24.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Bhagalpur News: मीराचक में सड़क निर्माण कराने दलबल के साथ पहुंचे दंडाधिकारी, फायरिंग की चर्चा

बरारी पंचायत के मीराचक से एनएच तक सीधा सम्पर्क कराने को लेकर मोहल्ले में करीब 500 फीट सड़क का निर्माण किया जा रहा है

फायरिंग की सूचना पर जांच को पहुंचे थानाध्यक्ष, गोली चलने की बात से सब ने किया इंकार

प्रतिनिधि, सबौर

मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना के अधीन बरारी पंचायत के मीराचक से एनएच तक सीधा सम्पर्क कराने को लेकर मोहल्ले में करीब 500 फीट सड़क का निर्माण किया जा रहा है. इसके लिए करीब 10 लाख की लागत राशि भी निर्धारित की गयी है. उक्त सड़क निर्माण में मोहल्ले के ही रहने वाले एक किसान उनकी निजी जमीन का इस्तेमाल किये जाने का आरोप लगा निर्माण का विरोध कर रहा है. मामले में प्रशासनिक स्तर से कार्रवाई की गयी और बुधवार को निर्माण स्थल पर दंडाधिकारी और बलों की प्रतिनियुक्ति की गयी. बुधवार को निर्माण कार्य की शुरुआत करायी गयी. सड़क निर्माण का विरोध कर रहे ओम प्रकाश यादव सहित उनके परिजन भी वहां पहुंचे और सड़क निर्माण का विरोध करने लगे. मामला न्यायालय में लंबित होने की बात कह निर्माण रोकने का भी प्रयास किया, पर दंडाधिकारी और बलों ने मिल कर विरोध कर रहे लोगों को वहां से हटाया और निर्माण कार्य शुरू कराया.

देर शाम अंधेरा होने पर लौटे दंडाधिकारी व बल

देर शाम अंधेरा होने के बाद कार्य को बंद किया गया. इसके बाद दंडाधिकारी और बल वहां से लौट गये. जिसके बाद स्थानीय स्तर पर फायरिंग किये जाने की सूचना ने तूल पकड़ लिया. सूचना पाकर जीरोमाइल थानाध्यक्ष दलबल के साथ मौके पर पहुंचे. जहां उन्होंने ग्रामीणों से फायरिंग किये जाने को लेकर बयान लिया. किसी ने भी फायरिंग होने या गोली की आवाज सुने जाने की पुष्टि नहीं की. थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर मुरलीधर साह ने बताया कि उन्हें फोन पर सूचना मिली थी कि 7-8 चक्र फायरिंग की गयी है, पर घटनास्थल पर न तो खोखा मिला और न ही किसी ने गोली चलने की बात का समर्थन किया.

आठ माह से विरोध के कारण बाधित है पथ निर्माण

पथ बन जाने से एनएच से मोहल्ला का सीधा जुड़ाव हो जाएगा और बरसात में हो रही कठिनाई दूर होगी. स्थानीय लोगों के अनुसार निर्माण कार्य लगभग आठ माह से बाधित है. स्थानीय स्तर पर प्रयास किया गया लेकिन दबंग लोगों की मध्यस्थता के कारण निर्माण कार्य में कुछ न कुछ बाधा आती है.

बरारी के ओम प्रकाश बता रहे निजी जमीन

बरारी निवासी ओम प्रकाश यादव ने बताया कि 1995 में जमीन की रजिस्ट्री कर 21 डिसमल अपने नाम से लिये हैं. मामला डीसीएलआर के न्यायालय में लंबित है. इसलिए तत्काल पथ निर्माण पर रोक लगाने की मांग की जा रही है. जानकारी के अनुसार मौके पर मौजूद पदाधिकारीगण को वह कोई भी साक्ष्य दिखाने में असमर्थ दिखे. उनका पूरा परिजन पथ निर्माण कार्य रोकने के लिए हो-हल्ला करते रहे.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें