पटना : फाड़ी एजेंडे की कॉपी, हंगामा

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
पटना : मंगलवार को मेयर की अध्यक्षता में आयोजित निगम बोर्ड की बैठक में पार्षदों ने खूब हंगामा किया. बैठक की कार्यवाही शुरू होते ही पार्षद तरुणा राय, कुमार संजीत, पिंकी यादव व रानी कुमारी आदि ने पिछली बैठक की कार्यवाही से कई महत्वपूर्ण तथ्यों को हटाने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया.
वहीं, स्थायी समिति सदस्य डॉ आशीष कुमार सिन्हा व इंद्रदीप कुमार चंद्रवंशी ने कहा कि जो तथ्य नहीं है, उसे जोड़ दिया जायेगा. इसके बावजूद विवाद नहीं थमा. पूर्व डिप्टी मेयर विनय कुमार पप्पू ने कहा कि कार्यवाही की कॉपी साक्ष्य होती है और वहीं से पारित योजनाओं को हटा दिया गया है. इस तरह की कार्यवाही व एजेंडे की कॉपी वितरण कर सदन को गुमराह किया जा रहा है, जो गलत है. इसके बाद सदन के वेल में आकर पूर्व की बैठक की कार्यवाही व एजेंडे की कॉपी फाड़ कर आपत्ति जतायी गयी, जिसका समर्थन कई पार्षदों ने किया. हालांकि, जोरदार विवाद व हंगामे के बीच नौ एजेंडाें को पास किया गया और दो योजनाओं की समीक्षा की गयी.
सामान्य रूप से क्यों नहीं हटाया जाता है अतिक्रमण : बैठक में वार्ड पार्षद पिंकी कुमारी ने निगम प्रशासन की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि पूरे शहर में अतिक्रमणकारियों का कब्जा है. लेकिन, कुछ चुनिंदा जगहों से ही अतिक्रमणकारियों को हटाया जा रहा है. पार्षद के सवाल पर नगर आयुक्त ने कहा कि अतिक्रमण अभियान सामान्य रूप से चलाया जाता है.
दो आउटसोर्स एजेंसियां टर्मिनेट : डोर-टू-डोर कचरा कलेक्शन को लेकर दो आउटसोर्स एजेंसी कर्मियों की आपूर्ति करती है. लेकिन, इन दोनों एजेंसियों का काम संतोषजनक नहीं है. इससे गुड इयर व एवरेस्ट नामक एजेंसी को टर्मिनेट करने का प्रस्ताव लाया गया. इस प्रस्ताव पर बोर्ड ने सहमति दे दी.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें