16.1 C
Ranchi
Friday, February 23, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeबिहारपटनाबिहार: बारिश के बाद नदी का बढ़ा जलस्तर, बांध में पड़ी दरार, बाढ़ के खतरे से ग्रामीणों में दहशत

बिहार: बारिश के बाद नदी का बढ़ा जलस्तर, बांध में पड़ी दरार, बाढ़ के खतरे से ग्रामीणों में दहशत

‍Flood Update: बिहार में बारिश के बाद कई नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी हुई है. लोकाइन नदी में पानी के बढ़ने से बाढ़ का खतरा बढ़ चुका है. इस वजह से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है. लोगों को बाढ़ की चिंता सताने लगी है.

‍Flood Update: बिहार में बारिश के बाद कई नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी हुई है. लोकाइन नदी में पानी के बढ़ने से बाढ़ का खतरा बढ़ चुका है. इस वजह से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है. राजधानी पटना के फतुहा में स्थित शिवचक गांव में बरसाती नदी लोकाइन नदी का पानी बढ़ चुका है. यहां ग्रामीणों के प्रयास से सालों पहले जमींदारी बांध बनाया गया था. लेकिन, पानी के तेज बहाव कारण अब्दाचलक और निमी गांव के बीच दरार पड़ चुकी है. वहीं, बांध पर दरार पड़ने के बाद जल संसाधन विभाग के अधिकारियों ने शुक्रवार को दौरा किया. यहां बांध के उत्तरी छोर पर बैरिकेडिंग लगाया गया है. इसके बाद भी लोकाइन नदी के जलप्रवाह तेजी से जारी है. ग्रामीणों ने यहां मिट्टी को रोकने की कोशिश भी की है. नदी का जलस्तर बढ़ने और बांध में दरार आने के बाद ग्रामीणों को बाढ़ की चिंता सताने लगी है.

सोन नदी के जलस्तर में भी हुई बढ़ोतरी

पिछले दिनों हुई बारिश ने किसानों को राहत दी है. नदियों में पानी आने से किसानों को पटवन में काफी सहायता मिलेगी. वहीं, बारिश के बाद नदियों में पानी आने से गिरते भू-जलस्तर पर भी रोक लगेगा. राज्य में मानसून का साथ छूटने के बाद कई नदियों का जलस्तर बढ़ा है. बता दें कि राज्य के नदियों का जलस्त्रोत पड़ोसी राज्य झारखंड से जुड़ा हुआ है. कोडरमा के जंगलों में तेज बारिश हुई है. इस कारण नदियों के जलस्तर में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. लगातार हुई बारिश से सोन नदी का जलस्तर भी बढ़ा है. पहाड़ के तराई क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से सोन नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी हुई है.

Also Read: बिहार शिक्षा विभाग विद्यालय से वंचित बच्चों को करेगी चिन्हित, जानिए मतदाता सूची की सहायता से कैसे होगा सर्वे..
बांधों के मरम्मत को लेकर कटाव निरोधक समिति का हुआ गठन

वहीं, इधर बाढ़ और बारिश के कारण क्षतिग्रस्त हुई बांधों के मरम्मत को लेकर कटाव निरोधक समिति का गठन किया गया है. जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता ने इस संबंध में आदेश जारी किया है. तीन सदस्यीय समिति की गठन किया गया है . इसमें विभाग के मुख्य अभियंता ई. विनय कुमार सिंह, बाढ़ संघर्षात्मक बल, अध्यक्ष नागेंद्र राय और अधीक्षण अभियंता विनोद कुमार को शामिल किया गया है. साथ ही कहा गया है कि इस वर्ष बाढ़ और अत्यधिक बारिश के कारण कई बांध क्षतिग्रस्त होने की संभावना है . वर्ष 2024 से पूर्व इसकी मरम्मती की आवश्यकता है. इसे देखते हुए उक्त समिति सभी स्थलों का निरीक्षण करेगी. इसकी रिपोर्ट तैयार कर विभाग को सौंपेंगे. इसी आधार पर मरम्मत का कार्य किया जाएगा।. स्थल निरीक्षण के बाद कार्ययोजना को लेकर प्रशासनिक स्तर से अनुमंडल स्तरीय पदाधिकारी को प्रतिनियुक्त किया जाएगा. ताकि संयुक्त रूप से निरोधात्मक कार्य किया जा सके.

Also Read: बिहार: विभूति एक्सप्रेस व पटना- बरौनी पैसेंजर स्पेशल सहित कई ट्रेनों का परिचालन रद्द, देखें पूरी लिस्ट
नदी में डूबने से युवक की हुई मौत

वहीं, नदियों का जलस्तर बढ़ने के बाद डूबने से मौत की भी कई घटनाएं सामने आ रही है. खगड़िया में घास लेकर नदी पार करने के दौरान एक युवक कोसी नदी में डूब गया था. एसडीआरएफ की टीम ने काफी खोजबीन की लेकिन शव नहीं मिल पायी थी. वहीं, रविवार को एक बार फिर एसडीआरएफ की टीम ने शव की खोजबीन की. काफी मशक्कत के बाद रविवार शाम को लापता युवक का शव कोसी नदी से निकाला गया. शव मिलते परिजनों में कोहराम मच गया. शव की सूचना पर मृतक की पत्नी व बच्चे बदहवास हो गए. वही मौके पर मौजूद पसराह पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया. बता दें कि जयचंद महतो सतिशनगर गांव के पास पशु चारा लेकर कोसी नदी की धार को पार कर रहा था. इसी दौरान वह डूब गया. पसरहा थानाध्यक्ष संजय कुमार विश्वास ने बताया की कोसी नदी में डूबे युवक का शव बरामद कर लिया गया है. शव का पोस्टमार्टम कराने सदर अस्पताल खगड़िया भेज दिया गया है.

नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी से लोग परेशान

कैमूर में भी बाढ़ जैसे हालात हो चुके है. दुर्गावती नदी का जलस्तर इस कदर बढ़ा है कि कैमूर जिले का मोहनिया शहर पानी- पानी हो गया है. लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. यहां लोगों ने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है. कई इलाकों में लोगों को नाव का सहारा लेना पड़ रहा है.

Also Read: बिहार शिक्षक भर्ती: B.Ed पास अभ्यर्थियों के मामले में आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामला

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें