चार्ज किया गया. इससे तटवर्ती वन क्षेत्र समेत पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश के समीपवर्ती क्षेत्रों में पानी का जमाव होने की आशंका बढ़ गयी है. इससे ग्रामीणों की परेशानियां बढ़ गयी हैं. गंडक बराज के अधिकारियों की माने तो नेपाल में हो रही बारिश से तराई और पहाड़ी क्षेत्रों में जनजीवन अस्त व्यस्त होने लगा है. नेपाल से छूटे पानी के कारण गंडक बराज का जल स्तर रविवार की सुबह से लगातार बढ़ने के क्रम में है. उम्मीद जताई जा रही है कि रविवार की देर शाम तक जल स्तर में और भी बढ़ोतरी हो सकती है. बीते दिनों से लगातार गंडक बराज के जल स्तर में उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें