कटिहार में जनसभा से लौटते समय कन्हैया कुमार के काफिले पर फेंका गया जूता

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

कटिहार : नागरिकता संशोधन कानून, एनआरसी और एनपीआर के खिलाफ जन-गण-मन यात्रा से वापस लौटने के दौरान जेएनयू के पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष व सीपीआई नेता कन्हैंया कुमार पर शहर के शहीद चौक पर कुछ लोगों ने जूता-चप्पल फेंका और पोस्टर लहराकर विरोध प्रकट किया. इस दौरान कुछ देर के लिए वहां अफरातफरी मच गयी. कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रहने के कारण बात बिगड़ने से पहले ही पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगों को हटा दिया. कन्हैया कुमार शहर के राजेंद्र स्टेडियम में आम सभा को संबोधित करने के लिए आये हुए थे.

सभा को संबोधित करते हुए जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष व सीपीआई नेता कन्हैया कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि देश में नागरिकता संशोधन कानून की जरूरत ही नहीं थी. विश्व के किसी भी व्यक्ति को नागरिकता उपलब्ध कराने का जिक्र संविधान में ही दर्ज है. ऐसे में धर्म के आधार पर केंद्र की मोदी सरकार सीएए के जरिये देश को बांटने की कोशिश में जुटे हैं. उन्होंने कहा कि भले एनआरसी लागू करने की बात नहीं कही जा रही है. लेकिन, एनपीआर ही एनआरसी का पहली पहली सीढ़ी है. इसलिए एनपीआर पर सख्त विरोध है.

उन्होंने कहा कि देश की हालत काफी खराब है. देश में रोजगार नहीं है. गरीबी बढ़ रही है. अर्थव्यवस्था खराब हो रही है. मोदी सरकार के बनने के बाद अब तक 3.16 करोड़ लोगों की नौकरी जा चुकी है. जन सरोकार के मुद्दे पर लोग सवाल नहीं पूछे. इसलिए मोदी सरकार इस तरह के कानून लाकर लोगों का ध्यान भटका रही है. उन्होंने कहा कि देश के 70 प्रतिशत संपत्ति मात्र 67 लोगों के पास है. यही 67 लोग इस देश को चला रहे है. देश के 135 करोड़ आबादी पर यही लोग राज कर रहे हैं और अपने मन मुताबिक कानून ला रहे हैं. इसलिए सबको साथ आकर विरोध करना चाहिए. यह कानून सिर्फ मुसलमानों का अहित नहीं करेगा. बल्कि, सभी समुदाय और धर्म को प्रभावित करेगा.

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कहते हैं कि बिहार में एनआरसी लागू नहीं होगा. अगर वह इस मामले में संवेदनशील है, तो विधानसभा में इसके खिलाफ प्रस्ताव पारित कराएं. इसके स्थानीय पूर्व सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री तारिक अनवर, भाकपा माले के विधायक महबूब आलम ने संबोधित किया. मंच संचालन कांग्रेस नेता सह कदवा विधायक डॉ शकील अहमद खान ने किया. राजेंद्र स्टेडियम से आम सभा समाप्त होने के बाद कन्हैया का काफिला जब शहीद चौक होकर गुजर रहा था, तब कुछ लोगों ने कन्हैया के काफिले पर जूता फेंका और पोस्टर लहराया. पुलिस की कड़ी सुरक्षा के बीच उनके काफिले को बाहर निकाला.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें