जन्माष्टमी की धूम, मंदिरों में जुटी श्रद्धालुओं की भीड़

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

गया : भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव के पर्व कृष्ण जन्माष्टमी को लेकर सारी तैयारियां पूरी हो गयी हैं. शुक्रवार को विष्णुपद रोड स्थित कृष्णद्वारिका व टिल्हा महावीर स्थान स्थित शुभ वृंदावन मंदिर में कृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम से मनायी जायेगी.

कृष्णद्वारिका मंदिर के व्यवस्थापक अमरनाथ धोकड़ी ने बताया कि जन्माष्टमी को देखते हुए मंदिर को फूलों व आकर्षक लाइट से सजाया गया है. यहां शाम के वक्त वैदिक मंत्रोच्चार के बीच भगवान के आगमन की खुशी मनायी जायेगी.
उन्होंने बताया कि मंदिर में हर वर्ष जन्माष्टमी के मौके पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ होती है. ऐसे में यह कोशिश है कि श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो. वहीं शुभ वृंदावन मंदिर के मुख्य पुजारी स्वामी अरुणानंद ने बताया कि सुबह 10 बजे से शाम तक जन्माष्टमी पर राधा कृष्ण की पूजा होगी. इसके बाद भजन मंडली भजन की प्रस्तुति करेगी.
रात 12 बजे जब भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के साथ अभिषेक होगा, पूजन व महाआरती होगी. वहीं 24 अगस्त को सुबह 10 बजे तक प्रसाद का वितरण होगा. वहीं श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पूजा समिति नौरंगा मानपुर तैयारी पूरी कर ली है. जहां 25 अगस्त को शोभायात्रा निकाली जायेगी. इस संबंध में समिति के अध्यक्ष अमित यादव ने बताया कि शोभायात्रा एक बजे नौरंगा से शुरू होगी. जो आजाद पार्क तक जायेगी.
कृष्ण जन्मोत्सव समारोह का हुआ शुभारंभ : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्‍वरीय विश्‍वविद्यालय सिविल लाइन स्थित केंद्र में गुरुवार को श्रीकृष्ण जन्मोत्सव समारोह का उद्घाटन वार्ड पार्षद सारिका वर्मा ने किया. केंद्र संचालिका ब्रह्माकुमारी शीला बहन ने कहा कि श्रीकृष्ण का जन्म द्वापर युग में न होकर सतयुगी सुख की दुनिया में हुआ था.
इस्कॉन में होंगे कई कार्यक्रम
रेडक्रॉस रोड स्थित इस्कॉन मंदिर में जन्माष्टमी को लेकर कई कार्यक्रम होंगे. जिसकी तैयारियां चल रही हैं. इस संबंध में मंदिर प्रबंधक जगदीश श्याम दास ने प्रेसवार्ता की. उन्होंने बताया कि 24 अगस्त की सुबह साढ़े चार बजे से मंगल आरती, साढ़े सात बजे से दर्शन आरती व गुरु पूजा का कार्यक्रम होगा.
सुबह आठ बजे भागवत कथा होगी. शाम छह बजे आरती, इस्कॉन गर्ल्स फोरम द्वारा नृत्य की प्रस्तुति होगी व स्कॉन यूथ ड्रामा प्रस्तुत करेगा. रात 12 बजे मटकी फोड़ का कार्यक्रम होगा. वहीं 25 अगस्त को इस्कॉन के संस्थापक आचार्य श्रील प्रभुपाद की व्यासपूज व नंद उत्सव का कार्यक्रम होगा.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें