28.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

भागलपुर टू ढाकामोड़ : फोरलेन निर्माण के लिए बहाल होगी सहयोगी एजेंसी, पेव्ड शोल्डर का करायेगा काम

भागलपुर-हंसडीहा के बीच पहले चरण में ढाका मोड़ तक बनने वाले फोरलेन निर्माण कार्य के लिए सहयोगी एजेंसी की बहाली होगी.

-एसोसिएट, ज्वाइंट वेंचर और कंसोर्टियम की बहाल के लिए आमंत्रित की गयी निविदा खुलेगी 11 जून को-प्रि-टेंडर से टाइअप रहेगा यह, बीडीडी इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड को मिला है निविदा करने का प्राधिकार

– पेव्ड शोल्डर के साथ फोरलेन में ड्रेनेज सिस्टम को किया जायेगा बेहतरवरीय संवाददाता, भागलपुर

भागलपुर-हंसडीहा के बीच पहले चरण में ढाका मोड़ तक बनने वाले फोरलेन निर्माण कार्य के लिए सहयोगी एजेंसी की बहाली होगी. मिनिस्ट्री की ओर से इसकी प्रक्रिया अपनायी जा रही है. चयनित एजेंसी फोरलेन निर्माण के लिए पेव्ड शोल्डर का काम करायेगी. इच्छुक एसोसिएट या ज्वाइंट वेंचर या फिर कंसोर्टियम निविदा में भाग ले सकेंगे. निविदा में भाग लेने की अंतिम तिथि 10 जून निर्धारित की गयी है. यह टेंडर प्रि-टेंडर से टाइअप रहेगा. निविदा आमंत्रित करने का प्राधिकार बिजनेस डेवलपमेंट डिविजन (बीडीडी),इंजीनियरिंग प्राइवेट लिमिटेड, नयी दिल्ली को दी गयी है. इस कार्य को सिविल वर्क्स रोड्स प्रोडक्ट कैटोगिरी में रखा गया है. निविदा खुलने की तिथि 11 जून निर्धारित की गयी है. यानी, एजेंसी उक्त तिथि में चयनित हो जायेगी. इधर, पूर्व में जारी निविदा को भी खोल कर एजेंसी चयनित करने की कवायद की जायेगी. दरअसल, आचार संहिता की वजह से पूर्व में अपनायी जा रही टेंडर की प्रक्रिया को होल्ड पर रख दिया गया था

इपीसी मोड पर बनेगा ढाका मोड़ तक फोरलने, खर्च होंगे 765 करोड़

भागलपुर से ढाका मोड़ तक फोरलेन का निर्माण इपीसी(इंजीनियरिंग प्रॉक्यूरमेंट कंस्ट्रक्शन) मोड पर बनेगा. यानी, चयनित एजेंसी को ही इंजीनिरिंग, डिजवाइनिंग और कंस्ट्रक्शन करनी होगी. पहले फेज के इस फोरलेन के निर्माण पर 765 करोड़ रुपये खर्च होंगे.

बॉक्स मैटर

फोरलेन में बेहतर रहेगा ड्रेनेज सिस्टम, नहीं होगा जलजमाव

पेव्ड शोल्डर के साथ इस फोरलेन में ड्रेनेज सिस्टम को बेहतर किया जायेगा. इसके मद्देनजर ही सहयोगी एजेंसी को बहाल की जा रही है. जगदीशपुर, बलुआचक, रजौन, फुनसिया टाउन में ड्रेनेज सिस्टम बनेगा. जिससे बारिश के दिनों में जलजमाव की स्थिति नहीं बनेगी. इन जगहों पर संकरी सड़क होने पर जाम से निजात मिलेगी. फोरलेन सड़क 14 से 69 मीटर चौड़ी होगी.

दो मेजर, 12 माइनर और 58 कलवर्ट भी बनेंगे

लगभग 36 किलोमीटर फोरलेन हाइवे के लिए 2 मेजर ब्रिज के साथ 12 माइनर ब्रिज का भी निर्माण कराया जायेगा. 58 पुल-पुलिया को नये सिरे से निर्माण किया जायेगा. माइन ब्रिज जो बनने हैं, उनकी चौड़ाई 6 से 9.5 मीटर की होगी. मेजर ब्रिज की चौड़ाई 7 से 9.5 मीटर होगी.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें