1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna news police raid in beur jail three mobile seized from under the land bihar news upl

Patna News: बेऊर जेल की जमीन में दफन थे तीन मोबाइल और एक चार्जर, जाने और क्‍या हुआ खुलासा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
 बेऊर जेल में कैदी जमीन के अंदर गाड़ कर रखे  मोबाइल बरामद
बेऊर जेल में कैदी जमीन के अंदर गाड़ कर रखे मोबाइल बरामद
FIle

Patna News: बेऊर जेल में कैदी जमीन के अंदर गाड़ कर मोबाइल फोन को रखते हैं. इसका खुलासा उस समय हुआ जब बेऊर जेल के अधीक्षक जितेंद्र कुमार के निर्देश पर टीम ने गोदावरी खंड, जमुना खंड आदि के अगल-बगल में जमीन की खुदाई करायी. इस दौरान गोदावरी खंड के समीप से जमीन के अंदर से दो मोबाइल फोन व एक चार्जर जबकि यमुना खंड के समीप जमीन के अंदर से एक मोबाइल फोन बरामद किया गया. ये दोनों ही मोबाइल फोन की-पैड वाले हैं. हालांकि स्मार्ट फोन की फिलहाल बरामदगी नहीं हो पायी है. मोबाइल फोन में सिम कार्ड नहीं लगे थे.

इस संबंध में जेल अधीक्षक ने बेऊर थाने में अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा दी है. जानकारी के अनुसार, जेल प्रशासन को इस बात की जानकारी है कि कैदियों के पास अभी भी मोबाइल फोन है. इसे लेकर जेल अधीक्षक काफी गंभीर हैं और जेल के अंदर तमाम वार्डों में लगातार छापेमारी करायी जा रही है. हाल के दिनों में भी हुई छापेमारी में पूर्व सांसद विजय कृष्ण के सेल से भी एक सिम कार्ड बरामद किया गया था. इसके अलावे एक रजिस्टर मिला था, जिसमें कई लोगों के मोबाइल नंबर सेव थे.

बरामद मोबाइल फोन की हो रही जांच

जमीन के अंदर से बरामद मोबाइल फोन की जांच की जा रही है. इस मोबाइल फोन में कई लोगों के नंबर सेव हैं, जिसके संबंध में छानबीन जारी है. हालांकि यह जानकारी नहीं मिल पायी है कि उक्त मोबाइल फोन किस कैदी द्वारा छिपाये गये थे. हालांकि यह बात स्पष्ट है कि यह मोबाइल फोन गोदावरी व यमुना खंड के ही किसी कैदी के थे. जिसने वार्ड में छापेमारी के पूर्व जमीन के अंदर मोबाइल फोन को दबा दिया था.

कैदी ही खोल रहे साथियों की पोल

सूत्रों के अनुसार जेल के अंदर मोबाइल फोन होने की जानकारी के बाद अब कैदी को ही जेल प्रशासन ने स्पाई (जासूस) बना लिया है, ताकि मोबाइल फोन के संबंध में सूचना प्राप्त हो सके. स्पाई (जासूस) की सूचना पर ही गोदावरी व यमुना खंड के समीप जमीन से मोबाइल फोन की बरामदगी की गयी. खास बात यह है कि छापेमारी सुबह 6.30 बजे से शुरू की गयी और नौ बजे तक चली. टीम को इतना गोपनीय तरीके से बनाया गया और छापेमारी करायी गयी कि किसी को भनक तक नहीं लगी.

बेऊर जेल में 20 और कक्षपालों की हुई तैनाती

बेऊर जेल की विधि व्यवस्था व प्रशासनिक व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए गुरुवार को 20 कक्षपालों की तैनाती की गयी है. ये सभी कक्षपाल फुलवारीशरीफ, दानापुर, पटना सिटी उपकारा में तैनात थे. इनमें से कई तीन साल से अधिक समय से एक ही स्थान पर जमे थे. समीक्षा के दौरान यह पाया बेऊर जेल में कैदियों की संख्या की तुलना में कक्षपालों की संख्या कम है और दानापुर, फुलवारी, पटनासिटी आदि उपकाराओं में एक स्थान पर कई कक्षपाल तीन साल से जमे हैं. इसके बाद इन कक्षपालों को बेऊर जेल में स्थानांतरित कर दिया गया. बेऊर जेल अधीक्षक जितेंद्र कुमार ने कक्षपालों की तैनाती की पुष्टि की.

Posted By; Utpal Kant

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें