21.1 C
Ranchi
Wednesday, February 21, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

HomeबिहारगयाBihar Weather: बिहार में ठंड इस दिन से बढ़ेगी.. मौसम विभाग ने बताया शीतलहर कब से शुरू होगी, जानिए...

Bihar Weather: बिहार में ठंड इस दिन से बढ़ेगी.. मौसम विभाग ने बताया शीतलहर कब से शुरू होगी, जानिए तारीख..

Bihar Weather Report: बिहार में ठंड का एहसास लोगों को होने लगा है. लगाातर हुई बारिश ने मौसम का मिजाज बदला है. वहीं अब मौसम विभाग की ओर से अगले 10 दिनों के मौसम का पूर्वानुमान बताया गया है. जानिए कब से शीतलहर चलेगी..

Bihar Weather Report: बिहार में मौसम (Bihar Ka Mausam) का मिजाज कब बदलेगा इसकी जानकारी सामने आयी है. मौसम विभाग ने बताया कि राज्य भर में पछुआ और उत्तर पछुआ हवा के कारण अगले तीन दिनों तक दो से चार डिग्री तक न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज होने की संभावना है. मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक अभी उत्तर-पूर्व भाग में एक दो जगहों पर कोहरा घना रहेगा और सभी स्थानों पर सुबह के समय हल्का कोहरा रहेगा.न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज होने के बाद में लोगों को अधिक ठंड महसूस होगी. पिछले 24 घंटे में राज्य का सर्वाधिक अधिकतम तापमान बाल्मिकीनगर में 26.4 डिग्री और मोतिहारी का न्यूनतम तापमान 12.5 डिग्री दर्ज किया गया है. वहीं, राज्य औसतन अधिकतम तापमान 24.1 डिग्री और न्यूनतम तापमान 15.7 डिग्री दर्ज किया गया है. साथ ही, सुबह में अधिकांश जिलों में हल्की एवं घना कोहरा का असर देखने को मिला है.

अभी रहेगी ठंड, दिन और रात में बढ़ेगी कनकनी

सुबह में कोहरा, दिन में हल्की धूप रहने के दौरान लोगों को कनकनी महसूस हो रही है. मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा है कि पछुआ हवा अभी राज्य भर में चल रही है. ऐसे में दिन में धूप निकलने के बाद भी ठंड महसूस होगी.कनकनी से लोग परेशान होंगे और अभी अगले तीन दिनों तक मौसम में कोई बदलाव नहीं होगा. न्यूनतम तापमान में गिरावट होने से अधिकतम व न्यूनतम तापमान में हल्की समानता होने की गुंजाइश बनेगी और दिन में भी आसमान साफ रहने पर भी लोगों को ठंड महसूस होगी.

भागलपुर और आसपास का मौसम

भागलपुर में 10 से 14 दिसंबर के बीच अधिकतम तापमान सामान्य बना रहेगा, जबकि न्यूनतम तापमान में कमी आयेगी. इस दौरान बारिश की संभावना नहीं है. बीएयू के ग्रामीण कृषि मौसम सेवा के नोडल पदाधिकारी डॉ सुनील कुमार ने बताया कि सुबह में कोहरा रह सकता है व आसमान में आंशिक बादल छाये रह सकते हैं. इस दौरान पश्चिमी हवा चलने की संभावना है. हवा की औसत गति एक से तीन किलोमीटर प्रतिघंटे रह सकती है. किसान भाइयों को सलाह दिया जाता है कि इस दौरान अगर गेहूं की बुआई शीघ्र करें, मक्का की बुआई भी अभी कर सकते हैं. सब्जियों में आवश्यकता अनुसार सिंचाई करें.

Also Read: वाराणसी-रांची-कोलकाता सिक्स लेन एक्सप्रेसवे 7 पैकेज में बनेगा, जानिए बिहार में कहां-कहां से गुजरेगी सड़क..
अभी दिन में नहीं हो रहा ठंड का अहसास, 15 दिसंबर से बढ़ेगी ठिठुरन

सीमांचल का मौसम इन दिनों अलग-अलग रंग दिखा रहा है. पूर्णिया में दिसंबर का पहला सप्ताह बीत गया फिर भी दिन में ठंड का अहसास नहीं हो रहा है. धूप खिलने से मौसम गर्म बना हुआ है. इससे दिन में हर कोई गर्म कपड़े उतार रहा है. जबकि रात ठंडी होने से सुबह और शाम गर्म कपड़ों की जरूरत पड़ती है. मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि 15 दिसंबर तक ऐसी ही स्थिति रहने की संभावना है. 15 दिसंबर के बाद न्यूनतम तापमान में चार से पांच डिग्री लुढ़कने की संभावना है. इसके बाद ठंड बढ़ेगी और शीतलहर की भी संभावना है. अभी न्यूनतम तापमान सामान्य से 5 से डिग्री अधिक ही रह रहा है. जबकि दिसंबर के दिसंबर चढ़ते ही न्यूनतम तापमान 10 से 12 डिग्री के आस पास रहना चाहिए. लेकिन अभी न्यूनतम तापमान 16 से 20 डिग्री के बीच है. शनिवार को भी न्यूनतम तापमान 17.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. जो सामान्य से 7 डिग्री अधिक है.

रात में बादल नहीं होने से नीचे चला जाता है तापमान

मौसम विशेषज्ञ बताते हैं कि दिन के समय आसमान साफ है. जिस कारण सूर्य की किरणें सीधी धरती पर आ रही हैं. इससे दिन में गर्मी बनी हुई है. जबकि रात के समय बादल नहीं होने से तापमान नीचे जा रहा है. इसका मिला-जुला असर दिन और रात के तापमान पर दिख रहा है. ज्ञात हो कि दिसंबर के आधे महीने यानी 15 दिन बीतने को करीब है. जिले में दिन में भी गर्म कपड़ों की नौबत आ जाती थी. शीतलहर भी आ जाती थी. लेकिन इस साल अब तक शीतलहर का अता-पता नहीं है. शीतलहर तो दूर, 1 से 9 दिसंबर के बीच एएक5 दिन भी न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री तक नीचे नहीं पहुंचा है. जिस मौसम में कड़ाके की सर्दी पड़नी चाहिए. कभी ठंड तो कभी दोपहर में गर्मी जैसे माहौल के कारण लोग बेचैन भी होने लगे हैं. इसका असर स्वास्थ्य पर भी नजर आ रहा है.

चक्रवाती तूफान को ले बिगड़ा था मौसम

मौसम विभाग की माने तो दिसंबर में ही चक्रवात तूफान का असर सीधा तो नहीं पड़ा, लेकिन यहां का मौसम जरूर बिगड़ गया. मौसम विभाग के सायक वैज्ञानिक राकेश कुमार की माने तो इन तूफानों को ही तापमान में वृद्धि की वजह मान रहे हैं. इस वजह से हवा की दिशा बदलती रही है. इससे लगातार नमी आई है और इससे रात का तापमान भी बढ़ता गया है. इस बीच हवा की दिशा में थोड़ा बदलाव आने पर एक-दो दिन में तापमान फिर घटने लगा. यही वजह है कि तापमान में लगातार उतार-चढ़ाव दिख रहा है. लेकिन आने वाले पांच से छह दिन के बाद न्यूनतम तापमान में गिरावट आयेगी. 

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें