गया जंक्शन पर 30 लाख रुपये के मेफड्रोन के साथ धंधेबाज गिरफ्तार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

गया: गया रेलवे स्टेशन स्थित एक नंबर प्लेटफॉर्म पर गुरुवार की देर रात आरपीएफ की टीम ने 30 लाख रुपये के (820 ग्राम मेफेड्रोन) ड्रग्स के साथनशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले गिरोह के एक सदस्य को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार धंधेबाज की पहचान यूपी के प्रतापगढ़ जिले के रहनेवाले रोशनलाल के रूप में की गयी है. पकड़े गये धंधेबाज के पास नशे की 30 गोलियां भी जब्त की गयी हैं. इसकी कीमत 10 हजार रुपये है. आरपीएफ इंस्पेक्टर एएस सिद्दीकी ने बताया कि सूचना मिली थी कि एक युवक ड्रग्स लेकर गया रेलवे स्टेशन से दिल्ली जानेवाला है. पुलिस ने त्वरित कारवाई करते हुए एक स्पेशल टीम बनायी. उक्त टीम में आरपीएफ सब इंस्पेक्टर विक्रम देव सिंह, रवि कमल, राजीव कुमार, एसपी साहू व विकास कुमार शामिल किये गये थे.

आरपीएफ इंस्पेक्टर ने उक्त टीम में शामिल अधिकारियों व जवानों को एक नंबर प्लेटफॉर्म से लेकर पोर्टिको तक तैनात कर दिया, जैसे ही धंधेबाजएक नंबर प्लेटफॉर्म पर पहुंचा, पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया व पूछताछशुरू कर दी. पूछताछ के दौरान उसके पॉकेट से मेफेड्रोन जब्त की गयी. साथ ही पिछले पॉकेट से नशे की 30 गोलियां मिली. पुलिस गिरफ्तार कर उसे थानेलायी. पूछताछ के बाद पटना ब्रो की नारकोटिक्स की टीम के हवाले करदिया. गिरफ्तार रोशन लाल ने पुलिस को बताया कि वह गया के ही एक युवक से ड्रग्स खरीदता था और दिल्ली व मुंबई में बेचता था. पुलिस ने बताया कि युवक ने गया शहर के कुछ ठिकानों के बारे में भी जानकारी दी है. एक स्पेशल टीम बना कर छापेमारी की जायेगी.
'म्याऊं-म्याऊं' के नाम से जाना है मेफेड्रोन
तस्कर ने बताया कि मेफेड्रोन बाजार में 'म्याऊं-म्याऊं' के नाम से जाना जाता है. खरीदार इसे 'म्याऊं-म्याऊं' नाम से संबोधित करते हैं. बड़े-बड़े बियर बार में इसे असानी से खपाया जाता है. तस्कर ने अपना गुनाह कबूल करते हुए कहा कि वह पहले दिल्ली में ड्रग्स बेचता था. बाद में मुंबई के बड़े-बड़े बियर बार में इसे बेचना शुरू किया. तस्कर ने बताया कि ड्रग्स खरीदने के बाद राजधानी एक्सप्रेस पकड़ कर दिल्ली जाने की तैयारी में था. इसी दौरान आरपीएफ की टीम ने उसे पकड़ लिया.
Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें