पुनपुन का घट रहा पानी, पर गांवों में बरकरार है परेशानी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

मसौढ़ी : पुनपुन नदी का जल स्तर बीते शुक्रवार की रात से घटना शुरू हो गया है. नदी का जल स्तर प्रति घंटा दो सेंटीमीटर घट रहा है. इस बाबत केंद्रीय जल आयोग पटना के सीनियर वर्क असिस्टेंट मुन्ना प्रसाद ने बताया कि बीते शुक्रवार की रात से शनिवार की शाम छह बजे तक नदी का जल स्तर 20 सेंटीमीटर कम हुआ है.

उन्होंने बताया कि नदी के जल स्तर घटने का जो ट्रेंड है वह प्रति घंटा दो सेंटीमीटर है. उन्होंने अनुमान व्यक्त किया कि शनिवार की रात से जल स्तर में गिरावट निरंतर जारी रहने की संभावना है. फिर भी नदी का जल स्तर खतरे के निशान से ऊपर है. शुक्रवार को जहां नदी का जल स्तर 53.61 सेंटीमीटर दर्ज किया गया था, वहीं शनिवार को 53.41 दर्ज किया गया है.
बढ़हियाकोल गांव के पास टूटा नदी का तटबंध
बीते बुधवार से पुनपुन प्रखंड की पैमार पंचायत स्थित बढ़हियाकोल के पास नदी के तटबंध से हो रहे रिसाव को जल संसाधन विभाग द्वारा रोकने का किया जा रहा हर प्रयास शुक्रवार की रात फेल हो गया. नदी का तटबंध कुछ दूर तक टूट गया, जिससे बढ़हियाकोल समेत अन्य गांवों में पानी फैल गया. इधर, टूटे तटबंध की मरम्मत के लिए जल संसाधन विभाग ने अपनी सारी ताकत झोंक दी है, लेकिन उन्हें इसमें अब तक सफलता नहीं मिल सकी है.
एनएच 83 पर चढ़ा बाढ़ का पानी
पुनपुन प्रखंड मुख्यालय स्थित डाकबंगला मोड़ के पास शनिवार की सुबह एनएच- 83 पर बाढ़ का पानी चढ़ गया. बताया जाता है कि बीते शुक्रवार की रात बढ़हियाकोल के पास तटबंध टूटने के कारण उसके निचले हिस्से अलाउद्दीनचक गांव पूरी तरह प्रभावित हो गया. इसी का परिणाम हुआ कि पुनपुन डाकबंगला मोड़ से 36 पुलवा तक आधा किलोमीटर में सड़क के ऊपर से दो फुट पानी बह रहा है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें