डुमरांव : महिला सिपाही से मोबाइल पर अश्लील बात करने का आरोपित दारोगा गिरफ्तार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

डीजीपी के निर्देश पर बनी जांच कमेटी ने डुमरांव थाने में की कड़ी पूछताछ

डुमरांव : डुमरांव के बिहार सैन्य पुलिस बीएमपी चार में तैनात दारोगा सह परिवहन पदाधिकारी सत्येंद्र प्रसाद के खिलाफ डुमरांव पुलिस ने रविवार की देर शाम पीड़िता के बयान व साक्ष्य पर एफआइआर दर्ज कर ली. एसपी उपेंद्रनाथ वर्मा ने बताया कि दारोगा को गिरफ्तार कर लिया गया है. कल उसे जेल भेज दिया जायेगा. बता दें कि बीएमपी चार की महिला सिपाही ने दारोगा पर मोबाइल पर शारीरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डालने का आरोप लगाया था. इसका ऑडियो भी वायरल हुआ था.

इस मामले को लेकर बिहार के डीजीपी ने डुमरांव के एसडीपीओ केके सिंह के नेतृत्व में बक्सर टाउन थाने के महिला एसआइ नीतू प्रिया, डुमरांव के महिला एएसआइ सविता सिंह और थानाध्यक्ष संतोष कुमार के साथ एक टीम गठित की थी. रविवार को टीम ने पीड़ित महिला सिपाही व आरोपित दारोगा के साथ करीब तीन घंटे तक गहन पूछताछ की. इसके बाद पीड़िता के लिखित बयान के बाद आरोपित दारोगा को हिरासत में ले लिया गया.

हालांकि डुमरांव पुलिस इस मामले में कुछ भी बताने से इन्कार कर रही है. बता दें कि पिछले 12 दिसंबर को पीड़िता ने अपने अधिकारी सत्येंद्र प्रसाद के खिलाफ पुलिस एसोसिएशन में यह मामला उठाया था. इस मामले को शर्मनाक कृत्य बताते हुए एसोसिएशन ने सूबे के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय को पत्र लिखकर कार्रवाई करने की गुहार लगायी थी. बीएमपी चार के कमांडेंट धीरज कुमार ने अपने प्रभाव से तत्काल सत्येंद्र प्रसाद को निलंबन की नोटिस थमाया था.

छात्रा को जलाने में अहियापुर के पूर्व थानेदार पर होगी कार्रवाई

मुजफ्फरपुर. अहियापुर में छात्रा को जिंदा जलाने के मामले में अहियापुर के तत्कालीन थानेदार सोना प्रसाद सिंह पर कार्रवाई की जायेगी. रविवार को मामले की समीक्षा करने आयी महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणी मिश्र ने सिटी एसपी को यह निर्देश दिया है. उन्हाेंने कहा कि अगर पीड़िता की शिकायत को अहियापुर के पूर्व थानेदार गंभीरता से लेते तो यह घटना नहीं होती. थाने जाकर पांच-पांच बार शिकायत करने के बाद भी पीड़िता को आरोपित के दबंग होने की बात बता कर लौटा दिया गया. यह बड़ी लापरवाही है. महिला आयोग की अध्यक्ष ने कहा कि मामले में तुरंत चार्जशीट दायर करें. उन्होंने बताया की पीड़िता को चार दिन के अंदर आठ लाख का मुआवजा दे दिया जायेगा.

पीड़िता को हर हाल में मिलेगा न्याय : आयोग

मीनापुर. दसवीं की छात्रा से गैंगरेप की घटना की जांच को रविवार को राष्ट्रीय एससी-एसटी आयोग की टीम मीनापुर थाना क्षेत्र स्थित पीड़िता के गांव पहुंचीं. आयोग के सदस्य डॉ योगेंद्र पासवान अन्य अधिकारियों के साथ पीड़िता व उसके माता-पिता से विस्तृत जानकारी ली. इस दौरान वे पुलिस की अबतक की कार्रवाई से नाराज दिखे. उन्होंने बताया कि मामला काफी गंभीर है. किसी भी हालत में पीड़िता को न्याय मिलेगा.

जलायी गयी युवती की हालत नाजुक, परिजनों में मायूसी

अहियापुर में जिंदा जलायी गयी युवती की स्थिति नाजुक बनी हुई है. पटना के बर्न हॉस्पिटल में वह जिंदगी के लिए मौत से लड़ रही है. परिजनों ने बताया 32 घंटे से पीड़िता ने खाना-पीना छोड़ दिया है. उसको सांस लेने में भी तकलीफ हो रही है. डॉक्टरों की अलग-अलग टीम उसकी हालत पर नजर रखे हुए हैं.

मुजफ्फरपुर : गैंगरेप के आरोपित की तबीयत बिगड़ी, एसकेएमसीएच में भर्ती

मुजफ्फरपुर : गैंगरेप में गिरफ्तार किये गये चौकीदारपुत्र संजय कुमार की तबीयत रविवार को अचानक बिगड़ गयी. महिला थाने की पुलिस ने कड़ी सुरक्षा में उसे इलाज के लिए एसकेएमसीएच के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया है. नगर डीएसपी रामनरेश पासवान स्वयं आरोपित की सुरक्षा की मॉनीटरिंग कर रहे हैं. इधर, केस के आइओ सविता कुमारी ने मामले की प्राथमिकी में एससीएसटी धारा जोड़ने के लिए कोर्ट में आवेदन दिया है. आरोपित की संलिप्तता की जांच के लिए पुलिस उसकी डीएनए टेस्ट करायेगी.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें