सूअर की संख्या घटी, गाय और भैंस की बढ़ी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पटना : राज्य में सूअरों की संख्या कम हो रही है. राहत की बात यह कि दुधारू पशुओं की संख्या में इजाफा हुआ है. गाय, भैंस और बकरियों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है. अगले वर्ष के शुरुआती माह में पशु जनगणना-2019 की रिपोर्ट आ सकती है. फिलहाल पशुओं की गिनती के बाद जो ड्राफ्ट केंद्र सरकार की ओर से भेजा गया है. उसमें बिहार के कई पशुओं की वास्तविक संख्या की रिपोर्ट आयी है. रिपोर्ट में मुर्गी और अन्य कई पशुओं की संख्या की रिपोर्ट नहीं आयी है. 2018 के 28 अक्तूबर से लेकर इस वर्ष अगस्त तक प्रदेश में पशु जनगणना की गयी थी.

गदहे-घोड़े घटे
राज्य में भैंसों की संख्या में लगभग दो फीसदी की वृद्धि हुई है. बिहार में भैंस की संख्या 76 लाख (7.6 मिलियन) से बढ़ कर 77 लाख यानी 7.7 मिलियन हुई है. इसके साथ ही गाय की संख्या 1.22 करोड़ (12.2 मिलियन) से बढ़ कर 1.53 करोड़ (15.3 मिलियन) हुई है. वहीं, बकरी की संख्या एक करोड़ 21 लाख 50 हजार (12.15 मिलियन) से बढ़ कर एक करोड़ 28 लाख (12.82 मिलियन) हुई है.
राज्य में सूअर की संख्या में 0.65 मिलियन से घट कर 0.34 मिलियन रह गयी है. बिहार में घोड़ों की संख्या 46 हजार से घट कर 32 हजार रह गयी है. गहदों की संख्या 21 हजार से 11 हजार रह गयी है.
दो वर्षों की देरी से हुई पशु जनगणना
देश में प्रत्येक पांच वर्ष में पशु जनगणना की जाती है. इससे पहले 2012 में पशु जनगणना हुई थी. इसके बाद 2017 में पशु जनगणना होनी थी, लेकिन पशु जनगणना दो वर्ष की देरी के बाद 2019 में की गयी है.
अभी केंद्र सरकार ने पशु जनगणना का ड्राफ्ट तैयार कर सभी राज्यों को भेजा था. वहां से दावा आपत्ति के बाद फाइनल रिपोर्ट प्रकाशित की जायेगी. गौरतलब है कि राज्य में टैब के माध्यम से लगभग दो करोड़ घरों में जाकर पशु गणना पूरी की गयी थी.
देश में बढ़ी है पशुओं की संख्या
बीते सात वर्षों में देश में गाय की संख्या 190.90 मिलियन से बढ़ कर 192.47 मिलियन हुई है. भैंस की संख्या 108.70 मिलियन से बढ़ कर 109.85 मिलियन हुई है. सीप की संख्या 65.07 से बढ़ कर 74.26 मिलियन हुई है.
बकरी संख्या 135.17 मिलियन से बढ़ कर 148.88 मिलियन हुई है. सूअर की संख्या 10.29 से घट कर 9.06 मिलियन रह गयी है. ऊंट की संख्या 0.40 मिलियन से घट कर 0.25 मिलियन रह गयी है. घोड़ों की संख्या 0.63 से घट कर 0.38 मिलियन रह गयी है.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें