1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. jamui
  5. villagers of baratand village are out of government schemes cpi male protests

बाराटांड़ गांव के ग्रामीण सरकारी योजनाओं हैं कोषों दूर, भाकपा माले ने किया प्रदर्शन

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
बाराटांड़ गांव के ग्रामीण सरकारी योजनाओं हैं कोषों दूर, भाकपा माले ने किया प्रदर्शन
बाराटांड़ गांव के ग्रामीण सरकारी योजनाओं हैं कोषों दूर, भाकपा माले ने किया प्रदर्शन

जमुई: चकाई प्रखंड अंतर्गत पंचायत ठाढी पंचायत के बाराटांड गांव के पुजहर समुदाय के लोगों ने भाकपा माले के नेतृत्व में सडक निर्माण कराने एवं नल-जल योजना चालू कराने को लेकर प्रदर्शन किया. भाकपा माले चकाई विधानसभा प्रभारी मनोज कुमार पाण्डेय ने कहा कि यह पंचायत जमुई जिला में माओवाद प्रभावित क्षेत्र माना जाता है. यहां की लगभग योजना कागजों पर फाईनल हो जाता है. उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र के नाम पर कोई भी पदाधिकारी इस इलाके में नहीं जाते हैं. इसके कारण जनप्रतिनिधियों और पदाधिकारी के मेल से सभी योजनाओं को कागज पर फाईनल दिखा कर पैसे की निकासी कर ली जाती है .

बाराटांड गांव जंगल और पहाडों से घिरा हुआ है. इस गांव में आज तक कोई सडक नहीं बनी हुई है. पूरे गांव की गली कीचड़ मय रहती है. वहीं निरीह पुजहर समुदाय के लोगों के बीच लाकडाउन के वक्त में भी मुखिया या किसी अन्य जनप्रतिनिधि के द्वारा न साबुन और न ही मास्क बांटने की कोशिश हुई है.

वहीं माओवादी के नाम पर जब सर्च अभियान चलाया जाता है तो इन गरीबों को बेवजह परेशान भी किया जाता है. लगभग 300 की आबादी में चार पांच लोगों को ही सिर्फ हस्ताक्षर करना आता है. इस गांव के लोगों की अशिक्षा के कारण लोगों ने इनलोंगो का हमेशा शोषण किया है. प्रदर्शन में भाकपा माले के उत्तरी एरिया कमेटी के सचिव काॅमरेड बासुदेव हांसदा, खूबलाल राणा, समेत बाराटांड गांव के पुजहर समुदाय के शुकर पुजहर, कानू नैया, जानकी पुजहर, एतवारी पुजहर, चुरामन पुजहर, कांग्रेस पुजहर, मनमा देवी, समेत दर्जनो की संख्या में मौजूद थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें