नियोजित शिक्षकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल प्रारंभ

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

लखीसराय : बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के तत्वावधान में सोमवार से नियोजित प्रारंभिक एवं मध्य विद्यालयों के शिक्षकों का हड़ताल प्रारंभ हो गया. इस दौरान जिले के कई प्रारंभिक एवं मध्य विद्यालयों में तालाबंदी का नजारा भी देखा गया, तो कुछ विद्यालय खुले हुए थे लेकिन शिक्षकों की उपस्थिति नदारद थी. शायद इनमें से कई शिक्षकों को शिक्षण ड्यूटी में भी लगाया गया है.

इसके चलते जिलेभर के प्रारंभिक एवं मध्य विद्यालयों में पठन-पाठन का कार्य ठप पड़ने लगी है, इस बीच बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के तत्वावधान में सोमवार को जिला मुख्यालय स्थित केआरके मैदान में अजय कुमार की अध्यक्षता में नियोजित शिक्षक संगठनों की बैठक आयोजित की गयी, जिसमें अपनी मांगों को पूरा होने तक हड़ताल जारी रखने का निर्णय लिया गया एवं आगामी बैठक 19 फरवरी 2020 को आयोजित किये जाने का फैसला लिया गया.
इस बीच जिला शिक्षा पदाधिकारी सुनयना कुमारी ने बताया कि सोमवार को नियोजित शिक्षकों की हड़ताल के दौरान जिलेभर में कुल 1559 नियोजित शिक्षक अपने ड्यूटी पर से अनुपस्थित पाये गये हैं. विभागीय निर्देशानुसार नो वर्क नो पे के आलोक में इनके वेतन कटौती करने का निर्देश दिया गया है.
उन्होंने बताया कि जिलेभर में प्रारंभिक एवं मध्य विद्यालयों में लगभग 3002 नियोजित शिक्षक प्रतिनियुक्त हैं. जिला शिक्षा पदाधिकारी सुनयना कुमारी ने कहा कि वार्षिक माध्यमिक परीक्षा 2020 का संचालन के बाद हड़ताली शिक्षकों के मामलों पर शिक्षा विभाग की ओर से विशेष बातचीत किया जायेगा.
डीपीओ उपेंद्र कुमार सिंह ने भी कहा की जिन नियोजित शिक्षकों के द्वारा अपने ड्यूटी में अनुपस्थित पाये जायेंगे, उनके वेतन काट लिये जायेंगे. उन्होंने कहा विभाग का निर्देश है कि नो वर्क नो पे का नियम लागू होगा. उन्होंने कहा कि नियोजित शिक्षकों के हड़ताल कामयाब नहीं हो सकेंगे, हड़ताल के बावजूद भी आधे शिक्षक ड्यूटी पर तैनात हैं.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें