24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

बिहार शिक्षक भर्ती के इन अभ्यर्थियों की नहीं होगी काउंसलिंग, जानिए केके पाठक ने क्यों जारी किया आदेश

बिहार के सरकारी स्कूलों में शिक्षक पद के लिए बिहार लोक सेवा आयोग द्वारा अनुशंसित उन अभ्यर्थियों की काउंसलिंग नहीं होगी, जिन्होंने छह महीने के भीतर आधार कार्ड में अपना फोटो या नाम बदल लिया है. ऐसे अभ्यर्थियों के मामले संदिग्ध स्थिति में रखे जायेंगे. इस मामले की गहनता से जांच की जायेगी.

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) के दूसरे चरण में नियुक्त शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसलिंग 26 दिसंबर से शुरू हो गई है. लेकिन कुछ अभ्यर्थी ऐसे भी हैं जिनकी काउंसलिंग पर रोक लगा दी गई है. ये वो अभ्यर्थी हैं जिनकी अनुशंसा बिहार लोक सेवा आयोग ने बिहार के सरकारी स्कूलों में शिक्षक पद के लिए की थी, लेकिन इनके पास आधार नंबर या आधार से जुड़ा मोबाइल नंबर नहीं है. इसके साथ ही उन शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसलिंग पर भी रोक लगा दी गई है, जिन्होंने छह महीने के भीतर आधार कार्ड में अपना फोटो या नाम बदल लिया है. ऐसे अभ्यर्थियों के मामले संदेहास्पद स्थिति में रखे जायेंगे. इस मामले की गहनता से जांच की जायेगी. इस मामले में जरूरी दिशा निर्देश शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव के के पाठक ने राज्य के सभी जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों को दिए हैं.

‘एम आधार एप’ से पता किया जाएगा किसने कब बदला आधार का डिटेल

दरअसल, अपर मुख्य सचिव की जिला शिक्षा पदाधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से हुई चर्चा में यह पता चला है कि अभ्यर्थियों का आधार लिंक मोबाइल नंबर अगर ‘एम आधार एप’ पर डाला जाए, तो ओटीपी के माध्यम से उक्त अभ्यर्थी का पूरा इतिहास जाना जा सकता है कि अभ्यर्थी ने कब-कब अपना फोटो, नाम, पता इत्यादि बदला है. इससे यह पता चलेगा कि संबंधित अभ्यर्थी ने पिछले दिनों में अपने आधार कार्ड में क्या-क्या बदलाव किए हैं.

आधार में किए गए बदलाव जांचने का निर्देश

इसके मद्देनजर अपर मुख्य सचिव के के पाठक ने जिला शिक्षा पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि अनिवार्य रूप से काउंसलिंग में आने वाले सभी अभ्यर्थियों के आधार में किए गए बदलाव के कार्यों के इतिहास को देखें और संतुष्ट हो लें कि कहीं कोई गड़बड़ी तो नहीं है. गड़बड़ी प्रतीत होने पर काउंसलिंग स्थगित किया जाए.

कई अभ्यर्थियों ने फोटो बदल कर विभाग को किया गुमराह

आधिकारिक आदेश में साफ किया गया है कि काउंसलिंग के दौरान इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखा जाए कि यदि किसी अभ्यर्थी ने हाल के छह महीने में अपने आधार कार्ड के डिटेल जैसे अपना फोटो या नाम बदला है, तो ऐसे मामलों को संदेहास्पद स्थिति में रखा जाए एवं उनकी कांउसलिंग को स्थगित रखा जाए. दरअसल विभाग के पास ऐसे कई मामले आए हैं. जिसमें अभ्यर्थियों ने नियोजन की कवायद के दौरान आधार में फोटो बदल कर विभाग को गुमराह किया है.

Also Read: बिहार शिक्षक भर्ती में बड़ा खेल, एडमिट कार्ड और ज्वाइनिंग में अलग-अलग फोटो, फर्जी अध्यापकों पर FIR का आदेश

काउंसलिंग केंद्र पर ही खोले जा रहे बैंक अकाउंट

नियुक्त शिक्षकाें को समय पर वेतन मिले इसको देखते हुए काउंसलिंग केंद्र पर ही डॉक्यूमेंट की जांच के बाद बैंक एकाउंट खोला जा रहा है. इसके लिए काउंसलिंग केंद्रों पर विभिन्न बैंकों की ओर काउंटर खोले गए हैं. जिला शिक्षा पदाधिकारी अमित कुमार ने बताया कि शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसलिंग के बाद जीरो बैलेंस पर बैंक एकाउंट खोला जा रहा है. जिस दिन नव नियुक्त शिक्षक स्कूल में पदस्थापित होंगे उनका वेतन शुरू हो जायेगा. इसी को देखते हुए बैंक एकाउंट खोला जा रहा है. ताकि उनको वेतन भुगतान करने में परेशानी नहीं हो. प्रथम चरण में नियुक्त किये गये 3200 शिक्षकों को नवंबर महीने का वेतन भुगतान किया जा चुका है.

तीसरे दिन 437 शिक्षक अभ्यर्थियों की हुई काउंसेलिंग

जिले में तीसरे दिन गुरुवार को कुल 437 शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसलिंग की गयी. इसमें राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में 112, शहीद राजेंद्र प्रसाद सिंह उच्च माध्यमिक विद्यालय में 123 और कमला नेहरू उच्च माध्यमिक विद्यालय में 202 शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसेलिंग की गयी.

Also Read: BPSC TRE 2.0: बिहार शिक्षक नियुक्ति में इस बार शहर या गांव, पोस्टिंग में किसे मिलेगी प्राथमिकता?

भीड़ को देखते हुए खोला गया अतिरिक्त काउंटर

शिक्षक अभ्यर्थियों को परेशानी न हो और एक केंद्र पर अधिक भीड़ न हो इसको देखते हुए जिला शिक्षा कार्यालय ने गुरुवार से कमला नेहरू केंद्र , गर्दनीबाग में काउंसलिंग शुरू की है. इस केंद्र पर गुरुवार को कक्षा 11 वीं एवं 12 वीं के भौतिकी, रसायन विज्ञान, वनस्पति शास्त्र, जंतु विज्ञान एवं गृह विज्ञान विषय के शिक्षकों की काउंसलिंग की गयी. जबकि राजकीय शहीद राजेंद्र प्रसाद उच्च माध्यमिक विद्यालय, गर्दनीबाग में कक्षा छह से आठ अंग्रेजी एवं उर्दू विषय के शिक्षकों की काउंसलिंग हुई. राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय, गर्दनीबाग में कक्षा 9 से 10 के संगीत एवं संस्कृत विषय के शिक्षकों की काउंसलिंग की गयी.

काउंसलिंग के लिए बनाए गए हर काउंटर पर लगाना होगा बैनर

इधर, केके पाठक गुरुवार को पटना के गर्दनीबाग स्थित शहीद राजेंद्र प्रसाद उच्च माध्यमिक विद्यालय में बनाये गये काउंसलिंग केंद्र के निरीक्षण के लिए पहुंचे. जहां उन्होंने काउंसलिंग के लिए बनाये गये सभी काउंटरों का जायजा लिया. इसके साथ ही सभी काउंटरों पर किन दस्तावेजों की जांच की जा रही है, इसके बारे में शिक्षक अभ्यर्थियों को बताने के लिए बैनर लगाने का निर्देश दिया.

Also Read: BPSC TRE मल्टीप्ल रिजल्ट की उम्मीद कर रहे अभ्यर्थियों को अतुल प्रसाद ने दी सलाह, काउंसलिंग को लेकर कही ये बात

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें