37.3 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

कर्पूरी ठाकुर के बहाने लालू यादव ने साधा अपनों पर निशाना, बोले- वीपी सिंह नहीं चाहते थे मैं बनूं सीएम

राजद सुप्रीमो ने न केवल पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह के संबंध में खुलासे किये हैं, बल्कि मायावती पर भी जमकर हमला बोला. पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित कर्पूरी जयंती समारोह में लालू यादव ने कहा कि कांशीराम ने दलितों को जगाया है और मायावती ने दलितों को डुबोया है.

पटना. जननायक कर्पूरी ठाकुर की जन्म शताब्दी पर आयोजित कार्यक्रम में राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने अपनों पर जमकर निशाना साधा है. राजद सुप्रीमो ने न केवल पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह के संबंध में खुलासे किये हैं, बल्कि मायावती पर भी जमकर हमला बोला. पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित कर्पूरी जयंती समारोह में लालू यादव ने कहा कि कांशीराम ने दलितों को जगाया है और मायावती ने दलितों को डुबोया है. लालू ने मंडल कमीशन लागू करने में आयी मुश्किलें और वीपी सिंह के विरोध का भी खुलासा किया. लालू यादव ने कहा कि वीपी सिंह नहीं चाहते थे कि लालू यादव बिहार के मुख्यमंत्री बने.

कांशीराम और लोहिया को भी मिले भारत रत्न

इससे पूर्व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव और डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कर्पूरी ठाकुर के चित्र पर माल्यार्पण कर उनको श्रद्धांजलि अर्पित की. इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह सहित कई राजद नेता मौजूद रहे. कर्पूरी ठाकुर के भारत रत्न दिये जाने की केंद्र सरकार की घोषणा पर लालू ने कहा कि जननायक कर्पूरी ठाकुर जी समाजिक न्याय के नेता थे. चुनाव नजदीक आ रहा है, तब वोट बढ़ाने के लिए बीजेपी ने कर्पूरी ठाकुर का नाम लेना शुरू कर दिया है. भारत रत्न की उपाधि तो उनको मिलना ही था. उसको तो हम लेकर ही रहते. हमने कांशीराम और लोहिया को भी भारत रत्न देने की मांग की थी. यह हमारा हक है कोई भीख नहीं है. हमलोगों ने वादा किया था कि ठाकुर तेरे अरमानों को दिल्ली तक पहुंचाएंगे. हमारी पार्टी राजद ने उस वादे को पूरा किया.

Also Read: कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न देने का मोदी सरकार ने क्यों लिया फैसला, लालू के बाद तेजस्वी यादव ने भी बताया कारण

वीपी सिंह ने भेजे थे तीन-तीन ऑब्जर्वर

लालू यादव ने कहा कि मंडल कमीशन को लागू करने में वे कई बार दिल्ली भी गये. मंडल कमीशन को हमलोगों ने लागू कराया. किस परिस्थिति में यह लागू हुआ और कैसे लागू हुआ, यह कहना मुश्किल है. वीपी सिंह से मिलने के लिए दिल्ली गये थे. वीपी सिंह यह नहीं चाहते थे कि लालू यादव बिहार का मुख्यमंत्री बने. तीन-तीन ऑब्जर्वर हमारे खिलाफ जांच करने दिल्ली से आए थे. वहीं लालू यादव ने अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं से कहा कि गरीबों को जोड़िये अतिपिछता दलित के घर जाइए और उनको पार्टी से जोड़िये और मजबूत बनाए.

हम लोगों को एकजुट रहना है

वही लालू यादव ने यह भी कहा कि लोग लगे रहते है कि कैसे सरकार के गंठबंधन को तोड़ दिया जाये. ई सब तो होता रहेगा इसका परवाह नहीं करना है. हमलोग को थोड़ा मजबूती के साथ मुकाबला करना है और जीतेंगे हमही लोग. जीतना हमही लोग को है. कितना भी माथा पटक ले. लालू यादव ने कहा कि राजद कभी सांप्रदायिक शक्तियों से समझौता नहीं करेगा. उन्होंने कहा कि गरीब गुरबो को अभी लंबी लड़ाई लड़नी है. बड़ी ताकतें हमें कमजोर करे, तोड़ने की लाख कोशिशें कर ले, हमें एकजुट रहना है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें