30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

मुजफ्फरपुर के SKMCH में इलाजरत चाइनीज बंदी की मौत, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी हुआ पोस्टमार्टम

सेंट्रल जेल प्रशासन ने मुख्यालय और जिला मजिस्ट्रेट को घटना की जानकारी दी, डीएम के आदेश पर पोस्टमार्टम के लिए मेडिकल बोर्ड गठित किया गया, चीनी दूतावास को भी कैदी ली जियाकी की मौत की जानकारी दी गई

मुजफ्फरपुर के SKMCH में इलाजरत चाइनीज विचाराधीन बंदी ली जियाकी (63) की मंगलवार की सुबह 5:19 बजे मौत हो गयी. वह सेंट्रल जेल में बीते शुक्रवार की शाम सुसाइड का प्रयास किया था. चश्मा का शीशा तोड़कर अपने हाथ की नस, सीने व गले को खरोंचने के साथ- साथ अंडकोष को भी जख्मी कर लिया था. जेल में प्राथमिक उपचार करने के बाद उसको बेहतर इलाज के लिए एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया था. जहां, उसका वार्ड नंबर छह में इलाज चल रहा था.

सोमवार की रात 11: 40 बजे उसकी तबीयत बिगड़ गयी. डॉक्टरों ने उसको आइसीयू वार्ड में भर्ती कराया. जहां, मंगलवार की सुबह 5: 19 बजे उसकी मौत हो गयी. बंदी की सुरक्षा में तैनात पुलिस पदाधिकारी विभाष कुमार यादव ने जेल अधीक्षक ब्रिजेश सिंह मेहता को बंदी की मौत मामले की जानकारी दी. चाइनीज बंदी की मौत को लेकर जेल अधीक्षक ने जेल आइजी प्रणव कुमार व जिलाधिकारी सुब्रत सेन को अवगत करा दिया है.

जिलाधिकारी के आदेश पर मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है. मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में एफएमटी विभागाध्यक्ष डॉ कौशल किशोर के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम ने शव का पोस्टमार्टम किया. पोस्टमार्टम की पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी करायी गयी है. शव को फिलहाल सुरक्षित रखा गया है. चाइनीज बंदी की मौत को लेकर मेडिकल ओपी में सुरक्षा में तैनात पुलिस पदाधिकारी विमल कुमार यादव ने अपना फर्द बयान दर्ज कराया है.

बिना वीजा के पकड़ा गया था ली जियाकी

जानकारी हो कि चाइनीज नागरिक ली जियाकी को बीते पांच जून को संदिग्ध स्थिति में लक्ष्मी चौक पर घूमते हुए पकड़ा गया था. पूछताछ के दौरान वह बताया था कि नेपाल का वीजा लेकर वह बीते एक जून को नेपाल पहुंचा था. इसके बाद नेपाल बॉर्डर से बस पकड़ कर बिना वीजा के अवैध रूप से भारत के बिहार राज्य के मुजफ्फरपुर पहुंच गया .

उसके पास से एक काला रंग का बैग मिला जिसमें उसका चाइना का पासपोर्ट, एक वीवो कंपनी का स्क्रीन टच मोबाइल फोन, एक सफेद रंग का मोबाइल चार्जर, एक वीडियो कोच बस का टिकट , चाइनीज भाषा में लिखा हुआ एक विजिटिंग कार्ड, चाइनिज नोट, एप्पल का दाढी ट्रिमिंग मशीन, एक चाइना का मैप, तीन पत्थर की छोटी मूर्ति, तीन छोटा – छोटा पत्थर , दो पासपोर्ट आकार का फोटो बरामद हुआ था.

भारी संया में चाइनीज करेंसी, बिना वीजा के भारत में प्रवेश करने के कारण फॉरनर्स अमेंडमेंट एक्ट में ब्रह्मपुरा थानेदार सुभाष मुखिया के बयान पर थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी. पूछताछ के बाद उसको कोर्ट में प्रस्तुत करके न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था.

जेल अस्पताल के बाथरूम में चश्मा का शीशा तोड़कर किया था सुसाइड का प्रयास

जेल के अधिकारियों ने बताया कि चाइनीज नागरिक ली जियाकी गुरुवार को सेंट्रल जेल में प्रवेश पाया था. उसकी चिकित्सीय जांच होने के बाद जेल अस्पताल में ही रखा गया था. शुक्रवार की शाम जब बंदियों की काउंटिंग हो रही थी तो चाइनीज बंदी बाथरूम में चला गया. इसके बाद अपना चश्मा का शीशा फोड़ लिया और हाथ की नस काट लिया, सीना पर गहरा जख्म बना लिया. अंडकोष को जख्मी कर बाहर निकाल लिया था. दूसरा बंदी जब बाथरूम गया तो उसको खुन से लथपथ देखकर शोर मचाने लगा. जेल अस्पताल में चाइनीज बंदी का प्राथमिक उपचार करने के बाद उसे बेहतर इलाज के लिए एसकेएमसीएच भेजा था. जहां घटना की रात ही डॉक्टरों ने उसके अंडकोष को सेट करके स्टीच कर दिया था.

चाइनीज बंदी की इलाज के दौरान मंगलवार की सुबह मौत हो गयी है. मेडिकल बोर्ड का गठन करके मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम कराया गया है. शव को सुरक्षित शवदाह गृह में रखा गया है . चाइनीज एंबेसी को भी बंदी की मौत को लेकर जानकारी दे दी गयी है.

ब्रिजेश सिंह मेहता, जेल अधीक्षक

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें