भाभी से अवैध संबंध में भाई ने करायी प्रोफेसर की हत्या, आपत्तिजनक स्थिति में पत्नी और भाई को देख चुके थे प्रोफेसर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

वरीय संवाददाता @ पटना

राजधानी के टीपीएस कॉलेज के प्रोफेसर की हत्‍या उनके ही सगे छोटे भाई बिरेंद्र राम ने करायी थी. इसके लिए बिरेंद्र ने अपने बिजनेस पार्टनर शैलेंद्र किशोर की मदद से प्रोफेसर की हत्या करायी थी. इसके लिए दो लाख रुपये देकर चार सुपारी किलरों को हायर किया था. पुलिस के मुताबिक मुख्य आरोपित बिरेंद्र ने बताया कि 55 वर्षीय प्रोफेसर शिवनारायण राम की पत्नी यानी भाभी से उसका प्रेम संबंध था. इसमें बड़े भाई रोड़ा बन रहे थे. इसी कारण से साजिश रची और सुपारी देकर हत्या करा दी. घटना के वक्त के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया है. यह जानकारी एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने दी.

आपत्तिजनक स्थिति में पत्नी और छोटे भाई को देख लिये थे प्रोफेसर

पूछताछ के दौरान आरोपित भाई ने बताया कि वह मर्चेंट नेवी में काम करता है. साथ ही गोविंद मित्रा रोड में शैलेंद्र के साथ दवा का कारोबार भी करता है. भाभी से प्रेम संबंध की जानकारी प्रोफेसर को लग चुकी थी. पत्नी और भाई को आपत्तिजनक स्थिति में प्रोफेसर देख चुके थे. इसके बाद घर में जमकर लड़ाई भी हुई थी. भाभी के प्यार में रास्ते का कांटा बन रहे भाई की हत्या की साजिश छोटे भाई ने कर दी. पुलिस ने बिरेंद्र, शैलेंद्र के अलावा हत्या को अंजाम देनेवाले पीरबहोर थाना क्षेत्र के विकास कुमार उर्फ बिल्ला, धीरज कुमार, अमरजीत कुमार और गांधी चौक के रहनेवाले प्रेम सागर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

भाभी के प्रेम में नहीं की शादी, 10 वर्षों से चल रहा था अवैध संबंध

पुलिस के मुताबिक, भाभी की उम्र महज 35 साल होने से बिरेंद्र दिल दे बैठा था. दोनों के बीच 10 सालों से अवैध संबंध था. भाभी के प्यार में उसने शादी ही नहीं की. मालूम हो कि 29 जनवरी को टीपीएस कॉलेज के प्रोफेसर शिवनारायण राम की हत्या कंकड़बाग थानांतर्गत चांदमारी रोड के रोड नंबर आठ के मोड़ पर हुई थी. प्रोफेसर अपने पूर्वी इंदिरा नगर स्थित घर से पैदल जा रहे थे. मृतक के परिजनों के बयान पर कंकड़बाग थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था. मृतक रोहतास जिले के दिनारा गांव के स्थायी निवासी थे.

क्या कहते हैं अधिकारी

घटना के संबंध में एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने बताया कि भाभी के साथ अवैध संबंध में बिरेंद्र ने साजिश रच कर बड़े भाई की हत्या करायी थी. इसके लिए बिरेंद्र ने दो लाख रुपये की सुपारी दी थी. इन रुपये में सुपारी किलर विकास व धीरज ने 75-75 हजार और प्रेम व अमरजीत ने 25-25 हजार रुपये बांट लिये थे. हत्या की बात स्वीकारने के बाद सभी आरोपितों को जेल भेज दिया गया है.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें