28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

भीषण गर्मी को ले 8 जून तक बच्चों को स्कूल से छुट्टी

8 जून तक बच्चों को स्कूल से छुट्टी

भीषण गर्मी को ले 8 जून तक बच्चों को स्कूल से छुट्टी, शिक्षक आयेंगे ससमय स्कूल

प्रतिनिधि, ठाकुरगंज

सूबे में पड़ रही भीषण गर्मी को देखते हुए मुख्यमंत्री के आदेश पर मुख्य सचिव ने सरकारी स्कूलों को आठ जून तक बंद करने का फरमान जारी कर दिया. परंतु इस आदेश में शिक्षकों को लेकर कोई स्पष्ट आदेश नहीं होने के कारण गुरुवार को अन्य दिनों की भांति पौ फटते ही शिक्षक स्कूलों की तरफ दौड़ लगाते दिखे. सुबह छह बजे तक शिक्षकों संग सेल्फी भेजने के फरमान को अनमने ढंग से पूरा करने के बाद स्कूलों में शुरू हुआ गप्प बाजी का दौर . यह हालत दोपहर डेढ़ बजे तक रही. जब तक स्कूल बंद नहीं हो गये. इस मामले में जब शिक्षकों ने बताया कि शिक्षा विभाग के द्वारा कोई स्पष्ट आदेश नहीं होने के कारण हाजरी कटने के डर से स्कूल आना पड़ा. विद्यालय और स्वयं का नाम नहीं छापने की शर्त पर ठाकुरगंज प्रखंड के कई शिक्षकों ने बताया कि सरकार ने गर्मी और लू से बचने के लिए जानवरों को भी इंतजाम करने और कूलर, पंखा लगाने का निर्देश दिया है, लेकिन सरकारी विद्यालयों में पढ़ाने वाले शिक्षकों को गर्मी और लू से बचने के लिए कोई इंतजाम नहीं किया गया है. शिक्षकों ने आक्रोश जताते हुए कहा कि बिहार में शिक्षकों का हाल जानवरों से भी बदतर है. शिक्षकों ने कहा कि विद्यालय को बिहार सरकार के मुख्य सचिव और जिलाधिकारी की ओर से बंद करने का निर्देश जारी किया गया है. बच्चे गर्मी और लू से बचेंगे और बीमार नहीं होंगे. शिक्षकों ने बताया कि हमें भी गर्मी और लू लगती है. कूलर, पंखा, और एसी के बिना विद्यालय में एक पल भी रहना मुश्किल है. शिक्षकों ने जिलाधिकारी और बिहार सरकार के द्वारा जारी किए गए आदेश पर असमंजस होने की बात कही है. महिला शिक्षिकाओं की स्थिति ज्यादा खराब है, उन्हें सुबह 4 बजे उठकर स्कूल आने के लिए तैयार होना पड़ता है, वहीं डेढ़ बजे दोपहर में लौटना पड़ता है, जिससे बीमार होने का खतरा बढ़ जाता है. महिला शिक्षकों ने बताया कि गर्मी से हाल बेहाल है. एक तो स्कूलों में बिजली की समस्या बनी रहती है, ऊपर से तापमान इतना ज्यादा है. ऐसे में हालत सबकी खराब है. जब बच्चों के लिए स्कूल बंद है तो सबके लिए बंद हो जाना चहिये. इस मामले में शिक्षकों का कहना है कि शिक्षा विभाग संवेदनहीन हो गया है. बच्चों की छुट्टी और शिक्षकों की ड्यूटी कहां तक सही है. सुबह 6 बजे डेढ़ बजे तक शिक्षक आज भी ड्यूटी कर रहे हैं

कहते है अधिकारी

वही इस मामले में जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया कि भीषण गर्मी को देखते हुए मुख्यमंत्री के आदेश पर सरकारी स्कूलों में आठ जून तक कक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं. इस दौरान स्कूलों में पढ़ाई नहीं होगी. उन्होंने बताया कि स्कूल बंद नहीं किया गया है, बल्कि कक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं. इस दौरान शिक्षण कार्य नहीं होंगे, लेकिन शिक्षक स्कूल में रहते हुए नामांकन, कापी जांच सहित अन्य कार्य करेंगे. वे स्कूल से संबंधित कार्य में प्रधानाध्यापक का सहयोग करेंगे. स्कूलों का निरीक्षण कार्य भी चलता रहेगा. उन्होंने शिक्षकों को निर्धारित समय पर स्कूल आने के लिए निर्देशित किया है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें