दारोगा की वाइस जांच करायेगी बक्सर पुलिस

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

डुमरांव : महिला सिपाही से मोबाइल पर अश्लील बात करने का आरोपित दारोगा सत्येंद्र प्रसाद को डुमरांव पुलिस ने सोमवार को जेल भेज दिया. इस मामले में गठित जांच कमेटी ने अपनी अनुसंधान में तेजी ला दी है.

अब बक्सर पुलिस दोषी दारोगा की वाइस जांच कराने की मंशा जाहिर की है. इसके लिए पटना के एफएसएल (फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी) में ऑडियो क्लिप भेजकर वॉइस की जांच करायी जायेगी. बक्सर पुलिस इस जांच में देखेगी कि आरोपित की आवाज मिल रही है या नहीं.
थानाध्यक्ष संतोष कुमार ने बताया कि आरोपित को पीड़िता के बयान पर मामले को दर्ज कर जेल भेजा गया है. बतादें कि पिछले 12 दिसंबर को डुमरांव के बीएमपी चार में तैनात दारोगा सत्येंद्र प्रसाद ने एक महिला सिपाही से मोबाइल पर अश्लील बात किया था. मोबाइल पर बातचीत का ऑडियो भी वायरल हुआ था. इस मामले में पीड़िता महिला सिपाही ने पुलिस एसोसिएशन में यह मामला उठाया था.
एसोसिएशन के अधिकारियों ने डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को पत्र लिखकर कार्रवाई करने की बात कही थी. पत्र मिलने के बाद डीजीपी ने एसडीपीओ केके सिंह के नेतृत्व में महिला एसआइ नीतू प्रिया, सविता सिंह और थानाध्यक्ष संतोष कुमार के साथ एक जांच कमेटी गठित की. कमेटी रविवार को पीड़िता के आवेदन पर एफआइआर दर्ज कर दारोगा सत्येंद्र प्रसाद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.
अपने आवेदन में पीड़िता ने कई गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि आरोपित मुझे प्रताड़ित करने के साथ-साथ ड्यूटी पर आने के बाद भी अनुपस्थित दिखाते थे. वरीय अधिकारियों के धौंस देते हुए बात मानने का दबाव बनाते थे. वहीं आरोपित सत्येंद्र प्रसाद ने बताया कि एक साजिश के तहत मुझे फंसाया गया है.
    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें