महानंदा एक्सप्रेस से 57 बोरी सुपारी जब्त

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

* कस्टम विभाग ने गुप्त सूचना के आधार पर की छापेमारी
कटिहार : कटिहार के प्लेटफार्म संख्या चार पर महानंदा एक्सप्रेस के पार्सल यान से बुधवार को कस्टम ने छापेमारी कर 57 बोरी नेपाली सुपारी जब्त किया है. जिसकी कीमत पांच लाख आंकी गयी है.

कस्टम के अधिकारियों को गुप्त सूचना मिली थी कि महानंदा एक्सप्रेस के पार्सल यान में भारी मात्र में नेपाली सुपारी बुक कर दिल्ली ले जाया जा रहा है. इसकी सूचना मिलते ही कस्टम के पदाधिकारियों ने महानंदा एक्सप्रेस के पार्सल यान को खुलवाकर छानबीन की तो 57 बोरी नेपाली सुपारी मिली. जिसे जब्त कर मैमों जीआरपी को कस्टम विभाग ने सौंपी है.

अलीपुरद्वार से दिल्ली जा रही महानंदा एक्सप्रेस (15483) के पार्सल यान में 57 बोरी नेपाली सुपारी का बुकिंग अलीपुरद्वार में किया गया था. सुपारी को दिल्ली में उतारा जाना था. कस्टम विभाग के पदाधिकारी के निर्देश पर निरीक्षक दीपक कुमार सहित अन्य कस्टम पदाधिकारी व हवलदार साकेंद यादव, सिपाही ए आलम ने छापेमारी कर नेपाली सुपारी को जब्त कर लिया.

* महिला का चैन लूटा
कटिहार : सहायक थाना क्षेत्र के न्यू कॉलोनी निवासी चंदन झा की पत्नी पूनम झा से अज्ञात युवक ने गले से चैन छीन कर फरार हो गया. पीड़िता ने स्थानीय थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी. अवर निरीक्षक संजीव कुमार ने बताया कि पीड़िता अपने क्वार्टर नंबर 354 बी में अकेली थी.

उसी समय एक युवक आया और कहा कि आपने कंप्लेन लिखाया था, रेलवे को-ऑपरेटिव गैस एजेंसी से आया हूं कहकर दरवाजा खोलने को कहा, जब मैंने दरबाजा खोला तो उन्होंने मेरे गले में झपट्टा मारा और मेरा चैन लेकर फरार हो गया. उक्त चैन की कीमत तकरीबन 80 हजार रुपये है. फिलहाल प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस अनुसंधान में जुट गयी है.

* तस्करों के लिए सुलभ साधन है ट्रेन
कटिहार : इन दिनों ट्रेन तस्करों के लिए तस्करी का समान लाने व ले जाने के लिए सुगम साधन बन गया है. ट्रेन में आसानी से तस्कर अपने तस्करी का लाखों-करोड़ों का सामान यत्र -तत्र रखकर एक जगह से दूसरे जगह ले जा रहे हैं.

रेल पुलिस व कस्टम के द्वारा कभी-कभी छापेमारी में तस्करी का सामान हाथ लग जाता है लेकिन तस्कर पकड़ में नहीं आता है. यही नहीं ट्रेन के पर्सल यान में बजाप्ते माल को बुक करा लेते हैं.

पूर्वोत्तर सीमांत रेल मंडल के कटिहार रेलवे स्टेशन होकर लंबी दूरी की कई ट्रेने चलती है. जिसमें कई बार आरपीएफ, जीआरपी एवं कस्टम ने कछुआ, सांप, नेपाली सुपारी, चायनिज मोबाइल सहित कई विदेशी माल पकड़ा है. बावजूद इन अवैध मालों को तस्कर नकली कागजात बनाकर रेलवे में बुकिंग करा कर आसानी से तस्करी कर रहे हैं.

कटिहार पार्सल कार्यालय मंगल बाजार में बुकिंग के लिए आये नेपाली सुपारी सहित अन्य अवैध सामानों को जब्त किया है.सबसे बड़ा सवाल है कि ट्रेन में तस्करी का सामान बेखौफ तस्कर ट्रेन के द्वारा यत्र व तत्र ले जाते हैं. जीआरपी व आरपीएफ इसे रोकने में असक्षम साबित होते हैं. क्योंकि स्काउट पार्टी ट्रेन में एक-एक सामान की तालाशी करती है तो फिर तस्करी का सामान सौ किलोमीटर का सफर कैसे तय करती है.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें