28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Munger news : जमीन का पता नहीं और शवदाह गृह का टेंडर कर कार्यादेश जारी

munger news : मुंगेर के लालदरवाजा श्मशान घाट में राज्य सरकार ने 3.90 करोड़ की लागत से शवदाह गृह निर्माण की योजना को स्वीकृति दी है.

Munger news : मुंगेर के लालदरवाजा श्मशान घाट में राज्य सरकार ने 3.90 करोड़ की लागत से शवदाह गृह निर्माण की योजना को स्वीकृति दी है. टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर कार्य एजेंसी को कार्यादेश भी जारी कर दिया गया, लेकिन हकीकत यह है कि इसके लिए अब तक जमीन का पता तक नहीं है. कारण, शवदाह गृह मुंगेर जिले में बनना है और जमीन बेगूसराय जिले की है. इसके कारण जमीन के पेच में अब शवदाह गृह बनाने की योजना बुडको के फाइलों में दम तोड़ रही है.

एक विद्युत व दो लकड़ी शवदाह गृह बनाने की है योजना

बिहार सरकार ने वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए जो बजट पेश किया था, उसमें सात निश्चय योजना के तहत सभी जिला मुख्यालयों में शवदाह गृह निर्माण के लिए बड़ी राशि का प्रावधान किया गया था. ताकि अंतिम संस्कार में लोगोंं को सहूलियत मिले. इसके लिए सरकार ने नगर विकास एवं आवास विकास को राशि आवंटित किया. इसके तहत मुंगेर के लालदरवाजा श्मशान घाट में भी 3 करोड़ 90 लाख 96 हजार की लागत से शवदाह गृह का निर्माण कराया जाना है. जो शवदाह गृह बनना है उसमें एक यूनिट विद्युत चालित शवदाह गृह होगा और एक जोड़ा लकड़ी वाला शवदाह गृह बनाया जाना है. उसी शवदाह गृह में वहां कार्यरत कर्मी के रहने की व्यवस्था होगी. बुडको से मिली जानकारी के अनुसार इस योजना के तहत वहां पर सामुदायिक शौचालय, स्नानागार और अन्य सुविधा का भी विकास किया जाना है, लेकिन यह योजना आज पूरी तरह से अधर में है.

जमीन की जांच-पड़ताल किये बिना बुडको ने कार्यादेश किया जारी

लालदरवाजा श्मशान घाट में जमीन की जांच-पड़ताल किये बिना ही शवदाह गृह बनाने को लेकर नगर विकास एवं आवास विभाग ने डीपीआर तैयार कर उसकी प्रशासनिक स्वीकृति दे दी. इसके बाद उसका टेंडर भी निकाला गया. इसमें टेंडर भी खुला और एजेंसी का भी चयन कर लिया गया. इतना ही नहीं 2023 में ही बिहारशरीफ की चयनित एजेंसी पूजा कंस्ट्रक्शन को कार्यादेश भी जारी कर दिया गया. पर, जब एजेंसी के प्रतिनिधि मुंगेर पहुंचे और जिस जमीन पर श्मशान घाट का निर्माण किया जाना था उस जमीन का एनओसी मांगा तो मामला अटक गया, क्योंकि जमीन मुंगेर जिले के अधीन ही नहीं थी.

मुंगेर व बेगूसराय जिले की जमीन के पेच में फंसा मामला

मुंगेर के गंगा तट लालदरवाजा श्मशान घाट का मुहल्ला मुंगेर नगर निगम के अधीन आता है, लेकिन वहां की जमीन बेगूसराय जिले के साहेबपुरकमाल अंचल के अधीन है. जांच-पड़ताल के बाद जब यह मामला सामने आया तो बुडको ने नगर निगम को शवदाह गृह निर्माण के लिए जमीन उपलब्ध कराने को लेकर पत्राचार किया. निगम प्रशासन ने भी बेगूसराय जिला प्रशासन और साहेबपुर कमाल के सीओ को एनओसी देने के लिए लिखा. सूत्रों के अनुसार जिस जमीन का शवदाह गृह निर्माण के लिए एनओसी मांगा जा रहा है, उस जमीन का मामला कोर्ट में चल रहा है. हालांकि मामला कोर्ट में चले जाने के कारण अभी उस जमीन की खरीद-फरोख्त बंद है. इसके कारण साहेबपुर कमाल अंचल के सीओ एनओसी देने में असमर्थता जता चुके हैं.

बेगूसराय प्रशासन से पत्राचार किया जा रहा

नगर आयुक्त निखिल धनराज ने बताया कि बुडको द्वारा श्मशान घाट का निर्माण कराया जाना है. जिस जमीन पर इसका निर्माण होना है वह जमीन बेगूसराय जिले के साहेबपुर कमाल अंचल में पड़ता है. निगम की ओर से जमीन के लिए बेगूसराय प्रशासन से लगातार पत्राचार किया जा रहा है. जब तक जमीन उपलब्ध नहीं होगी, तब तक निर्माण संभव नहीं है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें