24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

एचआइवी संक्रमित के साथ भेदभाव न कर मुख्यधारा में करें शामिल: सीएस

सदर अस्पताल के ऊपरी मंजिल पर स्थित सभागार में मंगलवार को एक दिवसीय कार्याशाला का आयोजन किया गया.

लखीसराय. सदर अस्पताल के ऊपरी मंजिल पर स्थित सभागार में मंगलवार को एक दिवसीय कार्याशाला का आयोजन किया गया. सिविल सर्जन डॉ बीपी सिन्हा की अध्यक्षता में जिले के एचआइवी एड्स संक्रमित व उनके परिवार के लिए सरकार द्वारा चलायी जा रही योजना की समीक्षा को लेकर इस कार्यशाला का आयोजन किया गया. जिसमें जिले के लगभग सभी विभाग के जिला स्तरीय प्रतिनिधि शामिल हुए. कार्यशाला के माध्यम से एचआइवी एड्स संक्रमित व्यक्ति को समाज के मुख्य धारा में बिना किसी भेदभाव के शामिल करने को लेकर गंभीरता पूर्वक विचार विमर्श किया गया. उनके लिए सरकार द्वारा चलायी जा रही योजना के लाभ से अवगत कराने के लिए जागरूकता अभियान चलाने का भी निर्णय लिया गया. कार्यशाला के माध्यम से जिले में एचआइवी संक्रमण व एड्स के साथ जी रहे लोग, इनके प्रभावित बच्चों और अत्यधिक जनसंख्या वाले को क्रमशः सामाजिक सुरक्षा कार्यक्रम एवं योजना से लाभान्वित किये जाने, कानूनी संरक्षण उपलब्ध कराने और उनके प्रति हो रहे भेदभाव को खत्म किये जाने हेतु एक प्लेटफार्म पर बैठक की गयी. सीएस डॉ बीपी सिन्हा ने कार्यक्रम की उद्घाटन करते हुए कहा कि जिला के सभी एचआइवी संक्रमित व्यक्तियों को राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा दिये जा रहे कल्याणकारी योजना का लाभ दिलवाने हेतु सभी विभाग से संपर्क कर किया जायेगा. जिससे कि सभी संक्रमित लोगों को मुख्य धारा में लाया जा सके. जिला विधिक सेवा प्राधिकार के रिटेनर अधिवक्ता सीतेश सुधांशु ने विस्तार से एचआइवी संक्रमित लोगों के हितार्थ बनाये गये अधिनियम को समझाया. उन्होंने कहा कि यह अधिनियम सभी नियोजन संस्था एवं नियोजन इकाईयों से भेदभाव रहित व्यवहार अपनाने पर बल देता है. यदि किसी परिस्थिति में नियम का उल्लंघन पाया जाता है तो व्यक्ति सजा आर्थिक दंड या दोनों का भागी होगा. डीएस डॉ राकेश कुमार ने बताया कि सदर अस्पताल में आने वाले सभी व्यक्तियों के साथ भेदभाव रहित व्यवहार एवं नियमानुकूल उपलब्ध निशुल्क जांच की सेवाएं दी जायेगी. जिला एड्स नियंत्रण पदाधिकारी ने कहा कि एचआइवी संक्रमित जरुरतमंद लोगों को नियमानुसार रक्त की उपलब्धता के आधार पर निःशुल्क रक्त आपूर्ति की जायेगी. रेलवे से आये प्रतिनिधि से अनुरोध किया गया कि एचआइवी संक्रमित व्यक्तियों को उनके नियमित एआरभी दवा सेवन हेतु संबंधित एआरटी सेंटर तक आने जाने हेतु रियायती व निशुल्क यात्रा प्रमाण पत्र दिया जाय. श्रम अधीक्षक कार्यालय से आए प्रतिनिधि से अनुरोध किया गया कि संक्रमित परिवार के सदस्यों हेतु श्रम कार्ड उपलब्ध करायें. जिला नियोजन पदाधिकारी कार्यालय से आये प्रतिनिधि ने कहा कि नेशनल सर्विस कैरियर पोर्टल में जाकर कोई भी व्यक्ति रजिस्ट्रेशन कराकर इस योजना का लाभ ले सकता हैं. एलडीएम ने बताया कि परवरिश के अंतर्गत सभी जरूरतमंद लोगों का बैंक खाता खोला जा रहा है. मौके पर एचआइवी डीपीएम अरविंद कुमार राय, डॉ श्रीनिवास शर्मा, आंनद कुमार, मनोरंजन कुमार एवं दिनेश कुमार सहित अन्य लोग मौजूद थे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें