18.1 C
Ranchi
Sunday, March 3, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Bihar Weather: बिहार में ठंड की विदाई की आयी तारीख, बारिश और शीतलहर को लेकर भी मौसम विभाग ने दी जानकारी..

Bihar Weather Report: बिहार प्रचंड ठंड से ठिठुर रहा है. मौसम विभाग की ओर से जानकारी दी गयी है कि अभी शीतलहर का प्रकोप जारी रहेगा. वहीं अब बारिश की भी संभावना है. इस साल सर्दियों में कोल्ड वेव का दंश बिहार झेल रहा है. जानिए वेदर रिपोर्ट..

Bihar Weather Report: बिहार में ठंड का कहर जारी है. पिछले साल गर्मियों में हीट वेव का दंश झेल चुका बिहार अब इस साल सर्दियों में कोल्ड वेव का दंश झेल रहा है. जमा देने वाली ठंड और दिन में पारे को सतह पर ला देने वाले कोहरे का दौर पिछले छह दिनों से जारी है. फिलहाल शीतलहर का दौर अभी थमता नहीं दिख रहा है, इसके आगे भी जारी रहने का पूर्वानुमान है. कोहरे की वजह से राज्य में शायद ही कोई ऐसा जिला हो, जो अब तक कोल्ड डे की स्थिति में न पहुंचा हो.

कोहरे के कारण बनी है कोल्ड डे की स्थिति

कोल्ड डे/ कोल्ड वेव जैसी परिस्थितियों के बने रहने की वजह नहीं छंटने वाला कोहरा है. इसकी एक मजबूत परत सतह से एक से दो किलोमीटर ऊपर छायी हुई है. कोहरे में धूल के कण भी समाहित हैं. इसकी वजह से धूप धरातल पर नहीं आ पा रही है. लिहाजा पारा समान्य से काफी नीचे चले आने से कोल्ड डे की स्थिति राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में बन रही है. सामान्य तौर पर दिसंबर से जनवरी तक पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता से शीतकालीन बारिश हो जाती थी. इसकी वजह से आसमान साफ हो जाता था. इस बार ऐसा नहीं देखा जा रहा है. राज्य में वर्ष 2018 के बाद लगातार कोल्ड डे की स्थिति बन रही है.

कबतक पड़ेगी ठंड? बारिश को लेकर भी आयी जानकारी..

मौसमी रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में 26 जनवरी के आसपास एक शक्तिशाली पश्चिमी विक्षोभ बन रहा है. इसकी वजह से बिहार में 26 या 27 जनवरी को बारिश हो सकती है. इससे ठंड बढ़ेगी. इधर आइएमडी के पूर्वानुमान के मुताबिक 22 जनवरी तक ठंड पड़ते रहने की आशंका है. राज्य के उत्तरी बिहार में कुछ स्थानों पर घना कोहरा और दक्षिणी बिहार में अगले तीन से चार दिन तक मध्यम से घना कोहरा छाये रहने की संभावना है.

Also Read: बिहार में ठंड कब से घटेगी? कोल्ड वेव की चपेट में पूर्णिया- अररिया समेत सीमांचल क्षेत्र, पढ़िए वेदर रिपोर्ट..
पटना, छपरा, भागलपुर सहित कई जिलों में सर्वाधिक ठंड

बिहार में बुधवार को मुजफ्फरपुर, बक्सर, औरंगाबाद, पटना, भागलपुर, पूर्णिया, छपरा,सबौर, भोजपुर, कैमूर, खगड़िया, जीरादेई ,अगवानपुर, किशनगंज में सीवियर कोल्ड डे दर्ज किया गया. यहां पारा सामान्य से छह से 11 डिग्री सेल्सियस कम दर्ज किया गया है.

गया में लगातार चौथे दिन कोल्ड डे

गया में लगातार चौथे दिन कोल्ड डे का असर रहा. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक अगले 21 जनवरी तक गया शीत दिवस की चपेट में रहेगा. बुजुर्ग हरिहर पासवान, महेश ठाकुर आदि ने बताया कि काफी वर्षों बाद इतने लंबे समय तक ऐसी सर्दी देखने को मिल रही है, जब लगातार कई-कई दिनों तक धूप का दरस न हो रहा हो, कुहासा इतना कि पांच गज आगे कुछ नहीं दिख रहा हो, लगातार शीतलहर की वजह से कोल्ड डे रह रहा हो. पिछले सात दिनों से कोल्ड डे का अलर्ट घोषित है.

गोपालगंज का मौसम

कश्मीर की हवा से बढ़ी ठंड के चलते  गोपालगंज में बुधवार को सुबह के समय कोहरा नहीं रहा लेकिन, लोगों के हाथ-पैर सुन्न रहे. कड़ाके की ठंड के बीच लोग दिन और रात गुजर रहे हैं. गर्म कपड़ों में भी सर्दी से राहत नहीं मिल रही है. ठंड के कारण लोग घरों में दुबके रहे. वहीं जरूरी काम से बाहर निकलने वाले लोग खुद को गर्म कपड़ों में लपेटकर निकल रहे हैं. यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. आधा जनवरी बीतने के बाद भी ठंड के तेवर ढीले नहीं पड़े हैं. ठंड लगातार बढ़ती जा रही है, बुधवार का दिन सीजन में पिछले 10 सालों में सबसे सर्द रहा है. इस समय दिन और रात बहुत सर्द चल रहे हैं, जिस कारण से राहत नहीं मिल रही है. धूप के भी दर्शन नहीं हुए. बुधवार का दिन पिछले 10 सालों में सबसे सर्द रहा है. पारा गिरता हुआ 14 डिग्री पर पहुंचा है. इस सीजन में पहली बार इतना कम तापमान दर्ज किया गया है. न्यूनतम तापमान 6.8 डिग्री रहा, लेकिन सर्दी का एहसास 5 डिग्री से कम वाला था. मौसम विज्ञानी डॉ एसएन पांडेय ने बताया कि अभी जेट स्ट्रीम (पृथ्वी की ऊपरी सतह पर चलने वाली तेज हवाएं ) हवाओं से 20 जनवरी तक ठंड का असर बना रहेगा.

कोहरे ने रेल की रफ्तार धीमी की..

बिहार में कोहरे का प्रकोप जारी है. हालत यह हो गयी है कि रेलवे की अति प्रतिष्ठित तेजस राजधानी एक्सप्रेस जैसी ट्रेन भी घंटों देरी से चल रही है. खास बात तो यह है कि यह ट्रेन श्रमजीवी व मगध जैसी ट्रेन से भी देरी से पहुंच रही है. बुधवार को राजधानी 11 घंटे देरी से पटना जंक्शन पहुंची, जबकि इसकी तुलना में श्रमजीवी एक्सप्रेस सिर्फ 22 मिनट ही लेट हुई. इसी क्रम में संपूर्णक्रांति 10 घंटे, विक्रमशिला 12 घंटे, ब्रम्हपुत्र मेल सात घंटे, मगध एक्सप्रेस सात घंटे, इस्लामपुर हटिया पांच घंटे, हावड़ा पटना जनशताब्दी एक्सप्रेस दो घंटे देरी से आयी. वहीं दूसरी ओर महानंदा एक्सप्रेस को रद्द करना पड़ा. ट्रेन लेट होने से अधिकांश यात्रियों को जंक्शन के प्लेटफॉर्म पर ही रात गुजारनी पड़ी. यह स्थिति बीते 14 दिन से देखने को मिल रही है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें